एक लाख पैकेट प्रसाद बंटेगा , शिलान्यास का एक अहम दस्तावेज़

अयोध्या प्रशासन की यह विज्ञप्ति कम ऐतिहासिक नहीं है. एक साँस में पढ़ जाइये. पसीने छूट जाएँगे. किसी कंपनी के सी ई ओ तो अस्पताल में भर्ती हो जाएँ. निर्देशों की भरमार है.

एक लाख पैकेट प्रसाद बंटेगा , शिलान्यास का एक अहम दस्तावेज़

सरकारी प्रबंधन एक जटिल काम है. इस काम को आम जनता समग्रता में नहीं देख पाती. प्रशासनिक निर्देश की अलग अलग ख़बरों से पता नहीं चलता कि किस तरह से तैयारी की जा रही है. स्थानीय अख़बारों में तो काफ़ी कुछ छपता है मगर फिर भी इन्हें समग्रता से नहीं देखा जाता है. इनका रिसर्च भी नहीं होता है और निर्देश के बाद हर काम कैसे किया जाता है उसे कभी बारीकी से दर्ज नहीं किया जाता. यह काम रिसर्च करने वालों का होना चाहिए. यही बातें कोरपोरेट की दुनिया के लोग तो पावर प्वाइंट चार्ट बना कर उसे आसान बना देते हैं. उन्हें ज़्यादा वाहवाही मिल जाती है. काम उनका भी जटिल होता होगा लेकिन निश्चित रूप से उनके फ़ैसले का जटिल संसार नहीं होता जिस तरह का सरकार के भीतर होता है.

अयोध्या प्रशासन की यह विज्ञप्ति कम ऐतिहासिक नहीं है. एक साँस में पढ़ जाइये. पसीने छूट जाएँगे. किसी कंपनी के सी ई ओ तो अस्पताल में भर्ती हो जाएँ. निर्देशों की भरमार है. यही नहीं शाम सात बजे समीक्षा होती है. उसमें भी आठ नौ बज ही जाते होंगे. फिर अगले दिन सुबह से काम. टीवी में यह मुमकिन नहीं है लेकिन किसी प्रिंट वाले को स्टोरी करनी चाहिए कि ज़िलाधिकारी कब से घर में खाना नहीं खाए हैं. उनका दिन कब शुरू होता है. लखनऊ से निर्देश आते होंगे. प्रधानमंत्री का दौरा है तो उसके अलग हज़ार निर्देश आते होंगे. तो यह जानना दिलचस्प होगा कि डीएम एक दिन में कितने निर्देश हैंडल करते हैं यानि प्राप्त करते हैं और ख़ुद डीएम एक दिन में कितने निर्देश जारी करते हैं. क्या समीक्षा बैठकों में चिल्लामिल्ली भी होती है. कोई झुँझलाता भी है वग़ैरह वग़ैरह. 

आम तौर पर ऐसी विज्ञप्तियाँ ख़बर बनने के बाद फेंक दी जाती होंगी. शायद सूचना विभाग रिकार्ड रखता होगा लेकिन इस पर एक बार नज़र डालिए. ग़ज़ब है. 


"अयोध्या 28 जुलाई 2020(सूवि)ः-माननीय प्रधानमंत्री जी भारत सरकार 5 अगस्त को श्री राम जन्मभूमि स्थल पर शिलान्यास एवं भूमि पूजन तथा अन्य क्रमकर्मों को लेकर जिलाधिकारी श्री अनुज कुमार झा ने कलेक्ट्रेट सभाकक्ष में बैठक कर सभी अधिकारियों को उत्तर दायित्व सौंप दिए हैं और उन्हें स्पष्ट रूप से बता दिया कि उनके द्वारा क्या-क्या कार्य किए जाने हैं. उन्होंने सभी उत्तरदायीं अधिकारियों व कार्यदायी संस्थाओं को समस्त कार्य 1 अगस्त तक अवश्य पूर्णरूप से पूरा करने के निर्देश दिए हैं. उन्होंने कहा की प्रतिदिन सायं 7ः00 बजे कलेक्ट्रेट सभाकक्ष में सभी अधिकारियों की बैठक होगी जिसमें प्रतिदिन की प्रगति से संबंधित अधिकारी बैठक में उपस्थित उच्चाधिकारियों को अवगत कराएंगे. उन्होंने कहा की सभी कार्य सर्वोच्च प्राथमिकता के हैं, इसमें किसी भी प्रकार की शिथिलता उचित नही होंगी. सभी समय से कार्य पूर्ण करने है. कामता प्रसाद सुंदर लाल साकेत महाविद्यालय में बन रहे हेलीपैड स्थल पर साफ-सफाई की व्यवस्था नगर आयुक्त नगर निगम, साकेत महाविद्यालय मैदान का समतलीकरण की व्यवस्था अधिशाषी अभियंता लोक निर्माण विभाग निर्माण खंड 2, महाविद्यालय के भवन की साफ-सफाई व पुताई की व्यवस्था, महाविद्यालय प्रशासन के द्वारा कराया जाना है जिसके पर्यवेक्षण अधिकारी सिटी मजिस्ट्रेट बनाए गए हैं. हेलीपैड के निर्माण व ब्रिक सोलिंग का कार्य अधिशाषी अभियंता लोक निर्माण विभाग निर्माण खंड 2, हैलीपैड से मेन रोड तक सड़क निर्माण एवं भव्य स्वागत गेट का निर्माण कार्य भी लोक निर्माण विभाग निर्माण खंड 2 को दिया गया है. उन्होंने आगे बताया कि उपरोक्त के अतिरिक्त कामता प्रसाद सुंदर लाल साकेत स्नातकोत्तर महाविद्यालय से अयोध्या हनुमानगढ़ी तक के मार्ग में रेलिंग व बैरिकेडिंग के निर्माण अधिशासी अभियंता लोक निर्माण विभाग के प्रांतीय खंड, मार्ग के किनारे छोटी-छोटी गुमटियों को हटाने का कार्य नगर आयुक्त नगर निगम तथा संपूर्ण मार्ग पर पीले रंग की पुताई का कार्य भी नगर निगम को सौंपा गया है. संपूर्ण मार्ग पर फैले विद्युत तारों को सही करने का कार्य अधिशाषी अभियंता विद्युत वितरण खंड प्रथम को जबकि संपूर्ण मार्ग को फूलों से सजाने का कार्य अधीक्षक राजकीय उद्यान को दिया गया है. संपूर्ण मार्ग में यथोचित स्थानों पर अयोध्या धाम से संबंधित कला व पेंटिंग का कार्य नगर आयुक्त नगर निगम को सौंपा गया है. इसी प्रकार हनुमानगढ़ी मंदिर की सीढ़ियों एवं मंदिर की सफाई का कार्य नगर आयुक्त नगर निगम को, मंदिर में लटके हुए विद्युत तारों को सही कराने का कार्य अधिशाषी अभियंता विद्युत वितरण खंड प्रथम व रेजिडेंट मजिस्ट्रेट अयोध्या, हनुमानगढ़ी मंदिर में माननीय प्रधानमंत्री जी के दर्शन की रूपरेखा तैयार करने का का  रेजिडेंट मजिस्ट्रेट अयोध्या को सौंपा गया है. इसी प्रकार हनुमान गढ़ी से गेट नंबर 3 तक श्री राम जन्मभूमि प्रवेश द्वार श्री राम जन्मभूमि परिसर के अंदर के कार्यक्रम हेतु परिसर के अंदर सड़क को ठीक करने का कार्य अधिशाषी अभियंता लोक निर्माण विभाग प्रांतीय खण्ड, श्री राम जन्म भूमि में टेंट ,स्टेज ,माइक, व पूजन से संबंधित व्यवस्था का कार्य अपर जिलाधिकारी कानून व्यवस्था, श्री राम जन्म भूमि के परिसर की साफ-सफाई का जिम्मा जिला पंचायत राज अधिकारी देखेंगे. गर्भ गृह दर्शन का एसओपी. तैयार करना अपर जिलाधिकारी कानून व्यवस्था देखेगे. मा0 प्रधानमंत्री जी के वृक्षारोपण कार्यक्रम का रूपरेखा प्रभागीय वन अधिकारी, श्री राम जन्म भूमि मंदिर की संपूर्ण सुरक्षा व्यवस्था, अपर पुलिस अधीक्षक सुरक्षा, स्पीच से संबंधित सामग्री की व्यवस्था खंड विकास अधिकारी पूरा बाजार, श्री राम जन्म भूमि पर उत्तम रंगोली की व्यवस्था हेतु रजिस्ट्रार डॉ राम मनोहर लोहिया अवध विश्वविद्यालय, जिला विद्यालय निरीक्षक व जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी प्राथमिकता पर देखेगे. श्री राम जन्म भूमि के अंदर दिनांक 4 अगस्त को दीपदान कार्यक्रम की जिम्मेवारी अपर जिलाधिकारी नगर वैभव शर्मा व श्री आशीष मिश्रा पीआरओ कुलपति डॉ राम मनोहर लोहिया अवध विश्वविद्यालय संपादित कराएंगे. जबकि अयोध्या शहर में तथा सम्पर्क मार्गो पर एक लाख दिए जलाने की व्यवस्था जिला विकास अधिकारी हवलदार सिंह, उपायुक्त श्रम रोजगार व श्री आशीष मिश्रा पीआरओ  कुलपति डॉ राम मनोहर लोहिया अवध विश्वविद्यालय को जिम्मेदारी दी गई है. विभिन मंदिरो की लाइटिंग की व्यवस्था अधिशासी अभियंता विघुत वितरण खंड प्रथम  कराएंगे. 20 स्थलो पर एलईडी स्क्रीन के माध्यम से लाइव प्रसारण की व्यवस्था उप निदेशक सूचना श्री मुरलीधर सिंह तथा 20 स्थानो पर सांस्कृतिक कार्यक्रम की व्यवस्था साकेत महाविद्यालय से हनुमानगढ़ी तक श्री वाई पी सिंह निदेशक अयोध्या शोध संस्थान को दायित्व दिया गया है. राम की पैड़ी पर मीडिया हेतु उचित व्रूवस्था की जिम्मेदारी उप निदेशक सूचना को दी गई है. सभी मंदिरो के संचालकों द्वारा कीर्तन व अखंड रामायण का पाठ के आयोजन की व्यवस्था हेतु रेजीडेंट मजिस्ट्रेट अयोध्या, क्षेत्राधिकारी अयोध्या, मंदिरों से समन्वय बनाकर कराएंगे. 1 लाख पैकेट प्रसाद के वितरण की व्यवस्था अपर जिलाधिकारी नगर श्री राम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र न्याय ट्रस्ट से समन्वय बनाकर वितरण सुचारू रूप से कराने की व्यवस्था बनाएंगे. प्रधानमंत्री जी द्वारा किए जाने वाले लोकार्पण एवं शिलान्यास की व्यवस्था की जिम्मेदारी परियोजना निदेशक जिला ग्राम विकास अभिकरण तथा प्रधानमंत्री जी के सभी कार्यक्रम स्थलों से दूरदर्शन व एएनआईं से लाइव प्रसारण की व्यवस्था की जिम्मेदारी उप निदेशक सूचना, रेजीडेंट मजिस्ट्रेट अयोध्या, व क्षेत्राधिकारी अयोध्या को सौंपी गई है. दूरदर्शन व एएनआई द्वारा निःशुल्क चैनलो व अन्य को लिंक भी उपलब्ध कराया जायेगा जिससे जनमानस अपने टेलीविजन पर लाइव प्रसारण के साथ-साथ अपने मोबाइल पर भी देख सकेंगे. मीडिया से समन्वय की जिमेदारी भी उप सूचना निदेशक एवं सूचना के कार्मिक देखेंगे, मीडिया सेन्टर के स्थापना पर कार्यवाही की जा रही है जहाॅ से मीडिया कर्मी सूचनाओ, कवरेज व फोटो सुविधा पूर्वक भेज सकेंगे. इसी प्रकार प्रदर्शनी आयोजन हेतु अयोध्या शोध संस्थान के निदेशक वाई पी सिंह को ,अयोध्या के अन्य मार्गों पर पेंटिंग आदि का कार्य ललित कला विभाग, डॉक्टर राम मनोहर लोहिया अवध विश्वविद्यालय तथा प्रोजेक्ट मैनेजर जल निगम नागर कार्य इकाई को सौंपी गई है. स्वागत द्वार का निर्माण अधिशाषी अभियंता लोक निर्माण विभाग प्रांतीय खंड को, अयोध्या नगर क्षेत्र में व्यापक साफ-सफाई अभियान की व्यवस्था नगर आयुक्त, नगर निगम अयोध्या व जिला पंचायत राज अधिकारी को दी गई है जो प्रतिदिन दो-दो सौ अतिरिक्त सफाई कर्मी लगाकर सफाई करायेंगे. प्रधानमंत्री  जी के साथ आए हुए अधिकारीगण तथा सुरक्षा कर्मी के अवस्थान हेतु तहसीलदार सदर को जिम्मेदारी सौंपी गई है. उक्त जिम्मेदारी सभी अधिकारियों को सौंपते हुए जिलाधिकारी ने कहा कि आप सभी अनुभवी अधिकारी हैं. विगत में कई कार्यक्रमों को आप सभी ने समन्वय बनाकर संपन्न कराया है. इस कार्यक्रम को भी हम सभी को मिलकर हर तरह से अच्छी से अच्छी व्यवस्था के साथ संपन्न कराने के लिए दृढ़ संकल्प होकर प्रतिदिन सभी व्यवस्थाएं सुनिश्चित करानी है.
मण्डलीय सूचना कार्यालय, अयोध्या पी0-01"

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com



डिस्क्लेमर (अस्वीकरण) :इस आलेख में व्यक्त किए गए विचार लेखक के निजी विचार हैं. इस आलेख में दी गई किसी भी सूचना की सटीकता, संपूर्णता, व्यावहारिकता अथवा सच्चाई के प्रति NDTV उत्तरदायी नहीं है. इस आलेख में सभी सूचनाएं ज्यों की त्यों प्रस्तुत की गई हैं. इस आलेख में दी गई कोई भी सूचना अथवा तथ्य अथवा व्यक्त किए गए विचार NDTV के नहीं हैं, तथा NDTV उनके लिए किसी भी प्रकार से उत्तरदायी नहीं है.