यह ख़बर 28 नवंबर, 2014 को प्रकाशित हुई थी

अब फेसबुक में नहीं रमता किशोरों का मन

अब फेसबुक में नहीं रमता किशोरों का मन

नई दिल्ली:

किशोरों का ज्यादातर समय अब फेसबुक की जगह त्वरित संदेश वाले एप्लीकेशनों पर बीतता है। यह बात 32 देशों के 170,000 इंटरनेट उपभोक्ताओं पर किए गए एक शोध में सामने आई है।

अमेरिका और ब्रिटेन के 16 से 19 साल के 66 फीसदी किशोरों ने माना कि वह फेसबुक का प्रयोग अब कम करते हैं।

बाजार अनुसंधान कंपनी ग्लोबल वेब इंडेक्स (जीड्ब्ल्यूआई) द्वारा जारी रिपोर्ट '2014 की तीसरी तिमाही के लिए सोशल सारांश' में बताया गया कि हालांकि किशोरों ने अभी तक पूरी तरह से सोशल नेटवर्किंग साइट को अलविदा नहीं कहा है, लेकिन एक दूसरे से बातचीत कम कर दी है, और यह समूह अब इसके प्रति अधिक निष्क्रिय हो गया है।

शोध में बताया गया, "भले ही फेसबुक के पास उपभोक्ताओं की संख्या अधिक हो, लेकिन पिछले दो सालों में तस्वीर साझा करने और संदेश भेजने में 20 फीसदी की कमी आई है।"

स्ट्रीट इन्साइडर डॉट कॉम की रपट के मुताबिक, तकरीबन 30 फीसदी किशोरों का कहना है कि वे अब फेसबुक का प्रयोग बहुत नहीं करते, क्योंकि उनके दोस्त इंस्टाग्राम और अन्य संदेश एप्लीकेशनों का प्रयोग कर रहे हैं।

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


किशोरों के बीच में स्नैपचैट सबसे ज्यादा लोकप्रिय एप्लीकेशन के तौर पर उभरी है।