शख्स ने 51 साल बाद लौटाई लाइब्रेरी की किताब, माफीनामे में लिखा, ‘सॉरी वापस करने में थोड़ी देर कर दी...’

एक तस्वीर शेयर करते हुए कहा कि हाल ही में 51 साल बाद एक किताब को ठीक उसी स्थिति में लौटाया गया, जैसे वो यहां से ले जाई गई थी. जिसके अंदर एक दिल जीत लेने वाला नोट भी मिला.

शख्स ने 51 साल बाद लौटाई लाइब्रेरी की किताब, माफीनामे में लिखा, ‘सॉरी वापस करने में थोड़ी देर कर दी...’

शख्स ने 51 साल बाद लौटाई लाइब्रेरी की किताब

कोई भी जिसने किसी पुस्तकालय (library) से पुस्तक ली है, अतिरिक्त शुल्क लगाने से बचने के लिए उसे निर्धारित तारीख में वापस करने के दबाव से भली-भांति परिचित है. लेकिन कोई है जिसने दशकों बाद पुस्तकालय को एक किताब लौटाई है. सुनकर आप जरूर हैरान होंगे? जी हां, ऐसा ही कुछ वैंकूवर (Vancouver) में हुआ. वहां के सार्वजनिक पुस्तकालय (Public Library) ने अपने इंस्टाग्राम अकाउंट पर एक तस्वीर शेयर करते हुए कहा कि हाल ही में 51 साल बाद एक किताब को ठीक उसी स्थिति में लौटाया गया, जैसे वो यहां से ले जाई गई थी. जिसके अंदर एक दिल जीत लेने वाला नोट भी मिला.

नोट में कहा गया है, "आपके पुस्तकालय से, बहुत खेद है कि थोड़ी देर हो गई. '51 साल' लेकिन अच्छी स्थिति में. धन्यवाद."

साउथ हिल के वैंकूवर पब्लिक लाइब्रेरी (Vancouver Public Library of South Hill) द्वारा शेयर की गई तस्वीर के मुताबिक, 'द टेलिस्कोप' (The Telescope) नाम की किताब हैरी एडवर्ड नील (Harry Edward Neil) ने लिखी है. पुस्तक के अंदर एक कार्ड पर लिखी अंतिम निर्धारित तिथि 20 अप्रैल, 1971 है.

पुस्तकालय द्वारा 7 जून को पुस्तक की तस्वीर को कैप्शन के साथ शेयर किया गया था: "इस पुस्तक में इतना प्यारा नोट हमारी साउथ हिल शाखा *थोड़ा* देर से (51 वर्ष!)" लौटी. साथ ही कहा कि कोई लेट फीस नहीं ली जाएगी.

तस्वीर में, रसीद के ऊपर की मोहर बताती है कि उस समय 5 प्रतिशत का जुर्माना लागू था. इंस्टाग्राम पर पोस्ट को 551 लाइक्स मिले हैं. यूजर्स इस घटना से हैरान हैं और उन्होंने मजेदार कमेंट्स किए हैं.

एक यूजर ने पूछा, "साउथ हिल 51 साल से अधिक समय से है?" वहीं, दूसरे ने कहा, "आशा है कि उनके पास इसे पढ़ने का समय होगा."

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

"ऐसी आशंका नहीं थी": अग्निपथ योजना पर हिंसक विरोध पर नौसेना प्रमुख