विदेश घूमने के लिए कॉफी शॉप चलाते हैं ये दंपति, अब तक 25 देशों की यात्रा कर चुके हैं

आज हम आपको एक ऐसी दंपति से मिलाने जा रहे हैं, जो अपने सपने को पूरा करने के लिए लिए जी तोड़ मेहनत कर रहे हैं. ये कॉफी शॉप चलाते हैं. इससे जो आमदनी होती है, वो विदेश घूमने में ख़र्च करते हैं. अभी तक ये दोनों 25 देश घूम चुके हैं.

विदेश घूमने के लिए कॉफी शॉप चलाते हैं ये दंपति, अब तक 25 देशों की यात्रा कर चुके हैं

केरल के बुजुर्ग दंपति अपनी 26वीं विदेश यात्रा पर जाएंगे जाएंगे रूस

ज़िंदगी में आगे बढ़ना चाहते हैं तो अपने सभी सपनों को पूरा करिए. इसके लिए हमें ख़ुद मेहनत करनी पड़ती है. देश में ट्रैवल करने वाले कई लोग मौजूद हैं, कई लोग ऐसे भी हैं, जो आर्थिक स्थिति के कारण कहीं नहीं जा पाते हैं. उनके सपने हमेशा अधूरे ही रह जाते हैं. आज हम आपको एक ऐसी दंपति से मिलाने जा रहे हैं, जो अपने सपने को पूरा करने के लिए लिए जी तोड़ मेहनत कर रहे हैं. ये कॉफी शॉप चलाते हैं. इससे जो आमदनी होती है, वो विदेश घूमने में ख़र्च करते हैं. अभी तक ये दोनों 25 देश घूम चुके हैं, अब 26वां देश भी घूमना चाहते हैं. आइए इनकी कहानी को अच्छे से जानते हैं.

केरल के रहने वाले 71 वर्षीय केआर विजयन और 69 साल की उनकी पत्नी कोच्चि में श्री बालाजी कॉफी हाउस नाम से एक शॉप चलाते हैं. ये शॉप 27 साल पहले शुरु किया था. कॉफी शॉप पर जब बिक्री ज़्यादा होने लगी तो इन्होंने घूमने का सपना पूरा किया. अब अपने कमाए पैसों से ये दोनों विदेश घूमते हैं. अब तक 25 देश घूम चुके हैं. इसके बाद वो रूस जाना चाहते हैं.

ये वीडियो देखें- मिड डे मिल का बदला रूप है प्रधानमंत्री पोषण योजना; देखिए थाली में क्या है नया?

समाचार एजेंसी एएनआई को दिए जानकारी में दंपति ने बताया कि अब तक वह 25 देशों की सैर कर चुके हैं. अपनी 26वीं यात्रा पर वह 21 अक्टूबर से रूस जा रहे हैं. दंपति रूस की अपनी यात्रा पर रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन से मिलने की इच्छा रखते हैं. वहीं इस बार दंपति के साथ उनके पोता और पोती भी यात्रा कर रहे हैं. दंपति का कहना है कि उनकी आखिरी विदेश यात्रा 2019 में हुई थी, जिसके बाद कोरोना वायरस के कारण रोकना पड़ा था.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


इनदोनों ने साल 2007 से विदेश यात्रा की शुरुआत की थी. अपनी पहली यात्रा के लिए इन्होंने इज़रायल को चुना. अब तक वे संयुक्त राज्य अमेरिका, ब्राजील, ऑस्ट्रेलिया, न्यूजीलैंड, इज़राइल, जर्मनी, आदि देशों की यात्रा कर चुके हैं. इनकी कहानी हमें प्रेरणा देती है.