शशि थरूर ने टीकाकरण नीति पर उठाए सवाल, शेयर किया वीडियो, बोले- ‘सरकार कैसे पूरा करेगी वैक्सीनेशन का वादा’

शशि थरूर (Congress leader Shashi Tharoor) ने साल के अंत तक पूरे देश में टीकाकरण की महत्वाकांक्षी योजना को लेकर केंद्र पर साधा निशाना. कांग्रेस नेता शशि थरूर ने आज सुबह वैक्सीन नीति पर सरकार के लिए एक संदेश ट्वीट किया.

शशि थरूर ने टीकाकरण नीति पर उठाए सवाल, शेयर किया वीडियो, बोले- ‘सरकार कैसे पूरा करेगी वैक्सीनेशन का वादा’

शशि थरूर ने टीकाकरण नीति पर उठाए सवाल, शेयर किया वीडियो

शशि थरूर (Congress leader Shashi Tharoor) ने साल के अंत तक पूरे देश में टीकाकरण की महत्वाकांक्षी योजना को लेकर केंद्र पर साधा निशाना. कांग्रेस नेता शशि थरूर ने आज सुबह वैक्सीन नीति पर सरकार के लिए एक संदेश ट्वीट किया. लगभग दो मिनट लंबे वीडियो में उन्होंने कहा, "कोविड से भारत को बचाएं. सभी के लिए टीके मुफ्त उपलब्ध कराएं."

थरूर अप्रैल में कोरोना वायरस से संक्रमित पाए गए थे और फिलहाल स्वस्थ हो रहे हैं.

केरल के तिरुवनंतपुरम से कांग्रेस सांसद ने इस साल के अंत तक पूरे देश में टीकाकरण की महत्वाकांक्षी योजना को लेकर केंद्र पर निशाना साधा. "जैसा कि आप देख सकते हैं, मैं बिस्तर पर हूं, एक लंबे समय से कोविड के ऑफ्टर इफेक्ट्स से उबर नहीं पाया हूं. मैं सभी से कहना चाहता हूं कि मुझे आश्चर्य है कि सरकार टीकों की उपलब्धता और टीकों की कमी को कैसे पूरा करेगी."

पिछले हफ्ते, केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावड़ेकर (Union Minister Prakash Javadekar) ने यह स्पष्ट किया था कि भारत का टीकाकरण अभियान पटरी पर है, सरकार की योजना दिसंबर तक सभी लोगों का टीकाकरण करने की है.

देखें Video:

शशि थरूर के मुताबिक, "मैं दिसंबर में वादा की गई समय सीमा के भीतर सभी भारतीयों के सार्वभौमिक टीकाकरण की अनुमति देने के लिए सरकार की नीति में बड़े पैमाने पर बदलाव के लिए भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस के अभियान का समर्थन करता हूं."

वैक्सीन मूल्य निर्धारण के लिए सरकार की आलोचना करते हुए, थरूर ने आगे कहा, " केंद्र सरकार के पास सस्ती कीमतों पर टीके खरीदने और उन्हें मुफ्त में जनता को देने की व्यवस्था है, ऐसे में सभी के लिए अलग-अलग कीमतों पर टीके खरीदने के लिए स्वतंत्रता, कुछ मामलों में जबरन कीमत वसूल करना स्वीकार्य नहीं है. केंद्र सरकार का लक्ष्य सभी के लिए टीकाकरण उपलब्ध कराना होना चाहिए न कि राज्य, निजी अस्पताल और अन्य किसी प्रकार के साथ बाजार में प्रतिस्पर्धा. "

केंद्र की नई "उदारीकृत" नीति के तहत, जो कि 1 मई से लागू हुई है, राज्य अपनी जरूरत के 50 प्रतिशत तक के टीके निर्माताओं से खरीद सकते हैं, हालांकि ये केंद्र के लिए तय की गई कीमत से अधिक कीमत पर मिलेगी.

मंगलवार को, ICMR प्रमुख डॉ बलराम भार्गव ने बताया कि, जुलाई के मध्य या अगस्त की शुरुआत तक हर दिन एक करोड़ कोविड के टीके उपलब्ध होंगे.

भारत में अब तक 2.8 करोड़ से अधिक कोविड मामले दर्ज हुए हैं और 3.31 लाख लोगों की मौत हो चुकी है.

कांग्रेस महामारी से निपटने, विशेष रूप से दूसरी लहर और टीकाकरण की धीमी गति से निपटने के लिए सरकार पर हमला करती रही है.


Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com