पारिवारिक टैक्स विवाद में घिरे ब्रिटेन के वित्त मंत्री ऋषि सुनक को बड़ी राहत, जांच में पाए गए निर्दोष  

ऋषि सुनक ने टैक्स विवाद के आरोपों के बाद खुद ही मंत्रियों की आचार संहिता से जुड़े सलाहकार से यह समीक्षा करने को कहा था कि कहीं उन्होंने किसी आचार संहिता का उल्लंघन तो नहीं किया है.

पारिवारिक टैक्स विवाद में घिरे ब्रिटेन के वित्त मंत्री ऋषि सुनक को बड़ी राहत, जांच में पाए गए निर्दोष  

ऋषि सुनक को ब्रिटेन का सबसे अमीर सांसद माना जाता है

लंदन:

ब्रिटेन के वित्त मंत्री और इन्फोसिस कंपनी के मालिक नारायणमूर्ति के दामाद ऋषि सुनक को टैक्स विवाद में बड़ी राहत मिली है. सरकार की आंतरिक जांच में पाया गया है कि उन्होंने किसी भी नियम-कानून का उल्लंघन नहीं किया है और सभी नीतिगत मानकों का पालन किया है. ऋषि सुनक ने टैक्स विवाद के आरोपों के बाद खुद ही मंत्रियों की आचार संहिता से जुड़े सलाहकार से यह समीक्षा करने को कहा था कि कहीं उन्होंने किसी आचार संहिता का उल्लंघन तो नहीं किया है. दरअसल, उनके परिवार के वित्तीय लेनदेन को लेकर राजनीतिक विवाद उठ खड़ा हुआ था और उनके इस्तीफे की मांग की जा रही थी.

 ब्रिटिश सरकार के एथिक्स मामलों के सलाहकार ने बुधवार को कहा कि उन्होंने सुनक के परिवार के टैक्स मामलों की जांच की है और पाया है कि वित्त मंत्री ऋषि सुनक ने मंत्रियों के लिए तय किसी भी नीतिगत मानकों को नहीं तोड़ा है. वित्त मंत्री ने स्वयं एथिक्स कमेटी के सलाहकार क्रिस्टोफर गीड से कहा था कि वो मंत्रियों के लिए मानकों के आधार पर उनके वित्तीय मामलों की जांच करें. गीड ने लिखा, मुझसे कहा गया था कि मैं मंत्रियों के लिए बने एथिक्सस कोड के आधार पर चांसलर की जांच करूं. मैंने जांच में पाया कि वो सभी दायित्वों औऱ जवाबदेही पर खरे उतरे हैं.

 गीड ने पाया कि ऋषि सुनक के अमेरिका की स्थायी नागरिकता वाला रेजीडेंट ग्रीन कार्डधारी होने से किसी भी तरह से हितों का टकराव नहीं हुआ था, क्योंकि उन्हें इसे पहले ही छोड़ दिया था. सुनक ने ब्रिटिश प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन को पत्र लिखकर उनके 2018 मे मंत्री बनने के दौरान की गई परिसंपत्तियों और हितों की घोषणाओं की समीक्षा करने का अनुरोध किया था.

ऐसी खबरें आईं थीं कि सुनक की अमीर भारतीय पत्नी के ब्रिटेन में नॉन डोमिसाइल टैक्स स्टेटस के कारण उन्हें बड़ा फायदा हुआ है. इसको लेकर ब्रिटेन में राजनीतिक बवंडर खड़ा हो गया था. आरोपों में कहा गया था, जब ब्रिटेन में लोगों पर टैक्स का बोझ बढ़ाया जा रहा था तो उनकी पत्नी विदेश में अपनी कमाई पर टैक्स बचा रही थीं. 

"हाईकमान ने माना, हमारे अंदर चुनाव लड़ने की क्षमता नहीं", एनडीटीवी से बोले कांग्रेस नेता संदीप दीक्षित

'अलग-थलग' और विदेश में मौजूद राहुल गांधी ने प्रशांत किशोर के संदेह को और बढ़ाया : सूत्र

कांग्रेस-प्रशांत किशोर की वार्ता फिर क्यों विफल हो गई : जानें इनसाइड स्टोरी

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


POLITICAL बाबा : 'पीके' के नहीं आने से निराश हैं कई कांग्रेसी



(इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)