ब्रिटेन, ईयू में फेसबुक के खिलाफ जांच शुरू, वर्गीकृत विज्ञान बाजार में प्रतिस्पर्धा बिगाड़ने का है शक

यूरोपीय आयोग की कार्यकारी उपाध्यक्ष और प्रतिस्पर्धा नीति मामलों प्रभारी मारग्रेट वेस्टेगर ने कहा, ‘‘फेसबुक अपने सोशल नेटवर्क और उससे इतर उपयोगकर्ताओं की गतिविधियों के जरिये काफी सारा आंकड़ा प्राप्त करती है. इन आंकड़ों के जरिये कंपनी विशिष्ट ग्राहक समूहों को लक्षित करने में सक्षम होती है." 

ब्रिटेन, ईयू में फेसबुक के खिलाफ जांच शुरू, वर्गीकृत विज्ञान बाजार में प्रतिस्पर्धा बिगाड़ने का है शक

ब्रिटेन के प्रतिस्पर्धा आयोग ने भी फेसबुक के खिलाफ जांच की घोषणा की है.

लंदन:

यूरोपीय संघ और ब्रिटिश नियामकों ने वर्गीकृत विज्ञापन बाजार में प्रतिस्पर्धा नियमों के कथित उल्लंघन को लेकर सोशल मीडिया कंपनी फेसबुक की जांच शुरू की है. जांच में पता लगाया जाएगा कि क्या कंपनी ने प्रतिस्पर्धी सेवाओं के जरिये प्राप्त आंकड़ों को उपयोग प्रतिस्पर्धा बिगाड़ने में तो नहीं किया.

यूरोपीय आयोग ने शुक्रवार को कहा कि वह यह भी जांच करेगा कि जिस तरीके से फेसबुक ने अपने खुद के वर्गीकृत विज्ञापन सेवा बाजार मंच को सोशल नेटवर्क से संबद्ध किया है, इससे क्या उसे ग्राहकों तक पहुंचने में लाभ मिल रहा है और क्या इससे ईयू के प्रतिस्पर्धा नियमों का उल्लंघन हो रहा है.

इस बीच, ब्रिटेन के प्रतिस्पर्धा आयोग ने भी फेसबुक के खिलाफ जांच की घोषणा की है. जांच में इस बात का पता लगाया जाएगा कि क्या फेसबुक का आंकड़ों का संग्रह और उसका उपयोग उसे वर्गीकृत आंकड़े और ‘ऑनलाइन डेटिंग' की सुविधा उपलब्ध कराने वाली प्रतिस्पर्धी कंपनियों के मुकाबले अनुचित लाभ देता है.

यूरोपीय आयोग की कार्यकारी उपाध्यक्ष और प्रतिस्पर्धा नीति मामलों प्रभारी मारग्रेट वेस्टेगर ने कहा, ‘‘फेसबुक अपने सोशल नेटवर्क और उससे इतर उपयोगकर्ताओं की गतिविधियों के जरिये काफी सारा आंकड़ा प्राप्त करती है. इन आंकड़ों के जरिये कंपनी विशिष्ट ग्राहक समूहों को लक्षित करने में सक्षम होती है." उन्होंने कहा, ‘‘हम इस बात को विस्तार से देखेंगे कि क्या ये आंकड़े फेसबुक को विशेष रूप से ऑनलाइन वर्गीकृत विज्ञापन क्षेत्र में अनुचित प्रतिस्पर्धात्मक लाभ देते हैं.'' 


यूरोपीय संघ के नियामकों की इस इस जांच को बड़ी प्रौद्योगिकी कंपनियों के दबदबे पर लगाम लगाने की कोशिश के रूप में देखा जा रहा है. वास्तव में ईयू की यह चिंता रही है कि ये ऑनलाइन प्लेटफॉर्म अपने ग्राहकों से एकत्र किए गए आंकड़ों का उपयोग उनके खिलाफ प्रतिस्पर्धा करने में करते हैं, यह जांच इस बात को भी रेखांकित करता है. फिलहाल फेसबुक से इस बारे में कोई प्रतिक्रिया नहीं मिल पायी है.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com



 



(इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)