तालिबान से जंग में विद्रोही गुट के मुखिया अहमद मसूद के दो करीबियों की मौत, अमरुल्ला सालेह के घर पर भी हमला

जनरल वदूद पंजशीर में तालिबान का मुकाबला कर रहे नेता अहमद मसूद का भतीजा था. कुछ खबरों में यह दावा भी किया जा रहा है कि अमरुल्ला सालेह के घर पर हेलिकॉप्टर हमले के बाद वह किसी सुरक्षित स्थान पर चले गए हैं.

काबुल:

अफगानिस्तान की सत्ता पर तालिबान के कब्जे के बाद से वहां संघर्ष का दौर जारी है. पंजशीर में तालिबान और विद्रोही गुट नेशनल रेजिस्टेंस फ्रंट के बीच खूनी लड़ाई चल रही है. अफगान नेशनल रेजिस्टेंस फ्रंट ने सोमवार को जानकारी दी कि उनके समूह के एक अन्य वरिष्ठ सदस्य जनरल अब्दुल वदूद विद्रोही बलों और तालिबान के बीच गतिरोध के दौरान मारे गए हैं. हमले में अफगान रेजिस्टेंस फ्रंट के प्रवक्ता फहीम दश्ती की मौत हुई है. तालिबान के खिलाफ जंग का ऐलान करने वाले विद्रोही गुट के नेता अहमद मसूद के दो करीबियों की मौत से रेजिस्टेंस फ्रंट को बड़ा झटका लगा है. 

समा न्यूज ने बताया कि जनरल वदूद पंजशीर में तालिबान का मुकाबला कर रहे नेता अहमद मसूद का भतीजा था. कुछ खबरों में यह दावा भी किया जा रहा है कि अमरुल्ला सालेह के घर पर हेलिकॉप्टर हमले के बाद वह किसी सुरक्षित स्थान पर चले गए हैं. अफगान रेजिस्टेंस फ्रंट के प्रवक्ता फहीम दस्ती की मौत की खबरों के बाद ये जानकारियां सामने आई हैं. 

समा न्यूज ने अफगान रेजिस्टेंस फ्रंट के हवाले से कहा, "दुखद, अफगानिस्तान के नेशनल रेजिस्टेंस फ्रंट ने आज दमन और आक्रामकता के खिलाफ विद्रोह में अपने दो साथियों को खो दिया. एनआरएफ के प्रवक्ता फहीम दश्ती और जनरल अब्दुल वदूद जारा शहीद हो गए हैं." दश्ती जमीयत-ए-इस्लामी पार्टी के एक वरिष्ठ सदस्य और फेडरेशन ऑफ अफगान जर्नलिस्ट्स के सदस्य भी थे. 

बता दें कि एक दिन पहले, अफगानिस्तान के उत्तरपूर्वी प्रांत पंजशीर में प्रतिरोध बलों के नेता अहमद मसूद ने कहा कि तालिबान के पंजशीर छोड़ने पर रेजिस्टेंस फोर्स लड़ाई बंद करने और बातचीत शुरू करने के लिए तैयार हैं. स्पुतनिक ने रविवार को यह सूचना दी थी.ं


Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com