भारत-अमेरिका संबंधों को और मजबूत करने का एक ऐतिहासिक मौका: शीर्ष अमेरिकी कमांडर

यूएस इंडो-पैसिफिक कमांड के कमांडर एडमिरल फिलिप्स डेविडसन ने बताया कि अमेरिका और भारतीय नौसेनाएं अब सुरक्षित रूप से जानकारी साझा कर रही हैं

भारत-अमेरिका संबंधों को और मजबूत करने का एक ऐतिहासिक मौका: शीर्ष अमेरिकी कमांडर

प्रतीकात्मक फोटो.

वाशिंगटन:

अमेरिका के एक शीर्ष कमांडर ने मंगलवार को देश के सांसदों से कहा कि अमेरिका-भारत संबंधों की वर्तमान स्थिति द्विपक्षीय रक्षा संबंधों को और गहरा करने और ‘21 वीं सदी की साझेदारी' को और मजबूत करने का एक ऐतिहासिक अवसर प्रदान करती है. यूएस इंडो-पैसिफिक कमांड के कमांडर एडमिरल फिलिप्स डेविडसन ने कांग्रेस की सुनवाई के दौरान यहां सीनेट की ‘आर्म्ड सर्विसेज कमेटी' के सदस्यों को बताया कि अमेरिका और भारतीय नौसेनाएं अब सुरक्षित रूप से जानकारी साझा कर रही हैं और भारत ने अमेरिकी रक्षा उपकरणों की अपनी खरीद काफी हद तक बढ़ायी है.


उन्होंने कहा कि भारत द्वारा समुद्री क्षेत्र में ध्यान केंद्रित करते हुए एक सूचना संलयन केंद्र की स्थापना का अमेरिका ने दृढ़ता से समर्थन किया है, जो हिंद महासागर क्षेत्र और बंगाल की खाड़ी में समुद्री सुरक्षा में सुधार करेगा. उन्होंने कहा कि दोनों देशों ने 2018 में कम्युनिकेशंस कम्पैटिबैलिटी एंड सिक्युरिटी एग्रीमेंट (सीओएमसीएएसए) सहित कई समझौते किये हैं जिसने सूचना साझाकरण और अंतर-क्षमता को काफी बढ़ाया है.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


उन्होंने साथ कहा कि चीन ने दबाव बढ़ाने के लिए और पूरे क्षेत्र में अपने प्रभाव का विस्तार करने के लिए एक आक्रामक सैन्य रुख अपनाया है. उन्होंने कहा कि चीन की विस्तारवादी महत्वाकांक्षाएं पश्चिमी सीमा पर दिख रही हैं जहां उसके सैनिक भारतीय सैन्य बलों के साथ गतिरोध में शामिल हैं.



(इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)