'क्‍या पाकिस्‍तान की प्रशंसा चाहते हैं किसान नेता?' : केंद्रीय मंत्री ने UP महापंचायत पर साधा निशाना

केंद्रीय मंत्री बालियान ने कहा, 'यह राजनीतिक महापंचायत की तरह नजर आई. किसान महापंचायत से कहीं अधिक राजनीतिक जमावड़ा. इस जमावड़े में किसानों से जुड़े मुद्दों पर बमुश्किल ही चर्चा हुई.''

'क्‍या पाकिस्‍तान की प्रशंसा चाहते हैं किसान नेता?' : केंद्रीय मंत्री ने UP महापंचायत पर साधा निशाना

यूपी के मुजफ्फरनगर में रविवार को किसान महापंचायत आयोजित की गई

नई दिल्‍ली :

केंद्रीय मंत्री संजीव बालियान (Sanjeev Balyan) ने किसान महापंचायत (Kisan Mahapanchayat) को एक 'राजनीतिक जमावड़ा' करार देते हुए आरोप लगाया है कि भारतीय किसान यूनियन नेता राकेश टिकैत (Rakesh Tikait), देश के विरोधियों के हाथों की 'कठपुतली' बनते जा रहे हैं. यूपी की मुजफ्फरनगर सीट (Muzzafarnagar constituency)से  सांसद बालियान ने  किसानों से इस बारे में सोचने को कहा कि क्‍या वे केंद्र सरकार के खिलाफ अपने आंदोलन के लिए पाकिस्‍तान सरकार की ओर से प्रशंसा चाहते हैं. मुजफ्फरनगर में आयोजित किसान महापंचायत को लेकर रेडियो पाकिस्‍तान (Radio Pakistan) के ट्वीट  का जवाब देते हुए संजीव बालियान ने कहा, 'जब चुनाव आते हैं तो हर कोई रैली में शामिल होता है और यूपी में बहुत सारी रैलियां होती हैं लेकिन किसान नेताओं को इस बारे में सोचने की जरूरत है कि क्‍या वे पाकिस्‍तान सरकार की प्रशंसा चाहते हैं?'

उन्‍होंने कहा, 'जो भारत के दुश्‍मन है या हमारा विरोध करते हैं, क्‍या ये नेता, पाकिस्‍तान जैसे हमारे विरोधियों द्वारा पसंद किया जाना चाहते है. इन्‍हें खुद ही इस बारे में फैसला करने की जरूरत है.'उन्‍होंने किसानों को अपने आंदोलन की खातिर समर्थन जुटाने के लिए अन्‍य राजनीतियों पार्टियों  के 'हाथों में नहीं खेलने'  को लेकर आगाह भी किया .  केंद्रीय मंत्री बालियान ने कहा, 'यह राजनीतिक महापंचायत की तरह नजर आई.  किसान महापंचायत से कहीं अधिक राजनीतिक जमावड़ा. इस जमावड़े में किसानों से जुड़े मुद्दों पर बमुश्किल ही चर्चा हुई.' उन्‍होंने कहा कि किसानों का राजनीतिक दलों द्वारा अपने एजेंडे को पूरा करने के लिए 'इस्‍तेमाल' किया जा रहा है. उन्‍होंने कहा, 'हमने महापंचायत में विभिन्‍न राजनीतिक पार्टियों के बैनर और झंडे देखे. हर कोई जानता है कि किसानों को लाल किला कौन ले गया था?'


गौरतलब है कि केंद्र सरकार के तीन नए कृषि कानूनों के खिलाफ पिछले नौ माह से आंदोलन कर रहे संयुक्त किसान मोर्चा ने रविवार को मुजफ्फरनगर की किसान महापंचायत में 27 सितंबर को ''भारत बंद'' का ऐलान किया. महापंचायत में कहा गया कि अब ‘भारत बंद' 27 सितंबर को होगा. किसान मोर्चा ने कहा है कि 27 सितंबर को ‘भारत बंद' के दौरान देश में सब कुछ बंद रहेगा.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


- - ये भी पढ़ें - -
* किसान आंदोलन से बंद हाईवे खुलवाने की याचिका पर सुनवाई से इनकार, सुप्रीम कोर्ट ने दी ये दलील
* '"SC ने छात्रा की चिट्ठी को जनहित याचिका में बदला, अदालतों से कोर्टरूम में सुनवाई करने का किया अनुरोध
* 'देश में दो तरह का तालिबान.. एक सरकारी और एक संघी': तेजस्वी यादव का BJP-RSS पर हमला