यूपी : एक महीने से लापता नाबालिग बेटी की मां का आरोप, 'पुलिसवाले कहते हैं, गाड़ी में डीजल डलवाओ तो ढूंढेंगे'

विधवा महिला ने बताया कि उन्होंने पिछले महीने अपनी बेटी के लापता होने की शिकायत दर्ज करवाई थी. लेकिन पुलिस उनकी मदद नहीं कर रही है.

यूपी : एक महीने से लापता नाबालिग बेटी की मां का आरोप, 'पुलिसवाले कहते हैं, गाड़ी में डीजल डलवाओ तो ढूंढेंगे'

महिला ने पुलिसकर्मियों पर आरोप लगाया है.

कानपुर:

उत्तर प्रदेश के कानपुर में एक दिव्यांग महिला ने आरोप लगाया है कि उन्होंने स्थानीय पुलिसकर्मियों की गाड़ी में 10 से 15 हजार रुपए का डीजल डलवा दिया है, ताकि वो उसकी नाबालिग लड़की को ढूंढ़ सकें, जिसका पिछले महीने एक रिश्तेदार ने अपहरण कर लिया था. बैसाखी की मदद से चलने वाली महिला सोमवार को उन पुलिसकर्मियों के खिलाफ शिकायत लेकर कानपुर पुलिस प्रमुख के पास पहुंची. कमिश्नर दफ्तर के बाहर स्थानीय मीडिया से बात करते हुए गुडिया नाम की इस विधवा महिला ने बताया कि उन्होंने पिछले महीने अपनी बेटी के लापता होने की शिकायत दर्ज करवाई थी. लेकिन पुलिस उनकी मदद नहीं कर रही है. 

महिला ने बताया, 'पुलिसवाले कहते रहते हैं कि हम ढूंढ़ रहे हैं. कई बार वो मेरा अपमान करते हैं, मेरी बेटे के चरित्र पर सवाल उठाते हुए कहते हैं कि उसकी ही गलती होगी. पुलिसवाले कहते हैं कि हमारी गाड़ी में डीजल डलवाइए, हम आपकी बेटी को ढूंढ़ने जाएंगे.'

'UP स्थापना दिवस पर प्रोग्राम में कांपते रहे बच्चे', खबर दिखाई तो तीन पत्रकारों पर दर्ज हुई FIR

साथ ही पीड़ित महिला ने कहा, 'कई बार वो कहते हैं कि चल यहां से. मैंने पुलिस को रिश्वत नहीं दी है, मैं झूठ नहीं बोलूंगी. लेकिन हां, मैंने उनकी गाड़ियों में डीजल भरवाया है. मैंने उन्हें 3-4 बार के लिए पैसा दिया है. उस पुलिस चौकी पर दो पुलिसकर्मी हैं. उनमें से एक मेरी मदद कर रहे हैं, और दूसरे ने नहीं की.'

उसने कहा कि डीजल के लिए पैसों के इंतजाम के लिए रिश्तेदार से उधार लिया था. मीडिया से बात करते हुए उसने बताया, 'मैंने पुलिस प्रमुख से कहा कि मैंने डीजल के लिए 10-15 हजार रुपए का इंतजाम किया था. लेकिन अब बाकि कहां से दें.'

गोरखपुर : पुलिस की वर्दी पहनकर आए लुटेरे सचमुच पुलिसवाले ही निकले, हुए गिरफ्तार

महिला का वीडियो वायरल होने के बाद कानपुर पुलिस ने ट्वीट करते हुए कहा है कि संबंधित पुलिस चौकी इंचार्ज को हटा दिया गया और मामले की जांच के लिए विभागीय जांच के आदेश दे दिए गए हैं. `पुलिस के टि्वटर हैंडल से एक वीडियो भी पोस्ट किया गया है, जिसमें एक बुजुर्ग महिला को कमिश्नर ऑफिस से संबंधित पुलिस थाने लाते हुए दिखाया गया है. ट्वीट में कहा गया है कि महिला की बेटी को ढूंढ़ने के लिए चार टीमें बनाई गई हैं. 

कानपुर में वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ब्रजेश कुमार श्रीवास्तव ने मीडिया से कहा, 'हमने पुलिस थाना इंचार्ज से इस मामले में तुरंत कार्रवाई करने के लिए कहा है. महिला ने जो सारे आरोप लगाए हैं, उनकी जांच की जाएगी और अगर कोई दोषी पाया जाता है, तो उसके खिलाफ कार्रवाई होगी.'

Video : महोबा में 16 साल की लड़की को गैंगरेप के बाद शोहदों ने फांसी पर लटकाया


Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com