'Pfizer BioNTech COVID Vaccine'

- 9 न्यूज़ रिजल्ट्स
  • World | Reported by: एएफपी, Edited by: प्रमोद कुमार प्रवीण |बुधवार नवम्बर 24, 2021 07:14 AM IST
    अमेरिका द्वारा मई में इस टीके को किशोरों के लिए "आपातकालीन उपयोग " की मंजूरी दी गई थी. यह टीका वर्तमान में केवल 16 वर्ष और उससे अधिक आयु वर्ग के लोगों में पूरी तरह से स्वीकृत है. हालांकि, इस आयु वर्ग के बीच वैक्सीन से जुड़ी मुख्य सुरक्षा चिंता पुरुषों में मायोकार्डिटिस (दिल की सूजन) है लेकिन ऐसे मामले बहुत ही कम हैं.
  • World | Reported by: एएफपी, Edited by: प्रमोद कुमार प्रवीण |शुक्रवार अक्टूबर 15, 2021 08:00 AM IST
    जॉनसन एंड जॉनसन वैक्सीन के लिए बूस्टर खुराक पर अपना फैसला देने के लिए समिति शुक्रवार को फिर से बैठक करेगी. लगभग 15 मिलियन अमेरिकियों ने J&J वैक्सीन की एक खुराक प्राप्त की है, और लगभग 70 मिलियन को मॉडर्ना टीके से पूर्ण टीकाकृत हो चुके हैं.
  • India | Reported by: एएफपी |सोमवार सितम्बर 20, 2021 08:54 PM IST
    Pfizer और BioNTech ने कहा है कि क्‍लीनिकल ट्रायल रिजल्‍ट से पता चला है कि उनका कोरोना वैक्‍सीन पांच से 11 साल तक के बच्‍चों के लिए पूरी तरह सुरक्षित है और इससे बच्‍चों में इम्‍युनिटी बढ़ी है. कंपनियों ने कहा कि वे जल्‍द ही वैक्‍सीन के लिए मंजूरी की मांग नियामक संस्‍था के समक्ष करेंगे. 
  • World | Reported by: एएफपी, Edited by: प्रमोद कुमार प्रवीण |गुरुवार अगस्त 19, 2021 04:11 PM IST
    शोधकर्ताओं ने कहा, "नए कोविड​​​​-19 संक्रमण के खिलाफ फाइजर-बायोएनटेक की दो खुराक की प्रारंभिक प्रभावशीलता ज्यादा है, लेकिन ऑक्सफोर्ड-एस्ट्राजेनेका की दो खुराक की तुलना में यह तेजी से घट रही है."
  • World | Reported by: एएफपी, Translated by: सूर्यकांत पाठक |शनिवार जुलाई 17, 2021 11:56 PM IST
    फ्रांस ऐसे लोगों पर विचार करेगा जिनके Pfizer/BioNTech, मॉडर्न और एस्ट्राजेनेका वैक्सीन की दूसरी खुराक लेने के बाद एक हफ्ते का समय बीत चुका है. पहले यह अवधि 14 दिन की निर्धारित थी. जॉनसन एंड जॉनसन जैब के 28 दिन के बाद विचार किया जाएगा. प्रधानमंत्री जीन कास्टेक्स ने शनिवार को एक बयान में कहा, देश सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया द्वारा बनाए गए एस्ट्राजेनेका वैक्सीन की कोविशील्ड की एक डोज के टीकाकरण को भी स्वीकार करेगा.
  • World | Reported by: प्रेस ट्रस्ट ऑफ इंडिया |शुक्रवार जून 4, 2021 06:28 PM IST
    द लैंसेट जर्नल में प्रकाशित शोध के अनुसार, फाइजर-बायोएनटेक वैक्सीन (Pfizer-BioNTech Vaccine) के साथ पूरी तरह से टीका लगाए गए लोगों में मूल स्ट्रेन की तुलना में भारत में पहली बार पहचाने गए डेल्टा वेरिएंट (Delta Variant) के खिलाफ एंटीबॉडी को निष्क्रिय करने का स्तर पांच गुना कम होने की संभावना है. अध्ययन से यह भी पता चलता है कि इन एंटीबॉडी का स्तर जो वायरस को पहचानने और लड़ने में सक्षम हैं, बढ़ती उम्र के साथ कम होते हैं और यह स्तर समय के साथ घटता है, कमजोर लोगों को बूस्टर खुराक देने की योजना के समर्थन में अतिरिक्त सबूत प्रदान करता है.
  • World | Reported by: एएफपी |गुरुवार अप्रैल 1, 2021 07:15 PM IST
    Pfizer और BioNTech ने गुरुवार को कहा है कि उनका कोविड-19 वैक्‍सीन हाल ही के क्‍लीनिकल ट्रायल में दक्षिण अफ्रीकी वेरिएंट के खिलाफ बेहद प्रभावी पाया गया है. कंपनी की ओर से एक बयान में कहा गया है कि दक्षिण अफ्रीका में फेस-3 ट्रायल स्‍टडी में पाया गया है कि जिन प्रतिभागियों ने दूसरा डोज लिया था, उनमें इस संक्रमण का कोई केस नहीं पाया गया.
  • World | Reported by: एएफपी, Translated by: पवन पांडे |शुक्रवार जनवरी 1, 2021 08:27 AM IST
    विश्व स्वास्थ्य संगठन ने कहा कि फाइजर-बायोएनटेक वैक्सीन पहली ऐसी वैक्सीन है, जिसे कोरोना वायरस महामारी सामने आने के बाद उसकी ओर से "आपातकाल उपयोग" के लिए इजाजत दी गई है. दुनियाभर में COVID-19 वैक्सीन की वैश्विक पहुंच सुनिश्चित करने की दिशा में यह बहुत सकारात्मक कदम है. 
  • World | Reported by: एएफपी, Edited by: प्रमोद कुमार प्रवीण |बुधवार दिसम्बर 30, 2020 01:32 PM IST
    इसके साथ ही ब्रिटेन दुनिया का पहला देश बन गया है जिसने इस वैक्सीन के इस्तेमाल की मंजूरी दी है क्योंकि यह वैक्सीन, नए कोविड स्ट्रेन जो अत्यधिक संक्रामक है और ठंड में तेजी से बढ़ता है, के खिलाफ लड़ता है.
और पढ़ें »
 
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com