विज्ञापन

India China Dispute

'India China Dispute' - 235 News Result(s)
  • J-20: अपने इस 'बाज' पर इतना क्यों इतराता है चीन

    J-20: अपने इस 'बाज' पर इतना क्यों इतराता है चीन

    चीन और भारत में सीमा विवाद कोई नया नहीं है लेकिन पिछले कुछ सालों में ये तनाव और बढ़ता दिख रहा है. ऐसे में चीन लगातार आक्रामक रुख अपनाते हुए भारत से सटे इलाकों में अपनी सैन्य स्थिति मजबूत कर रहा है. हाल ही में चीन ने भारत से सटे इलाके में अपने सबसे उन्नत फाइटर जेट जे-20 की तैनाती की है.

  • चीन क्यों चाहता है मजबूत पाकिस्तान? क्या हो सकते हैं ड्रेगन के नापाक इरादे

    चीन क्यों चाहता है मजबूत पाकिस्तान? क्या हो सकते हैं ड्रेगन के नापाक इरादे

    अधिकारियों कहा कि चीनी विशेषज्ञ पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर (पीओके) की लीपा घाटी में सुरंग निर्माण में लगे हैं, जिससे काराकोरम राजमार्ग से जुड़ने वाली एक सदाबहार सड़क के निर्माण के संकेत मिल रहे हैं.

  • अमेरिका की तकनीक पर चीन ने बनाया सुपर-कैरियर; भारतीय नौसेना के लिए कितना बड़ा सिरदर्द?

    अमेरिका की तकनीक पर चीन ने बनाया सुपर-कैरियर; भारतीय नौसेना के लिए कितना बड़ा सिरदर्द?

    Naval strength of India and China : केंद्र सरकार आईएनएस विक्रांत के समान आकार के एक छोटे विमानवाहक पोत को हरी झंडी देने पर विचार कर रही है. सरकार विक्रांत के लिए 26 राफेल-एम लड़ाकू विमान खरीदने के लिए फ्रांस के डसॉल्ट के साथ भी बातचीत कर रही है.

  • भारत के जीन में है लोकतंत्र, यहां अल्पसंख्यकों के साथ नहीं होता कोई भेदभाव : पीएम मोदी

    भारत के जीन में है लोकतंत्र, यहां अल्पसंख्यकों के साथ नहीं होता कोई भेदभाव : पीएम मोदी

    अपने दूसरे कार्यकाल के अंत तक सबसे लोकप्रिय सरकारें भी समर्थन खोने लगती हैं. दुनिया में भी पिछले कुछ सालों में सरकारों के प्रति असंतोष बढ़ा है. भारत एक अपवाद के रूप में खड़ा है, जहां हमारी लोकप्रिय सरकार के लिए समर्थन बढ़ रहा है. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज प्रसिद्ध पत्रिका न्यूजवीक  (Newsweek) को दिए गए एक खास इंटरव्यू में यह बात कही. 

  • "कोई अगर भारत के सम्मान को ठेस पहुंचाए तो जवाब देने में सक्षम" : चीन को रक्षा मंत्री का मैसेज

    "कोई अगर भारत के सम्मान को ठेस पहुंचाए तो जवाब देने में सक्षम" : चीन को रक्षा मंत्री का मैसेज

    अरुणाचल प्रदेश ईस्ट निर्वाचन क्षेत्र के नमसाई में एक चुनावी रैली को संबोधित करते हुए सिंह ने कहा कि पूर्वोत्तर राज्य में 30 स्थानों के नाम बदलने के चीन के कदम से जमीनी हकीकत नहीं बदलेगी.

  • मोदी सरकार में चीन ‘एक इंच’ जमीन पर भी कब्जा नहीं कर सकता : गृह मंत्री अमित शाह

    मोदी सरकार में चीन ‘एक इंच’ जमीन पर भी कब्जा नहीं कर सकता : गृह मंत्री अमित शाह

    अमित शाह ने तुलना करते हुए कहा, ‘‘हिमंत विश्व शर्मा ने बाल विवाह रोका है. उत्तराखंड में समान नागरिक संहिता है.’’ शाह ने कहा कि पूरे देश के विकास में पूर्वोत्तर का विकास केंद्र में है. उन्होंने लोगों से अपील की कि क्षेत्र की सभी सीट पर वे राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (राजग) के प्रत्याशियों के पक्ष में मतदान करें.

  • भारत की सीमाएं पूरी तरह सुरक्षित, सेना पर भरोसा बनाए रखें जनता : रक्षामंत्री राजनाथ सिंह

    भारत की सीमाएं पूरी तरह सुरक्षित, सेना पर भरोसा बनाए रखें जनता : रक्षामंत्री राजनाथ सिंह

    यह पूछे जाने पर कि भारत-चीन सीमा मुद्दे पर विपक्षी दलों सहित कई लोगों द्वारा उठाए गए सवालों पर उन्होंने क्या प्रतिक्रिया दी, सिंह ने कहा कि वे कभी उनसे परेशान नहीं हुए.

  • "चार साल से चल रहे तनाव से न भारत और न ही चीन को कुछ हासिल हुआ है" : एस. जयशंकर

    "चार साल से चल रहे तनाव से न भारत और न ही चीन को कुछ हासिल हुआ है" : एस. जयशंकर

    एक कार्यक्रम में परिचर्चा के दौरान, मंत्री ने कहा कि भारत ने "पाकिस्तान के साथ बातचीत के लिए अपने दरवाजे कभी बंद नहीं किए, लेकिन आतंकवाद का मुद्दा ईमानदारी से बातचीत के केंद्र में होना चाहिए."

  • "यह गारंटी नहीं दे सकते कि हर देश हमारा समर्थन करेगा": मालदीव विवाद पर बोले एस जयशंकर

    "यह गारंटी नहीं दे सकते कि हर देश हमारा समर्थन करेगा": मालदीव विवाद पर बोले एस जयशंकर

    विदेश मंत्री एस जयशंकर ने भारत-मालदीव विवाद को लेकर कहा कि, "राजनीति तो राजनीति है" और इसकी गारंटी नहीं दी जा सकती कि हर देश हर बार भारत का समर्थन करेगा या हम से सहमत होगा. वे शनिवार को नागपुर में एक कार्यक्रम में बोल रहे थे. जयशंकर ने कहा, ‘‘हमने पिछले 10 वर्षों में बहुत सफलता के साथ मजबूत संबंध बनाने की कोशिश की है.’’

  • "हम किसी के पिछलग्गू नहीं": भारत से विवाद के बीच मालदीव के राष्ट्रपति मोहम्मद मुइज्जू

    "हम किसी के पिछलग्गू नहीं": भारत से विवाद के बीच मालदीव के राष्ट्रपति मोहम्मद मुइज्जू

    चीन की पांच दिवसीय राजकीय यात्रा के बाद स्वदेश लौटे मालदीव के राष्ट्रपति मोहम्मद मुइज्जू ने शनिवार को एक कड़ी टिप्पणी करते हुए कहा कि उनका देश छोटा हो सकता है, लेकिन ‘‘इससे किसी को हमें धमकाने का लाइसेंस नहीं मिल जाता.’’ मुइज्जू का यह बयान मालदीव के तीन मंत्रियों द्वारा प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के खिलाफ सोशल मीडिया पर अपमानजनक टिप्पणियों को लेकर भारत के साथ राजनयिक विवाद के बीच आया है.

  • भूटान-चीन सीमा वार्ता पर करीबी नजर रखी जा रही है : सेना प्रमुख जनरल पांडे

    भूटान-चीन सीमा वार्ता पर करीबी नजर रखी जा रही है : सेना प्रमुख जनरल पांडे

    थल सेना प्रमुख ने कहा, ‘‘यह संबंध सैन्य क्षेत्र में भी है क्योंकि 1960 के दशक की शुरूआत से हमारे पास भारतीय सैन्य प्रशिक्षण टीम है. वे हमारे संबंध के केंद्र में हैं.’’ चीन और भूटान के अपनी सीमा वार्ता में प्रगति करने और किसी संभावित समाधान का भारत पर सुरक्षा की दृष्टि से पड़ने वाले प्रभाव के बारे में पूछे गए एक सवाल का जनरल पांडे जवाब दे रहे थे.

  • भारत, चीन अगले दौर की सैन्य वार्ता जल्द करने पर हुए सहमत

    भारत, चीन अगले दौर की सैन्य वार्ता जल्द करने पर हुए सहमत

    विदेश मंत्रालय ने एक बयान में कहा, ‘‘दोनों पक्षों ने भारत-चीन सीमा क्षेत्रों के पश्चिमी सेक्टर में वास्तविक नियंत्रण रेखा (एलएसी) से लगे क्षेत्र में स्थिति की समीक्षा की और शेष मुद्दों का समाधान करने एवं पूर्वी लद्दाख में सैनिकों को पूर्णत: पीछे हटाने के प्रस्तावों पर खुली, रचनात्मक और गहन चर्चा की.’’

  • चीन की आक्रामकता का मुकाबला करने के लिए भारत-अमेरिका के बीच रणनीतिक मुद्दों पर सहमति : राजनाथ

    चीन की आक्रामकता का मुकाबला करने के लिए भारत-अमेरिका के बीच रणनीतिक मुद्दों पर सहमति : राजनाथ

    मंत्रालय ने कहा कि दोनों मंत्रियों ने महत्वपूर्ण क्षेत्रों में संयुक्त अनुसंधान के साथ रक्षा प्रौद्योगिकी सहयोग को आगे बढ़ाने के तरीकों और साधनों का पता लगाया. बयान में कहा गया है, ‘‘उन्होंने भारत-अमेरिका रक्षा औद्योगिक पारिस्थितिकी तंत्र ‘इंडस-एक्स’ की प्रगति की समीक्षा की, जिसे इस साल जून में लॉन्च किया गया था और इसका उद्देश्य भारत और अमेरिका की सरकारों, व्यवसायों और शैक्षणिक संस्थानों के बीच रणनीतिक प्रौद्योगिकी साझेदारी और रक्षा औद्योगिक सहयोग का विस्तार करना है.’’

  • एससीओ देश एक-दूसरे की संप्रभुता का सम्मान करें, अंतरराष्ट्रीय कानून का सख्ती से पालन करें : जयशंकर

    एससीओ देश एक-दूसरे की संप्रभुता का सम्मान करें, अंतरराष्ट्रीय कानून का सख्ती से पालन करें : जयशंकर

    जयशंकर ने यह टिप्पणी उस वक्त की, जब वह किर्गिस्तान के बिश्केक में एससीओ के शासनाध्यक्षों की परिषद के 22वें सत्र को संबोधित कर रहे थे. इस सत्र में किर्गिस्तान, कजाकिस्तान, ईरान, चीन, रूस, ताजिकिस्तान, पाकिस्तान और उज्बेकिस्तान के प्रतिनिधियों ने हिस्सा लिया.

  • Explainer : भारत-चीन की सेनाएं गलवान के बाद अब भी आमने-सामने, जानिए क्‍या है विवाद

    Explainer : भारत-चीन की सेनाएं गलवान के बाद अब भी आमने-सामने, जानिए क्‍या है विवाद

    गलवान के बाद से 20 दौर की कोर कमांडर लेवल की बातचीत हो चुकी है. बातचीत के दौरान शुरुआत में प्रगति हुई. गलवान घाटी, पेंगोंग लेक और हॉट स्प्रिंग सहित कई जगहों पर दोनों देशों की सेनाएं पीछे हटीं, लेकिन अभी भी देपसांग और डेमचोक में गतिरोध बना हुआ है. 

'India China Dispute' - 67 Video Result(s)
'India China Dispute' - 235 News Result(s)
  • J-20: अपने इस 'बाज' पर इतना क्यों इतराता है चीन

    J-20: अपने इस 'बाज' पर इतना क्यों इतराता है चीन

    चीन और भारत में सीमा विवाद कोई नया नहीं है लेकिन पिछले कुछ सालों में ये तनाव और बढ़ता दिख रहा है. ऐसे में चीन लगातार आक्रामक रुख अपनाते हुए भारत से सटे इलाकों में अपनी सैन्य स्थिति मजबूत कर रहा है. हाल ही में चीन ने भारत से सटे इलाके में अपने सबसे उन्नत फाइटर जेट जे-20 की तैनाती की है.

  • चीन क्यों चाहता है मजबूत पाकिस्तान? क्या हो सकते हैं ड्रेगन के नापाक इरादे

    चीन क्यों चाहता है मजबूत पाकिस्तान? क्या हो सकते हैं ड्रेगन के नापाक इरादे

    अधिकारियों कहा कि चीनी विशेषज्ञ पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर (पीओके) की लीपा घाटी में सुरंग निर्माण में लगे हैं, जिससे काराकोरम राजमार्ग से जुड़ने वाली एक सदाबहार सड़क के निर्माण के संकेत मिल रहे हैं.

  • अमेरिका की तकनीक पर चीन ने बनाया सुपर-कैरियर; भारतीय नौसेना के लिए कितना बड़ा सिरदर्द?

    अमेरिका की तकनीक पर चीन ने बनाया सुपर-कैरियर; भारतीय नौसेना के लिए कितना बड़ा सिरदर्द?

    Naval strength of India and China : केंद्र सरकार आईएनएस विक्रांत के समान आकार के एक छोटे विमानवाहक पोत को हरी झंडी देने पर विचार कर रही है. सरकार विक्रांत के लिए 26 राफेल-एम लड़ाकू विमान खरीदने के लिए फ्रांस के डसॉल्ट के साथ भी बातचीत कर रही है.

  • भारत के जीन में है लोकतंत्र, यहां अल्पसंख्यकों के साथ नहीं होता कोई भेदभाव : पीएम मोदी

    भारत के जीन में है लोकतंत्र, यहां अल्पसंख्यकों के साथ नहीं होता कोई भेदभाव : पीएम मोदी

    अपने दूसरे कार्यकाल के अंत तक सबसे लोकप्रिय सरकारें भी समर्थन खोने लगती हैं. दुनिया में भी पिछले कुछ सालों में सरकारों के प्रति असंतोष बढ़ा है. भारत एक अपवाद के रूप में खड़ा है, जहां हमारी लोकप्रिय सरकार के लिए समर्थन बढ़ रहा है. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज प्रसिद्ध पत्रिका न्यूजवीक  (Newsweek) को दिए गए एक खास इंटरव्यू में यह बात कही. 

  • "कोई अगर भारत के सम्मान को ठेस पहुंचाए तो जवाब देने में सक्षम" : चीन को रक्षा मंत्री का मैसेज

    "कोई अगर भारत के सम्मान को ठेस पहुंचाए तो जवाब देने में सक्षम" : चीन को रक्षा मंत्री का मैसेज

    अरुणाचल प्रदेश ईस्ट निर्वाचन क्षेत्र के नमसाई में एक चुनावी रैली को संबोधित करते हुए सिंह ने कहा कि पूर्वोत्तर राज्य में 30 स्थानों के नाम बदलने के चीन के कदम से जमीनी हकीकत नहीं बदलेगी.

  • मोदी सरकार में चीन ‘एक इंच’ जमीन पर भी कब्जा नहीं कर सकता : गृह मंत्री अमित शाह

    मोदी सरकार में चीन ‘एक इंच’ जमीन पर भी कब्जा नहीं कर सकता : गृह मंत्री अमित शाह

    अमित शाह ने तुलना करते हुए कहा, ‘‘हिमंत विश्व शर्मा ने बाल विवाह रोका है. उत्तराखंड में समान नागरिक संहिता है.’’ शाह ने कहा कि पूरे देश के विकास में पूर्वोत्तर का विकास केंद्र में है. उन्होंने लोगों से अपील की कि क्षेत्र की सभी सीट पर वे राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (राजग) के प्रत्याशियों के पक्ष में मतदान करें.

  • भारत की सीमाएं पूरी तरह सुरक्षित, सेना पर भरोसा बनाए रखें जनता : रक्षामंत्री राजनाथ सिंह

    भारत की सीमाएं पूरी तरह सुरक्षित, सेना पर भरोसा बनाए रखें जनता : रक्षामंत्री राजनाथ सिंह

    यह पूछे जाने पर कि भारत-चीन सीमा मुद्दे पर विपक्षी दलों सहित कई लोगों द्वारा उठाए गए सवालों पर उन्होंने क्या प्रतिक्रिया दी, सिंह ने कहा कि वे कभी उनसे परेशान नहीं हुए.

  • "चार साल से चल रहे तनाव से न भारत और न ही चीन को कुछ हासिल हुआ है" : एस. जयशंकर

    "चार साल से चल रहे तनाव से न भारत और न ही चीन को कुछ हासिल हुआ है" : एस. जयशंकर

    एक कार्यक्रम में परिचर्चा के दौरान, मंत्री ने कहा कि भारत ने "पाकिस्तान के साथ बातचीत के लिए अपने दरवाजे कभी बंद नहीं किए, लेकिन आतंकवाद का मुद्दा ईमानदारी से बातचीत के केंद्र में होना चाहिए."

  • "यह गारंटी नहीं दे सकते कि हर देश हमारा समर्थन करेगा": मालदीव विवाद पर बोले एस जयशंकर

    "यह गारंटी नहीं दे सकते कि हर देश हमारा समर्थन करेगा": मालदीव विवाद पर बोले एस जयशंकर

    विदेश मंत्री एस जयशंकर ने भारत-मालदीव विवाद को लेकर कहा कि, "राजनीति तो राजनीति है" और इसकी गारंटी नहीं दी जा सकती कि हर देश हर बार भारत का समर्थन करेगा या हम से सहमत होगा. वे शनिवार को नागपुर में एक कार्यक्रम में बोल रहे थे. जयशंकर ने कहा, ‘‘हमने पिछले 10 वर्षों में बहुत सफलता के साथ मजबूत संबंध बनाने की कोशिश की है.’’

  • "हम किसी के पिछलग्गू नहीं": भारत से विवाद के बीच मालदीव के राष्ट्रपति मोहम्मद मुइज्जू

    "हम किसी के पिछलग्गू नहीं": भारत से विवाद के बीच मालदीव के राष्ट्रपति मोहम्मद मुइज्जू

    चीन की पांच दिवसीय राजकीय यात्रा के बाद स्वदेश लौटे मालदीव के राष्ट्रपति मोहम्मद मुइज्जू ने शनिवार को एक कड़ी टिप्पणी करते हुए कहा कि उनका देश छोटा हो सकता है, लेकिन ‘‘इससे किसी को हमें धमकाने का लाइसेंस नहीं मिल जाता.’’ मुइज्जू का यह बयान मालदीव के तीन मंत्रियों द्वारा प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के खिलाफ सोशल मीडिया पर अपमानजनक टिप्पणियों को लेकर भारत के साथ राजनयिक विवाद के बीच आया है.

  • भूटान-चीन सीमा वार्ता पर करीबी नजर रखी जा रही है : सेना प्रमुख जनरल पांडे

    भूटान-चीन सीमा वार्ता पर करीबी नजर रखी जा रही है : सेना प्रमुख जनरल पांडे

    थल सेना प्रमुख ने कहा, ‘‘यह संबंध सैन्य क्षेत्र में भी है क्योंकि 1960 के दशक की शुरूआत से हमारे पास भारतीय सैन्य प्रशिक्षण टीम है. वे हमारे संबंध के केंद्र में हैं.’’ चीन और भूटान के अपनी सीमा वार्ता में प्रगति करने और किसी संभावित समाधान का भारत पर सुरक्षा की दृष्टि से पड़ने वाले प्रभाव के बारे में पूछे गए एक सवाल का जनरल पांडे जवाब दे रहे थे.

  • भारत, चीन अगले दौर की सैन्य वार्ता जल्द करने पर हुए सहमत

    भारत, चीन अगले दौर की सैन्य वार्ता जल्द करने पर हुए सहमत

    विदेश मंत्रालय ने एक बयान में कहा, ‘‘दोनों पक्षों ने भारत-चीन सीमा क्षेत्रों के पश्चिमी सेक्टर में वास्तविक नियंत्रण रेखा (एलएसी) से लगे क्षेत्र में स्थिति की समीक्षा की और शेष मुद्दों का समाधान करने एवं पूर्वी लद्दाख में सैनिकों को पूर्णत: पीछे हटाने के प्रस्तावों पर खुली, रचनात्मक और गहन चर्चा की.’’

  • चीन की आक्रामकता का मुकाबला करने के लिए भारत-अमेरिका के बीच रणनीतिक मुद्दों पर सहमति : राजनाथ

    चीन की आक्रामकता का मुकाबला करने के लिए भारत-अमेरिका के बीच रणनीतिक मुद्दों पर सहमति : राजनाथ

    मंत्रालय ने कहा कि दोनों मंत्रियों ने महत्वपूर्ण क्षेत्रों में संयुक्त अनुसंधान के साथ रक्षा प्रौद्योगिकी सहयोग को आगे बढ़ाने के तरीकों और साधनों का पता लगाया. बयान में कहा गया है, ‘‘उन्होंने भारत-अमेरिका रक्षा औद्योगिक पारिस्थितिकी तंत्र ‘इंडस-एक्स’ की प्रगति की समीक्षा की, जिसे इस साल जून में लॉन्च किया गया था और इसका उद्देश्य भारत और अमेरिका की सरकारों, व्यवसायों और शैक्षणिक संस्थानों के बीच रणनीतिक प्रौद्योगिकी साझेदारी और रक्षा औद्योगिक सहयोग का विस्तार करना है.’’