'Guru Nanak birthday'

- 20 न्यूज़ रिजल्ट्स
  • Food Lifestyle | Written by: Aradhana Singh |शुक्रवार नवम्बर 19, 2021 10:08 AM IST
    Guru Nanak's Prakash Utsav: आज 19 नवंबर को गुरु नानक जयंती मनाई जा रही है. हर साल दिवाली के पंद्रह दिनों बाद यानी कि कार्तिक की पूर्णिमा के दिन गुरु नानक जयंती मनाई जाती है.
  • features | Written by Aradhana Singh |बुधवार नवम्बर 17, 2021 05:59 PM IST
    Guru Nanak Birth Anniversary: हर साल दिवाली के पंद्रह दिनों बाद यानी कि कार्तिक की पूर्णिमा के दिन गुरु नानक जयंती मनाई जाती है. इस साल 19 नवंबर को गुरु नानक जयंती है.
  • Faith | Written by: संज्ञा सिंह |शनिवार नवम्बर 28, 2020 11:16 AM IST
    Guru Nanak Jayanti 2020: गुरु नानक जयंती 30 नवंबर (November 30) को है. इस बार गुरु नानक की 551वीं जयंती मनाई जा रही है. नानक देव जी (Guru Nanak Dev Ji) की जयंती (Guru Nanak Jayanti) कार्तिक पूर्णिमा (Kartik Purnima) के दिन मनाई जाती है. गुरु नानक देव जी सिखों के प्रथम गुरु थे. गुरु नानक देव जी ने ही श्री करतारपुर साहिब गुरुद्वारे (Kartarpur Sahib Gurudwara) की नींव रखी थी. गुरु नानक के अनुयायी उन्हें नानक, नानक देव जी, बाबा नानक और नानकशाह नामों से संबोधित करते हैं.  गुरु नानक जी के जन्म दिवस (Guru Nanak Dev Birthday) के दिन गुरु पर्व या प्रकाश पर्व (Guru Parv or Prakash Parv) मनाया जाता है. गुरु नानक देव जी का जन्म राय भोई की तलवंडी (राय भोई दी तलवंडी) नाम की जगह पर हुआ था, जो अब पाकिस्तान के पंजाब प्रांत स्थित ननकाना साहिब (Nankana Sahib) में है. आइये जानते हैं गुरु नानक के जीवन से जुड़ी 10 बातें...
  • Lifestyle | Written by: संज्ञा सिंह |रविवार नवम्बर 29, 2020 09:36 PM IST
    Guru Nanak Quotes: गुरु नानक देव जी का जन्म कार्तिक पुर्णिमा को हुआ था. नानक देव जी ने समाज को जागरूक करने के लिए काफी यात्राएं की. उन्होंने हरिद्वार, अयोध्या, प्रयाग, काशी, गया, पटना, असम, बीकानेर, पुष्कर तीर्थ, दिल्ली, पानीपत, कुरुक्षेत्र, जगन्नाथपुरी, रामेश्वर, सोमनाथ, द्वारका, नर्मदातट, मुल्तान, लाहौर आदि स्थानों का भ्रमण किया.
  • Faith | Written by: संज्ञा सिंह |शुक्रवार नवम्बर 27, 2020 09:51 AM IST
    Guru Nanak Dev Jayanti 2020: सिख धर्म के संस्थापक गुरु नानक जी के जन्म दिवस के दिन गुरु पर्व या प्रकाश पर्व मनाया जाता है. गुरु नानक जयंती के दिन सिख समुदाय के लोग 'वाहे गुरु, वाहे गुरु' जपते हुए सुबह-सुबह प्रभात फेरी निकालते हैं. गुरुद्वारे में शबद-कीर्तन करते हैं, रुमाला चढ़ाते हैं, शाम के वक्त लोगों को लंगर खिलाते हैं.
  • Food Lifestyle | Written by: अनिता शर्मा |सोमवार नवम्बर 11, 2019 04:26 PM IST
    Guru Nanak Dev Ji Jayanti 2019: इस साल 12 नवबंर को गुरु पर्व या गुरुपुरब मनाया जा रहा है. गुरुपुरब के मौके पर सिख समुदाय भजन-कीर्तन और प्रभातफेरी करते हैं. सिख धर्म के पहले गुरु नानक साहिब जी के जन्मदिन या प्रकाश उत्सव पर गुरुग्रंथ साहिब का अखंड पाठ भी किया जाता है.
  • Career | Edited by: अर्चित गुप्ता |मंगलवार नवम्बर 12, 2019 10:45 AM IST
    गुरु नानक जंयती (Guru Nanak Jayanti) देश भर में बड़े ही प्रेम और उत्साह के साथ मनाई जाती है. गुरु नानक देव जी (Guru Nanak Dev Ji) का जन्म कार्तिक पुर्णिमा को हुआ था. नानक देव जी ने समाज को जागरूक करने के लिए काफी यात्राएं की. उन्होंने हरिद्वार, अयोध्या, प्रयाग, काशी, गया, पटना, असम, बीकानेर, पुष्कर तीर्थ, दिल्ली, पानीपत, कुरुक्षेत्र, जगन्नाथपुरी, रामेश्वर, सोमनाथ, द्वारका, नर्मदातट, मुल्तान, लाहौर आदि स्थानों का भ्रमण किया.  
  • Career | Edited by: अर्चित गुप्ता |मंगलवार नवम्बर 12, 2019 01:27 PM IST
    Guru Nanak Jayanti 2019: गुरु नानक जयंती 12 नवंबर (November 12) को है. नानक देव जी (Guru Nanak Dev Ji) की जयंती (Guru Nanak Jayanti) कार्तिक पूर्णिमा (Kartik Purnima) के दिन मनाई जाती है. गुरुनानक देव जी सिखों के प्रथम गुरु थे. गुरु नानक देव जी ने ही श्री करतारपुर साहिब गुरुद्वारे (Kartarpur Sahib Gurudwara) की नींव रखी थी. गुरु नानक के अनुयायी उन्हें नानक, नानक देव जी, बाबा नानक और नानकशाह नामों से संबोधित करते हैं. गुरु नानक जी के जन्म दिवस (Guru Nanak Dev Birthday) के दिन गुरु पर्व या प्रकाश पर्व (Guru Parv or Prakash Parv) मनाया जाता है. गुरु नानक देव जी का जन्म राय भोई की तलवंडी (राय भोई दी तलवंडी) नाम की जगह पर हुआ था, जो अब पाकिस्तान के पंजाब प्रांत स्थित ननकाना साहिब (Nankana Sahib) में है. आइये जानते हैं गुरु नानक के जीवन से जुड़ी 10 बातें...
  • Faith | Written by: रेणु चौहान |रविवार जनवरी 13, 2019 09:20 AM IST
    Lohri 2019 Messages: इस साल लोहड़ी और भी खास होने वाली है क्योंकि उसी दिन सिखों के 10वें गुरु (Tenth Nanak) गोविंद सिंह की 352वीं जयंती (Guru Gobind Singh 352th Jayanti) भी है. 
  • Faith | ख़बर न्यूज़ डेस्क |शुक्रवार नवम्बर 23, 2018 12:55 PM IST
    Guru Nanak Jayanti 2018: एक बार भागो मलिक नामक एक अमीर ने गुरु नानक को अपने घर पर भोजन के लिए निमंत्रण दिया, लेकिन नानक जानते थे कि ये लोग गरीबों पर बहुत अत्याचार करते हैं, इसीलिए उन्होंने भागो का निमंत्रण स्वीकार नहीं किया और एक मजदूर के निमंत्रण को सहर्ष स्वीकार कर लिया. 
और पढ़ें »
 
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com