"सच्चाई की जीत होगी": ED के समक्ष राहुल गांधी की पेशी पर बोले रॉबर्ट वाड्रा

Rahul Gandhi ED summons: जांच एजेंसी ने इसी मामले में कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी को 23 जून को तलब किया है. पहले उन्हें आठ जून को पेश होने के लिए नोटिस दिया गया था. हालांकि कांग्रेस अध्यक्ष ने पेश होने के लिए और समय मांगा है. क्योंकि वह कोरोना वायरस से संक्रमित हैं.

नई दिल्ली:

Rahul Gandhi ED summons: कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी की प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) के समक्ष पेशी से पहले उनके बहनोई रॉबर्ट वाड्रा (Robert Vadra) ने कहा है कि राहुल गांधी को प्रवर्तन निदेशालय "निस्संदेह बरी कर देगा" और "सच्चाई की जीत होगी". रॉबर्ट वाड्रा ने मनी लॉन्ड्रिंग के आरोपों को 'निराधार' बताते हुए कहा कि केंद्रीय जांच एजेंसी की कार्रवाई विपक्ष को परेशान करने के लिए है. क्योंकि ये केंद्र से सवाल करती है.

इससे पहले वाड्रा ने अपने खिलाफ दर्ज मामले का हवाला देते हुए कहा था कि ईडी ने उन्हें 15 बार बुलाया और पूछताछ की. उन्होंने एक फेसबुक पोस्ट में कहा कि सरकार ‘उत्पीड़न' के जरिये देश के लोगों को दबा नहीं सकेगी. वाड्रा ने कहा, ‘‘राहुल, आप निश्चित तौर पर इन निराधार आरोपों से मुक्त होंगे.''

ये भी पढ़ें- ‘‘जब अंग्रेज हमें नहीं दबा पाए तो ये क्या...‘‘: राहुल गांधी की पेशी से पहले बोले सुरजेवाला

उनका कहना है कि कांग्रेस का नेतृत्व सच के लिए लड़ रहा है और देश की जनता उसके साथ खड़ी है. ईडी ने ‘नेशनल हेराल्ड' से जुड़े कथित धनशोधन के मामले में राहुल गांधी को पूछताछ के लिए बुलाया है. जांच एजेंसी ने इससे पहले राहुल गांधी को दो जून को पेश होने के लिये कहा था, लेकिन कांग्रेस नेता ने पेश होने के लिए कोई दूसरी तारीख देने का अनुरोध करते हुए कहा था कि वह देश से बाहर हैं.

जांच एजेंसी ने इसी मामले में कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी को 23 जून को तलब किया है. पहले उन्हें आठ जून को पेश होने के लिए नोटिस दिया गया था. हालांकि कांग्रेस अध्यक्ष ने पेश होने के लिए और समय मांगा है. क्योंकि वह कोरोना वायरस से संक्रमित हैं और अब तक स्वस्थ नहीं हुई हैं. (भाषा इनपुट के साथ)

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

VIDEO: "सच की आवाज़ से डरी सरकार"; ED के सामने राहुल की पेशी पर कांग्रेस का बयान