विज्ञापन
Story ProgressBack
This Article is From Feb 06, 2018

22 भारतीयों समेत अफ्रीका में अगवा हुए तेल टैंकर को समुद्री डाकुओं ने छोड़ा: सुषमा स्वराज

विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने मंगलवार को बताया कि अफ्रीका के बेनिन तट से दूर शनिवार को लापता हुए तेल टैंकर पोत को छुड़ा लिया गया है.

Read Time: 4 mins
22 भारतीयों समेत अफ्रीका में अगवा हुए तेल टैंकर को समुद्री डाकुओं ने छोड़ा: सुषमा स्वराज
विदेश मंत्री सुषमा स्वराज (फाइल फोटो)
नई दिल्ली: पश्चिमी अफ्रीका के समुद्र में लापता तेल के टैंकर का पता लग गया है. विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने मंगलवार को बताया कि अफ्रीका के बेनिन तट से दूर शनिवार को लापता हुए तेल टैंकर पोत को छुड़ा लिया गया है. ऐसी खबरें आई थीं कि इसे समुद्री डाकुओं ने अगवा कर लिया था. बता दें कि इस तेल टैंकर के चालक दल के सभी 22 सदस्य भारतीय हैं. 

विदेश मंत्री ने दो ट्वीट कर इस बात की जानकारी दी और लिखा, "मुझे यह बताते हुए खुशी हो रही है कि 22 भारतीयों सहित मर्चेंट शिप मरीन एक्सप्रेस को छुड़ा लिया गया है. हम नाइजीरिया और बेनिन की सरकारों को उनकी मदद और समर्थन के लिए धन्यवाद देते हैं."  अधिकारियों ने बताया कि समुद्री डाकुओं ने चार दिन बाद चालक दल के सभी सदस्यों को छोड़ दिया है. वे सुरक्षित हैं और जहाज ने आगे का अपना सफर शुरू कर दिया है. सुषमा स्वराज ने लापता तेल टैंकर का पता लगाने में मदद मांगने के लिए कल नाइजीरिया के अपने समकक्ष से बात की थी. 

यह भी पढ़ें - गुजरात के तट के निकट मर्चेंट नेवी के एक तेल टैंकर में आग लगी, क्रू के 26 लोग बचाए गए

अबुजा में भारतीय मिशन जहाज का पता लगाने के लिए नाइजीरिया और बेनिन के संपर्क में था. मुंबई में नौवहन की महानिदेशक मालिनी शंकर ने बताया, ‘मरीन एक्सप्रेस नाम के जहाज को छोड़ दिया गया है और यह अब कप्तान की कमान में है.’अभी स्पष्ट नहीं हो सका है कि पोत और सामान को छुड़ाने के लिए फिरौती दी गई है या नहीं. 

मरीन एक्सप्रेस को बेनिन में गिनी की खाड़ी में एक फरवरी को समुद्री डाकुओं ने अगवा कर लिया था. पोत पर मौजूद सभी संपर्क प्रणालियों को समुद्री डाकुओं ने बंद कर दिया था. जहाज मैनिंग एजेंट ‘एंग्लो इर्स्टन’ ने फेसबुक पर एक पोस्ट के माध्यम से बताया कि पनामा के ध्वजवाहक इस पोत को समुद्री डाकुओं ने अगवा कर लिया था. उन्होंने जहाज को सुरक्षित छोड़े जाने की पुष्टि की. 

पोस्ट में बताया गया है कि जहाज में 13,500 टन गैसोलिन अब भी है. नौहवन महानिदेशालय (डीजीएस) के एक अधिकारी ने पहले बताया था कि समुद्र के जिस हिस्से से पोत को अगवा किया गया है वह असुरक्षित है क्योंकि इलाका समुद्री डाकुओं से भरा है. 

यह भी पढ़ें - युद्धाभ्यास से लौट रहे यूएस नेवी के युद्धपोत की तेल टैंकर से टक्कर, 10 अमेरिकी नाविक लापता

इस तरह की भी घटनाएं है कि समुद्री डाकुओं ने फिरौती की मांग किए बिना जहाज पर मौजूद सामान को लेकर पोत और चालक दल के सदस्यों को जाने दिया है. इस घटना के संबंध में डीजीएस के अधिकारियों ने नाइजीरिया में भारतीय मिशन से संपर्क किया जो स्थानीय एजेंसियों के साथ बचाव प्रयासों में समन्वय कर रहा था. 

बेनिन के तट के पास जनवरी में एमटी बैरेट नाम के पोत के लापता होने के एक महीने से भी कम वक्त में यह जहाज लापता हुआ था. बाद में पुष्टि हुई थी कि एमटी बैरेट को अगवा कर लिया गया था. इस पोत पर चालक दल के 22 सदस्य थे जिसमें से अधिकतर सदस्य भारतीय थे. इसे फिरौती देने के बाद छोड़ा गया था. 

VIDEO: गोवा में अमोनिया गैस से भरा टैंकर पलटा   (इनपुट भाषा से)

NDTV.in पर ताज़ातरीन ख़बरों को ट्रैक करें, व देश के कोने-कोने से और दुनियाभर से न्यूज़ अपडेट पाएं

फॉलो करे:
डार्क मोड/लाइट मोड पर जाएं
Our Offerings: NDTV
  • मध्य प्रदेश
  • राजस्थान
  • इंडिया
  • मराठी
  • 24X7
Choose Your Destination
Previous Article
जानिए कौन सी है वो ' I4C आंख', जिसने UGC-NET एग्जाम में गड़बड़ी पकड़ ली
22 भारतीयों समेत अफ्रीका में अगवा हुए तेल टैंकर को समुद्री डाकुओं ने छोड़ा: सुषमा स्वराज
प. बंगाल के न्यू जलपाईगुड़ी में बड़ा ट्रेन हादसा, मालगाड़ी की कंचनजंगा एक्सप्रेस से टक्कर, 9 लोगों की मौत
Next Article
प. बंगाल के न्यू जलपाईगुड़ी में बड़ा ट्रेन हादसा, मालगाड़ी की कंचनजंगा एक्सप्रेस से टक्कर, 9 लोगों की मौत
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com
;