"ना पहले और ना अब...": मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री पद के दावेदार होने को लेकर शिवराज सिंह चौहान

शिवराज सिंह ने कहा कि मोदी जी के नेतृत्व में एक गौरवशाली, समृद्ध और शक्तिशाली भारत का निर्माण किया जा रहा है. मोदी जी हमारे नेता हैं और हमें उनके साथ काम करने में हमेशा गर्व और खुशी महसूस होता है.

मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान.

भोपाल:

मध्य प्रदेश विधानसभा चुनाव में भाजपा की प्रचंड जीत के बाद मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने मंगलवार को कहा कि वह पहले या अब भी, कभी मुख्यमंत्री पद के दावेदार नहीं रहे हैं. भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) ने 2023 के विधानसभा चुनाव में किसी मुख्यमंत्री पद का चेहरा पेश नहीं किया था. मध्य प्रदेश में, भाजपा ने 230 विधानसभा सीटों में से 163 सीटें हासिल की हैं, जबकि कांग्रेस ने 66 सीटें जीतीं और भारत आदिवासी पार्टी एक सीट जीत सकी.

सीएम चौहान ने अपने आधिकारिक एक्स अकाउंट पर साझा किए गए एक वीडियो बयान में कहा, "मैं न तो पहले मुख्यमंत्री पद का दावेदार था और न ही आज हूं. एक पार्टी कार्यकर्ता के रूप में, मैंने हमेशा अपनी सर्वोत्तम क्षमता, वास्तविकता और ईमानदारी से समर्पण के साथ भाजपा द्वारा सौंपा गया कोई भी काम किया है."

मध्य प्रदेश के चार बार के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि वह भाजपा के कार्यकर्ता होने पर भाग्यशाली महसूस करते हैं. उन्होंने कहा, "मैं भाग्यशाली हूं कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी हमारे नेता हैं और मुझे उनके साथ काम करने का मौका मिला, मोदी जी के नेतृत्व में एक गौरवशाली, समृद्ध और शक्तिशाली भारत का निर्माण किया जा रहा है. मोदी जी हमारे नेता हैं और हमें उनके साथ काम करने में हमेशा गर्व और खुशी महसूस होता है."

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

शिवराज सिंह चौहान ने मतदाताओं को धन्यवाद देते हुए कहा कि लोगों ने भाजपा को अभूतपूर्व समर्थन दिया.