"शॉर्टकट राजनीति करने वालों से सावधान रहें": प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी

प्रधानमंत्री ने लोगों से आग्रह किया कि वे ‘‘शॉर्टकट’’ राजनीति करने, करदाताओं का पैसा लूटने और झूठे वादों के जरिए सत्ता हासिल करने वाले नेताओं से सतर्क रहें. उन्होंने कहा, ‘‘शॉर्टकट राजनीति से देश का विकास नहीं हो सकता.’’

पीएम मोदी ने रविवार को यहां नागपुर-मुंबई ‘समृद्धि एक्सप्रेसवे’ के पहले चरण का उद्घाटन किया.

नागपुर:

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रविवार को कहा कि देश को ‘‘शॉर्टकट राजनीति'' नहीं, बल्कि सतत विकास की आवश्यकता है. पीएम मोदी ने कुछ राजनीतिक दलों पर देश की अर्थव्यवस्था को नष्ट करने का आरोप लगाया. उन्होंने कहा कि इससे पहले करदाताओं का धन भ्रष्टाचार एवं वोट बैंक की राजनीति में नष्ट हो जाता था. पीएम मोदी ने यहां 75,000 करोड़ रुपये की विभिन्न परियोजनाओं के लोकार्पण और उद्घाटन के बाद एक जनसभा को संबोधित करते हुए कहा कि पिछले आठ वर्ष में भारत में बुनियादी ढांचे के विकास में मानवीय पहलू शामिल रहा है.

पीएम मोदी ने रविवार को यहां नागपुर-मुंबई ‘समृद्धि एक्सप्रेसवे' के पहले चरण का उद्घाटन किया. कुल 520 किलोमीटर लंबा पहला चरण नागपुर को अहमदनगर जिले के शिरडी से जोड़ता है. इसके अलावा प्रधानमंत्री ने नागपुर-बिलासपुर वंदे भारत एक्सप्रेस ट्रेन को हरी झंडी दिखाकर रवाना किया. साथ ही उन्होंने नागपुर मेट्रो रेल परियोजना के पहले चरण और नागपुर में अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (एम्स) का भी उद्घाटन किया.

उन्होंने कहा, ‘‘एक विकसित भारत का सपना सभी राज्यों की एकजुट शक्ति, प्रगति और विकास के माध्यम से एक वास्तविकता बन सकता है. जब विकास के प्रति हमारा दृष्टिकोण संकीर्ण होता है तो अवसर भी सीमित होते हैं.''पीएम मोदी ने कहा, ‘‘हमने पिछले आठ साल में ‘सबका साथ, सबका विश्वास और सबका प्रयास' के साथ लोगों की मानसिकता और दृष्टिकोण को बदला है.'' उन्होंने कहा कि नागपुर में शुरू की गई परियोजनाओं ने विकास के समग्र दृष्टिकोण को पेश किया है.

प्रधानमंत्री ने लोगों से आग्रह किया कि वे ‘‘शॉर्टकट'' राजनीति करने, करदाताओं का पैसा लूटने और झूठे वादों के जरिए सत्ता हासिल करने वाले नेताओं से सतर्क रहें. उन्होंने कहा, ‘‘शॉर्टकट राजनीति से देश का विकास नहीं हो सकता.'' पीएम मोदी ने कहा, ‘‘कुछ राजनीतिक दल देश की अर्थव्यवस्था को नष्ट करने की कोशिश कर रहे हैं और लोगों को ऐसे नेताओं एवं दलों को बेनकाब करना चाहिए. मेरा सभी नेताओं से आग्रह है कि वे शॉर्टकट राजनीति के बजाय सतत विकास पर ध्यान दें. आप सतत विकास के साथ चुनाव जीत सकते हैं.''

प्रधानमंत्री ने कहा कि पहले करदाताओं का पैसा भ्रष्टाचार और वोटबैंक की राजनीति में बर्बाद हो जाता था. उन्होंने कहा कि उनकी सरकार समग्र और आधुनिक बुनियादी ढांचे के विकास पर ध्यान केंद्रित कर रही है, जो ‘‘भविष्य के लिए तैयार'' है. पीएम मोदी ने अपने द्वारा शुरू की गई 11 विकास परियोजनाओं को महाराष्ट्र का 'रत्न' बताया. उन्होंने कहा कि डबल इंजन सरकार राज्य में विकास को गति दे रही है. प्रधानमंत्री ने भंडारा जिले में गोसीखुर्द बांध परियोजना का उदाहरण देते हुए पिछली सरकारों की आलोचना की. यह परियोजना तीन दशकों से लंबित थी.

उन्होंने कहा, ‘‘ लेकिन डबल इंजन की सरकार आने के बाद गोसीखुर्द परियोजना अब पूरी होने वाली है. ''पीएम मोदी ने कहा कि समाज के वंचित तबके भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) की सरकार के लिए हमेशा से ही प्राथमिकता रहे हैं. उन्होंने कहा कि सतत विकास और स्थायी समाधान ने गुजरात में हाल ही में संपन्न विधानसभा चुनावों में पार्टी की बड़ी जीत का मार्ग प्रशस्त किया. प्रधानमंत्री ने कहा कि आयुष्मान भारत योजना सामाजिक बुनियादी ढांचे के विकास का एक उदाहरण है, जबकि जन धन योजना वित्तीय बुनियादी ढांचे के विकास का एक उदाहरण है.

पीएम मोदी ने अपने संबोधन की शुरुआत में मराठी भाषा में कहा, ‘‘ आज संकष्टी चतुर्थी है. भगवान श्री गणेश की पूजा करने के बाद सभी शुभ कार्यों की शुरुआत की जाती है. मैं टेकड़ी गणपति बप्पा को अपना प्रणाम करता हूं. ''पीएम मोदी ने एम्स के कुछ छात्रों के साथ जीरो माइल फ्रीडम पार्क और खपरी स्टेशनों के बीच मेट्रो ट्रेन में यात्रा कर नागपुर मेट्रो रेल परियोजना के पहले चरण का उद्घाटन किया. इस दौरान उन्होंने छात्रों से बात भी की. ट्रेन में सवार होने से पहले, उन्होंने जीरो माइल स्टेशन पर परियोजना पर एक प्रदर्शनी का भी अवलोकन किया.

नागपुर-मुंबई ‘समृद्धि एक्सप्रेसवे' के पहले चरण का उद्घाटन करने के बाद, उन्होंने एक कार में 10 किलोमीटर की यात्रा भी की. कुल 520 किलोमीटर लंबा पहला चरण नागपुर को अहमदनगर जिले के शिरडी से जोड़ता है. इसका आधिकारिक नाम ‘हिंदू हृदयसम्राट बालासाहेब ठाकरे महाराष्ट्र समृद्धि महामार्ग' रखा गया है. परियोजना की कुल लंबाई 701 किलोमीटर होगी. इस परियोजना की परिकल्पना उपमुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने तब पेश की थी, जब वह 2015 में मुख्यमंत्री थे. ‘समृद्धि एक्सप्रेसवे' का काम पूरा हो जाने के बाद नागपुर से मुंबई के बीच की सड़क यात्रा का समय घटकर सात घंटे रह जाएगा.

प्रधानमंत्री ने नागपुर और अजनी रेलवे स्टेशनों के पुनर्विकास की आधारशिला भी रखी. इस परियोजना के तहत, नागपुर रेलवे स्टेशन उन्नत प्रतीक्षा क्षेत्र और बैठने की क्षमता से सुसज्जित होगा. स्टेशन पर यात्रियों को विश्वस्तरीय यात्रा सेवाएं प्रदान की जाएंगी. स्टेशन दोपहिया वाहनों और कारों के लिए पार्किंग सुविधा, 30 लिफ्ट और 31 एस्केलेटर से सुसज्जित होगा. स्टेशन और उसके आस-पास के क्षेत्र का भी विकास किया जाएगा.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

पीएम मोदी ने नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ वन हेल्थ, नागपुर और नाग नदी प्रदूषण उपशमन परियोजना की आधारशिला भी रखी. उन्होंने चंद्रपुर में सेंट्रल इंस्टीट्यूट ऑफ पेट्रोकेमिकल्स इंजीनियरिंग एंड टेक्नोलॉजी (सीआईपीईटी) और चंद्रपुर में सेंटर फॉर रिसर्च मैनेजमेंट एंड कंट्रोल ऑफ हेमोग्लोबिनोपैथीज का दूर से उद्घाटन किया.



(इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)

Featured Video Of The Day

गाजियाबाद में कोर्ट के फर्स्ट फ्लोर पर आया तेंदुआ