बाबा साहेब अंबेडकर की पुण्यतिथि आज, PM मोदी, CM योगी समेत तमाम दिग्गजों ने दी श्रद्धांजलि

पीएम मोदी ने 'एक्स' पर एक पोस्ट में कहा, ‘पूज्य बाबासाहेब PM Modi Tribute Baba Saheb Ambedkar On Death Anniversary) भारतीय संविधान के शिल्पकार होने के साथ-साथ सामाजिक समरसता के अमर पुरोधा थे, जिन्होंने शोषितों और वंचितों के कल्याण के लिए अपना जीवन समर्पित कर दिया.

नई दिल्ली:

संविधान निर्माता बाबा साहेब भीमराव आंबेडकर की पुण्यतिथि (PM Modi Tribute Baba Saheb Ambedkar On Death Anniversary) पर प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी, यूपी के सीएम योगी आदित्नाथ, कांग्रेस पार्टी, दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल, बीएसपी चीफ मायावती, सपा अध्यश्र अखिलेश यादव समेत तमाम नेताओं ने उन्हें श्रद्धांजलि अर्पित की. इस दौरान पीएम मोदी ने और कहा कि वह न सिर्फ संविधान के शिल्पकार थे बल्कि शोषितों और वंचितों के कल्याण के लिए अपना जीवन समर्पित करने वाले सामाजिक समरसता के अमर पुरोधा भी थे.

पीएम मोदी ने 'एक्स' पर एक पोस्ट में कहा, ‘पूज्य बाबासाहेब भारतीय संविधान के शिल्पकार होने के साथ-साथ सामाजिक समरसता के अमर पुरोधा थे, जिन्होंने शोषितों और वंचितों के कल्याण के लिए अपना जीवन समर्पित कर दिया. आज उनके महापरिनिर्वाण दिवस पर उन्हें मेरा सादर नमन.' बता दें कि बाबासाहेब आंबेडकर का निधन छह दिसंबर 1956 को नई दिल्ली में हुआ था.

पीएम मोदी ने बाबा साहेब को दी श्रद्धांजलि

संसद भवन में संविधान निर्माता को श्रद्धांजलि

पीएम मोदी बबा साहेब को श्रद्धांजलि अर्पित करने संसद भवन पहुंचे थे. इस दौरान उनके साथ राष्ट्रपति द्रोपदी मुर्मू, उपराष्ट्रपति जगदीप धनखड़, लोकसभा स्पीकर ओम बिरला समेत कई अन्य नेता मौजूद रहे. पीएम मोदी के साथ ही उपराष्ट्रपति जगदीप धनखड़ ने भी बाबा साहेब अंबेडकर के महापरनिर्वाण दिवस पर उनको संसद भवन मे श्रद्धांजलि अर्पित की.  

CM योगी ने बाबा साहेब को अर्पित किए श्रद्धा सुमन

यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ और उपमुख्यमंत्री ब्रजेश पाठक ने लखनऊ में डॉ. बीआर अंबेडकर को उनकी पुण्यतिथि पर श्रद्धांजलि दी.

कांग्रेस की डॉ. भीमराव अंबेडकर को श्रद्धांजलि

कांग्रेस पार्टी बाबा साहेब को उनकी पुण्यतिथि पर श्रद्धांजलि अर्पित की. पार्टी की तरफ से एक्स पर पोस्ट कर लिखा गया, "भारत के संविधान निर्माता एवं शोषितों और वंचितों के संरक्षक, बाबासाहेब डॉ. भीमराव रामजी अंबेडकर जी की पुण्यतिथि पर उन्हें सादर नमन." आजाद भारत के संविधान निर्माण और शोषित वर्ग के उत्थान में आपका योगदान हम सभी के लिए प्रेरणा स्त्रोत है."

मायावती ने बाबा साहेब को दी श्रद्धांजलि

बहुजन समाज पार्टी की अध्यक्ष मायावती ने भी बाबा साहेव को उनकी पुणयतिथि पर श्रद्धांजलि अर्पित की. उन्होंने एक्स पर पोस्ट कर लिखा,"लगभग 140 करोड़ की विशाल आबादी वाले भारत के ग़रीबों, मज़दूरों, दलितों, आदिवासियों, अतिपिछड़ों सहित उपेक्षित बहुजनों के मसीहा और देश के मानवतावादी समतामूलक संविधान के निर्माता भारतरत्न परमपूज्य बाबा साहेब डा. भीमराव अम्बेडकर को आज उनके परिनिर्वाण दिवस पर अपार श्रद्धा-सुमन अर्पित."

अखिलेश यादव ने बाबा साहेब को दी श्रद्धांजलि

समाजवादी पार्टी अध्यक्ष अखिलेश यादव ने भी बाबा साहेब की पुण्यतिथि पर उनको याद किया. उन्होंने एक्स पर उनके फोटो के साथ पोस्ट कर लिखा,"भारतीय संविधान के शिल्पकार, सामाजिक न्याय के अग्रदूत 'भारत रत्न' बाबा साहब डॉ. भीमराव अंबेडकर जी के परिनिर्वाण दिवस पर भावभीनी श्रद्धांजलि."

CM अरविंद केजरीवाल ने बाबा साहेब को किया नमन

दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल ने आम आदमी पार्टी मुख्यालय में बाबा साहब अंबेडकर को श्रद्धांजलि देने वाले कार्यक्रम में कहा," बाबा साहेब बहुत ग़रीब परिवार से आते थे, उन्हें क्लास में नहीं घुसने दिया जाता था, पानी नहीं पीने दिया जाता था. इन सबके बावजूद वे कोलंबिया यूनिवर्सिटी तक पहुंच गए. आज अगर अमेरिका, फ़्रांस, इटली में कहीं किसी यूनिवर्सिटी में एडमिशन लेना हो तो गूगल से अप्लाई कर सकते हैं. उस समय उन्हें किसने बताया होगा. उन्होंने कोलम्बिया यूनिवर्सिटी से PHD की. दूसरी PHD लंदन स्कूल ऑफ़ इकोनॉमिक्स से की. उन्होंने शिक्षा को बहुत महत्व दिया."

सीएम केजरीवाल ने कहा कि हमारे देश का दुर्भाग्य है कि वे जल्दी हमें छोड़कर चले गए. अगर दस साल और रह जाते तो सभी स्कूलों की ठीक कर देते. आज़ादी के आंदोलन ने बड़े बड़े सूरमा पैदा किए लेकिन एक अकेले  शख़्स थे, जिसने शिक्षा को महत्व दिया. आज़ादी के 75 साल में सभी पार्टियों ने मिलकर शिक्षा का स्कूलों का बेड़ा गर्क कर दिया. 


 

6 दिसंबर 1956 को हुआ था बाबा साहेब का निधन

बाबा साहेब अंबेडकर का निधन 6 दिसंबर 1956 को दिल्ली में हुआ था. इस दिन को बाबा साहेब के महापरिनिर्वाण दिवस के तौर पर मनाया जाता है. बाबा साहेब न सिर्फ संविधान निर्माता बल्कि एक फेमस राजनीतिज्ञ और फेमस न्यायविद भी थे. उन्होंने जीवन भर जाति, सामाजिक अन्याय को समाज से मिटाने के लिए काम किया.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

ये भी पढ़ें-बाबरी मस्जिद विध्वंस की बरसी : अयोध्या में हाई अलर्ट जारी, चप्पे-चप्पे पर बढ़ाई सुरक्षा