विज्ञापन
Story ProgressBack

चुनावी सभा में दिवंगत रामविलास पासवान के लिए वोट मांगने लगे नीतीश कुमार, फिर...

नीतीश कुमार हाजीपुर के देसरी में चिराग पासवान के लिए चुनावी सभा करने पहुंचे थे. जब लोगों से वोट की अपील करने की बारी आई तो नीतीश कुमार चिराग के दिवंगत पिता रामविलास पासवान के लिए वोट मांगने लगे.

Read Time: 3 mins

नीतीश कुमार हाजीपुर के देसरी में चिराग पासवान के लिए चुनावी सभा करने पहुंचे थे.

पटना:

लोकसभा चुनाव (Lok Sabha Elections 2024) को लेकर नेता चुनाव प्रचार में जुटे हैं. चुनावी गर्मी और रैलियों के दौरान कई बार नेताओं की जुबान फिसल ही जाती है. ऐसा ही हुआ बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार (Nitish Kumar) के साथ जब वे दिवंगत रामविलास पासवान (Ram Vilas Paswan) के लिए वोट मांगने लगे. इस दौरान चिराग पासवान भी नीतीश कुमार के पास ही खड़े थे. हालांकि नीतीश कुमार को तुरंत ही अपनी भूल का अहसास हुआ और उन्‍होंने सॉरी भी कहा. बाद में उन्‍होंने चिराग पासवान (Chirag Paswan) के लिए वोट की अपील की. 

नीतीश कुमार हाजीपुर के देसरी में चिराग पासवान के लिए चुनावी सभा करने पहुंचे थे. जब लोगों से वोट की अपील करने की बारी आई तो नीतीश कुमार चिराग के दिवंगत पिता रामविलास पासवान के लिए वोट मांगने लगे. लेकिन नीतीश कुमार को तुरंत अपनी गलती का एहसास हुआ. गलती सुधारते हुए उन्‍होंने कहा कि सामने रामविलास पासवान की फोटो लगी है लेकिन अब आपको वोट रामविलास पासवान के बेटे चिराग पासवान के लिए करना है. नीतीश कुमार ने लोगों से अपील करते हुए कहा कि जिस तरीके से आप लोगों ने रामविलास पासवान को रिकॉर्ड वोटों से जिताया है उसी तरीके से चिराग पासवान को भी रिकॉर्ड वोटों से जिताइए. 

नीतीश कुमार ने कहा, "बिहार का कोई भी काम पीछे नहीं रहेगा, हर तरह से होगा. इसीलिए हम लोग तो यही कहने आए हैं कि भाई रामविलास जी को (वोट) दीजिए... सॉरी...रामविलास जी के पुत्र को, आप दीजिए चिराग पासवानजी को. अब जब इतना ज्‍यादा देते ही थे रामविलास पासवान जी को... यहीं पर है फोटो... तो अब इनको दीजिए ये तो नौजवान हैं. ये आगे बढ़ेगा और खूब काम करेगा."

पहले भी फिसली है नीतीश कुमार की जुबान 

यह कोई पहला मामला नहीं है जब नीतीश कुमार की किसी चुनावी सभा के दौरान जुबान फिसली हो. कई और मौकों पर भी नीतीश कुमार ऐसी गलती कर चुके हैं. 12 अप्रैल को नवादा में आयोजित एक रैली के दौरान उन्‍होंने कहा कि इस बार एनडीए के 4 हजार से भी ज्यादा एमपी जीतेंगे. इससे पहले 7 अप्रैल को भी उन्‍होंने यह आंकड़ा बताया था. वहीं नीतीश अपने ही एक विधायक पर निशाना साधने के दौरान उन्‍हें सांसद बता दिया था. 

चिराग पासवान की पार्टी को मिली हैं 5 सीटें 

बिहार में लोकसभा की 40 सीटें हैं. गठबंधन के तहत भाजपा ने चिराग पासवान की पार्टी लोक जनशक्ति पार्टी (रामविलास) के लिए 5 सीटें छोड़ी हैं. इनमें से हाजीपुर भी एक है, जहां से खुद चिराग पासवान चुनाव मैदान में हैं. वहीं 17 सीटों पर भाजपा और 16 सीटों पर जेडीयू चुनाव मैदान में है. जीतन राम मांझी की हिंदुस्तानी अवाम मोर्चा और उपेंद्र कुशवाहा की पार्टी राष्‍ट्रीय लोक मोर्चा को एक-एक सीट दी गई है. 

ये भी पढ़ें :

* बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की फिर फिसली जुबान, कहा- '1944 में इनलोगों ने गड़बड़ किया...'
* मुंगेर लोकसभा सीट : लालू के रचे गए जातीय चक्रव्यूह में ललन सिंह को नीतीश के विकास और मोदी लहर का सहारा
* Exclusive : "हम छोटा भाई बोलते थे, लेकिन..." : RJD के साथ नीतीश कुमार की वापसी के सवाल पर लालू यादव

NDTV.in पर ताज़ातरीन ख़बरों को ट्रैक करें, व देश के कोने-कोने से और दुनियाभर से न्यूज़ अपडेट पाएं

फॉलो करे:
डार्क मोड/लाइट मोड पर जाएं
Our Offerings: NDTV
  • मध्य प्रदेश
  • राजस्थान
  • इंडिया
  • मराठी
  • 24X7
Choose Your Destination
Previous Article
दिल्ली में 60 साल में ऐसी गर्मी, 1964 का टूटा रेकॉर्ड, लेकिन बस आ रही गुड न्यूज
चुनावी सभा में दिवंगत रामविलास पासवान के लिए वोट मांगने लगे नीतीश कुमार, फिर...
कांग्रेस ने संसद के भीतर मूर्तियों के स्थानांतरण को लेकर सरकार की आलोचना की, 'एकतरफा' कदम बताया
Next Article
कांग्रेस ने संसद के भीतर मूर्तियों के स्थानांतरण को लेकर सरकार की आलोचना की, 'एकतरफा' कदम बताया
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com
;