यह ख़बर 08 जुलाई, 2014 को प्रकाशित हुई थी

बैंकों में पड़े 5,000 करोड़ रुपये से अधिक राशि का कोई दावेदार नहीं

फाइल फोटो

नई दिल्ली:

देश के बैंकों में करीब पांच हजार करोड़ रुपया ऐसा पड़ा है, जिसका कोई भी दावेदार नहीं है। बैंकों के पास बीती 31 दिसंबर की स्थिति के मुताबिक, 5124 करोड़ रुपये की जमाराशि बिना दावे के पड़ी थी। संसद को आज यह जानकारी दी गई।

वित्त राज्यमंत्री निर्मला सीतारमण ने राज्यसभा को एक लिखित उत्तर में बताया, 'बिना दावे वाली कुल राशि (10 वर्ष से अधिक पुरानी) अनुसूचित वाणिज्यिक बैंकों में पड़ी हुई थीं.. 31 दिसंबर, 2013 के अंत तक यह राशि 51,24,98,11,927 रुपये थी।

मंत्री ने कहा कि समय समय पर रिजर्व बैंक ने बैंकों को खाताधारकों का पता लगाने के लिए अधिक सक्रिय भूमिका निभाने को कहा है, जिनके खाते संचालन में नहीं हैं।

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


बैंकों को यह परामर्श भी दिया गया है कि बगैर दावे वाली राशि और 10 साल या उससे अधिक समय तक बगैर परिचालन वाले खातों की सूची को प्रदर्शित करें और वे अपने वेबसाइट को नियमित अंतराल पर अपडेट करता रहे।