महाराष्‍ट्र : गढ़चिरौली में पुलिस के साथ मुठभेड़ में दो लाख का इनामी नक्‍सली ढेर, हथियार भी बरामद

पुलिस ने मुठभेड़ के दौरान दो लाख के एक नक्‍सली को मार गिराया. मौके से बड़ी संख्या में हथियार और नक्‍सलियों का काफी सामान भी बरामद किया गया है. 

महाराष्‍ट्र : गढ़चिरौली में पुलिस के साथ मुठभेड़ में दो लाख का इनामी नक्‍सली ढेर, हथियार भी बरामद

नक्‍सलियों से बड़ी संख्या में हथियार और काफी सामान बरामद किया गया है.

गढ़चिरौली :

महाराष्‍ट्र के गढ़चिरौली जिले में एक बार फिर पुलिस और नक्‍सलियों के बीच मुठभेड़ हुई है, जिसमें पुलिस को एक नक्सली को ढेर करने में कामयाबी मिली है. पुलिस के मुताबिक, इस नक्‍सली पर महाराष्ट्र सरकार ने दो लाख रुपए का इनाम घोषित किया था. दरअसल हाल के दिनों में जिले के टोडगट्टा क्षेत्र में नक्सलियों ने स्थानीय आबादी को आंदोलन में शामिल होने की धमकी दी थी, जिसके बाद नक्‍सल विरोधी अभियान शुरू किया गया था. पुलिस ने मौके से हथियार भी बरामद किए हैं. 

पुलिस के मुताबिक, मुठभेड़ में 31 साल के नक्सली समीर उर्फ ​​साधु मोहनदा की मौत हो गई और उस पर कई संगीन आरोप थे. वह साल 2014-15 में चटगांव दलम में सदस्य के रूप में भर्ती हुआ था. उसके बाद  2017 से वह भास्कर के प्लाटून क्रमांक 2 में सुरक्षा गार्ड था और साल 2018 से वह कंपनी फोर में काम कर रहा था. प्रारंभिक रिपोर्टों से पता चलता है कि वह वर्तमान में कंपनी नंबर 1 में काम कर रहा था.  

टोडगट्टा क्षेत्र में नक्सलियों ने स्थानीय आबादी को आंदोलन में शामिल होने की धमकी दी थी. साथ ही स्थानीय ग्रामीणों को उकसाने के लिए दमकोदवाही खनन के झूठे बहाने से सड़क निर्माण और अन्य विकास कार्यों के विरोध में पर्चे बांटे थे. 

पुलिस को एक विश्वसनीय इनपुट था कि ग्रामीणों को डराने के लिए टोडगट्टा के पास नक्सलियों का बड़ा जमावड़ा मौजूद है और वे बड़े पैमाने पर घात लगाने और पुलिस दलों पर हमले की योजना बना रहे हैं. इसका मुकाबला करने के लिए आज तड़के सी- 60 कमांडो का एक नक्सल विरोधी अभियान शुरू किया गया. 

ऑपरेशन के दौरान ही 60 से 70 नक्सलियों के एक समूह ने जवानों को मारने और उनके हथियार लूटने के इरादे से बीजीएल और अन्य हथियारों का इस्तेमाल करते हुए जांभ्या गट्टा एओपी के हिकर वन क्षेत्र में अंधाधुंध गोलीबारी की.

पुलिस की ओर से सरेंडर करने के लिए बार-बार कहने के बावजूद नक्सलियों ने पुलिस पार्टी पर अंधाधुंध फायरिंग जारी रखी. जवाबी कार्रवाई करने और लगभग एक घंटे तक चली मुठभेड़ के बाद आखिरकार नक्सली पुलिस के बढ़ते दबाव को देखकर घने जंगल में भाग गए. मुठभेड़ के बाद जब जवानों ने वन क्षेत्र में तलाशी ली तो घटना स्थल पर एक नक्सली का शव मिला, जिसकी पहचान समीर उर्फ ​​साधु मोहनदा के तौर पर हुई. 

पुलिस को मौके से बड़ी संख्या में हथियार भी बरामद किए हैं. जिसमें एक देसी राइफल, एक भरमार और एक .303 राइफल भी शामिल है. इसके साथ ही नक्‍सलियों का काफी सामान भी बरामद किया गया है. 

जिले के एसपी नीलोत्पल के मुताबिक, वन क्षेत्र में अभी भी सर्च ऑपरेशन और अपराध दर्ज करने की प्रक्रिया जारी है और आगे की जांच की जा रही है. उन्‍होंने इस कठिन इलाके में ऑपरेशन के दौरान असाधारण प्रदर्शन के लिए सी-60 जवानों की सराहना की. साथ ही उन्‍होंने सभी नक्सलियों से आत्मसमर्पण कर विकास की मुख्यधारा में शामिल होने का आग्रह किया है. 

ये भी पढ़ें :

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

* शिवसेना सांसद संजय राउत को मिली जान से मारने की धमकी, लॉरेंस विश्नोई के नाम से आया मैसेज
* महाराष्ट्र में सरपंच ने हवा में 2 लाख रुपए उड़ाकर किया प्रदर्शन, कुंआ मंजूरी के लिए अधिकारी ने मांगी थी रिश्वत
* महाराष्ट्र के संभाजीनगर हिंसा मामले में पुलिस ने 400 से ज्यादा लोगों के खिलाफ दर्ज किया मुकदमा