गलवान घाटी से लेकर फिंगर फोर तक सीमा विवाद पर आज भारत और चीन की लेफ्टिनेंट जनरल स्तर की बातचीत

गलवान घाटी से लेकर फिंगर फोर तक सीमा विवाद पर आज भारत और चीन की लेफ्टिनेंट जनरल स्तर की बातचीत होगी.

गलवान घाटी से लेकर फिंगर फोर तक सीमा विवाद पर आज भारत और चीन की  लेफ्टिनेंट जनरल स्तर की बातचीत

नई दिल्ली:

भारत और चीनी सैनिकों के मध्य झड़प के बीच आज गलवान घाटी से लेकर फिंगर फोर तक सीमा विवाद पर आज दोनों देशों के  लेफ्टिनेंट जनरल स्तर की बातचीत होगी. इसमें सीमा विवाद से जुड़े हर मुद्दे पर बात होगी. सेना से जुड़े सूत्रों ने कहा कि गलवान घाटी से लेकर फिंगर फोर तक की चर्चा की जाएगी. वहीं, समाचार एजेंसी एएनआई ने सूत्रों के हवाले से बताया कि भारत और चीन लद्दाख में जारी तनाव पर चर्चा के लिए मोलदो में कमांडर स्तर की वार्ता करेंगे. 

इससे पहले, 6 जून को लेफ्टिनेट स्तर की बातचीत हुई थी. उस समय तनाव को कम करने की कोशिश करने के रूप में भारत और चीन अपने-अपने सैनिकों पर पीछे करने के लिए सहमत हुए थे. 

चीन ने 6 जून को दोनों पक्षों के लेफ्टिनेंट जनरल-रैंक के अधिकारियों के बीच बातचीत के बाद टेंट को हटाने पर सहमति जताई थी. 15 जून को चीन के टेंट हटाने से इनकार करने के बाद दोनों देशों के सैनिकों  के बीच झड़प हो गई. जिसमें 20 भारतीय जवानों की जान कुर्बान हुई थी. सेना के सूत्रों के मुताबिक, चीन के 45 सैनिकों के मारे जाने या घायल होने की खबर है. 

रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह (Rajnath Singh) ने रूस के लिए रवाना होने से पहले रविवार को तीनों सेनाओं के प्रमुखों के साथ बातचीत की. इस बैठक में भारत-चीन के बीच एलएसी पर तनाव को लेकर हालात की समीक्षा की गई. बैठक में सीडीएस जनरल बिपिन रावत और सेना के तीनों अंगों के प्रमुख मौजूद रहे.  बैठक में निर्णय लिया गया कि भारत ने एलओसी पर तनाव नहीं बढ़ाया है, लेकिन यदि दूसरा पक्ष तनाव बढ़ाता है तो उसी भाषा में उसे जवाब दिया जाएगा. बैठक में सेनाओं की तैयारियां की भी समीक्षा की गई.

वीडियो: गलवान घाटी में चीनी सैनिकों के साथ झड़प में भारत के 20 जवानों की गई जान

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com