विज्ञापन
Story ProgressBack

गौतम अदाणी लखीमपुरी खीरी की लाचार लवली के लिए आगे आए, इलाज और पढ़ाई का उठाएंगे खर्च

बच्ची अपने दादा-दादी के साथ एक छोटे से कच्चे घर में रहती है. परिवार बहुत तंगहाली में गुजारा कर रहा है. अदाणी ग्रुप से मदद मिलने की खबर पाकर लवली के दादा-दादी बेहद खुश हैं. उन्होंने गौतम अदाणी और अदाणी ग्रुप का शुक्रिया अदा किया है.

Read Time: 3 mins
नई दिल्ली:

अदाणी ग्रुप (Adani Group) ने उत्तर प्रदेश के लखीमपुरी खीरी में एक लाचार बच्ची की मदद करने का फैसला किया है. बच्ची का नाम लवली है. बच्ची का बायां पैर और हाथ बचपन से टेढ़ा है. इससे उसे रोजमर्रा के कामों में भारी दिक्कत होती है. परिवार बच्ची का इलाज कराने में आर्थिक रूप से सक्षम नहीं है. अदाणी ग्रुप के चेयरमैन गौतम अदाणी (Gautam Adani) ने शुक्रवार को X पर पोस्ट करके जानकारी दी कि अदाणी फाउंडेशन (Adani Foundation) बच्ची की हर संभव मदद करेगा.

गौतम अदाणी ने X हैंडल से पोस्ट किया, "एक बेटी का बचपन यूं छिन जाना दुखद है. छोटी सी उम्र में लवली और उसके दादा-दादी का संघर्ष बताता है कि एक आम भारतीय परिवार कभी हार नहीं मानता. अदाणी फाउंडेशन यह सुनिश्चित करेगा कि लवली को बेहतर इलाज मिले. वो भी बाकी बच्चों के साथ कदम से कदम मिलाकर आगे बढ़ सके. हम सब लवली के साथ हैं."

रिपोर्ट के मुताबिक, लखीमपुर खीरी के कंधारा गांव की रहने वाली लवली की मां का निधन बचपन में हो गया था. पिता सौतेली मां ले आया, तो बच्ची दादा-दादी के पास रहने लगी. बच्ची पांचवीं क्लास में पढ़ती है. बात इतनी ही होती तब भी जिंदगी गुजर बसर की जा सकती थी, लेकिन इस बच्ची का बांया पैर और हाथ दोनों ही बचपन में टेढ़े हो गए. परिवार की हालत ऐसी नहीं कि उसका इलाज कराया जा सके.

NDTV के रिपोर्टर रवीश रंजन शुक्ला ने X हैंडल पर 13 मई को इस बच्ची के बारे में एक पोस्ट शेयर किया था. गौतम अदाणी ने इस पोस्ट पर संज्ञान लेते हुए बच्ची के लिए मदद का हाथ बढ़ाया है. अदाणी ग्रुप की मदद से बच्ची और उसके दादा-दादी का आर्थिक संघर्ष खत्म होगा.

Latest and Breaking News on NDTV

अदाणी फाउंडेशन की तरफ से मदद के बाद NDTV से बात करते हुए लवली के दादा ओमप्रकाश भावुक हो गए. उन्होंने बताया कि लवली अपने भविष्य को लेकर परेशान रहती थी. वह पूछती कि वो कहां तक पढ़ पाएगी? लेकिन अब इस मदद के बाद बेहतर कल की आस जगी है. लवली का संघर्ष उन तमाम बच्चों में उम्मीद जगाता है, जो बेहतर भविष्य के लिए लगातार कोशिश कर रहे हैं. 

इसके पहले भी गौतम अदाणी उत्तर प्रदेश में रहने वाली 4 साल की एक मासूम बेटी के लिए फरिश्ता बने थे. उनकी पहल पर 4 साल की मनुश्री के दिल के छेद का पीजीआई में इलाज हुआ था.

ये भी पढ़ें:-

दिव्यांगों की मदद के लिए अदाणी फाउंडेशन की बड़ी पहल, रोजगार मेले का आयोजन कर 111 को दी नौकरी

"आपके जज्बे को प्रणाम": अदाणी ग्रुप के चेयरमैन गौतम अदाणी ने J&K के दिव्यांग क्रिकेटर को सहयोग का किया वादा

Adani Total Gas Q3 रिजल्ट: अदाणी टोटल गैस का मुनाफा 18% बढ़ा, इनकम में 4.9% का उछाल

(Disclaimer: New Delhi Television is a subsidiary of AMG Media Networks Limited, an Adani Group Company.)

NDTV.in पर ताज़ातरीन ख़बरों को ट्रैक करें, व देश के कोने-कोने से और दुनियाभर से न्यूज़ अपडेट पाएं

फॉलो करे:
डार्क मोड/लाइट मोड पर जाएं
Our Offerings: NDTV
  • मध्य प्रदेश
  • राजस्थान
  • इंडिया
  • मराठी
  • 24X7
Choose Your Destination
Previous Article
" बेटे पर गर्व है ": डोडा में शहीद हुए कैप्टन बृजेश थापा के माता-पिता
गौतम अदाणी लखीमपुरी खीरी की लाचार लवली के लिए आगे आए, इलाज और पढ़ाई का उठाएंगे खर्च
आधार कार्ड क्यों मांग रहीं कंगना रनौत? कांग्रेस हुई हमलावर- "हमारे दरवाजे सबके लिए खुले"
Next Article
आधार कार्ड क्यों मांग रहीं कंगना रनौत? कांग्रेस हुई हमलावर- "हमारे दरवाजे सबके लिए खुले"
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com
;