विज्ञापन
Story ProgressBack

फैक्ट चैक : प्रयागराज में राहुल गांधी और अखिलेश यादव के वापस भागने का दावा गलत

बूम ने अपनी जांच में पाया कि वायरल दावा भ्रामक है. वीडियो प्रयागराज के फूलपुर क्षेत्र का है, जहां अपने नेताओं को देखकर उनके समर्थक बेकाबू हो गए और अफरातफरी भी मच गई. बेकाबू भीड़ और माइक खराब होने के चलते राहुल और अखिलेश बिना भाषण दिए ही चले गए.

Read Time: 3 mins
फैक्ट चैक : प्रयागराज में राहुल गांधी और अखिलेश यादव के वापस भागने का दावा गलत

एक विशाल मैदान में भागती भीड़ का एक वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल है. इसमें लोग अपने हाथ में समाजवादी पार्टी (सपा) के झंडे लिए हुए दिख रहे हैं. वीडियो को लेकर यूजर्स दावा कर रहे हैं कि उत्तर प्रदेश के प्रयागराज में देरी को लेकर गुस्साए कार्यकर्ताओं ने कांग्रेस नेता राहुल गांधी और सपा मुखिया अखिलेश यादव को वापस भगा दिया.

बूम ने अपनी जांच में पाया कि वायरल दावा भ्रामक है. वीडियो प्रयागराज के फूलपुर क्षेत्र का है, जहां अपने नेताओं को देखकर उनके समर्थक बेकाबू हो गए और अफरातफरी भी मच गई. बेकाबू भीड़ और माइक खराब होने के चलते राहुल और अखिलेश बिना भाषण दिए ही चले गए.

एक एक्स यूजर ने #LokbaSabhaelections2024 हैशटैग के साथ वीडियो पोस्ट करते हुए लिखा, 'प्रयागराज में राहुल अखिलेश को भगाया, लेट पंहुचने की वजह से गुस्से में बेकाबू हुए कार्यकर्ता, अखिलेश जी ने 15 मिनट समझाया लेकिन नहीं माने.'

फैक्ट चेक

वायरल वीडियो में इंडिया टीवी का लोगो लगा हुआ था. बूम ने वीडियो से संबंधित कीवर्ड्स से गूगल पर सर्च किया. हमें न्यूज आउटलेट इंडियाटीवी की वेबसाइट पर 19 मई 2024 की एक रिपोर्ट मिली, जिसमें यह वीडियो भी था.

रिपोर्ट में बताया गया कि यूपी के प्रयागराज में फूलपुर के पंडिला में INDIA गठबंधन की जनसभा थी, जिसमें अखिलेश यादव के पहुंचते ही कार्यकर्ता बेकाबू हो गए और बेरिकेटिंग तोड़कर मंच पर चढ़ने की कोशिश करने लगे. इससे जनसभा में भारी भगदड़ मच गई. भगदड़ मच जाने की वजह से कई लोग घायल भी हो गए.

रिपोर्ट के अनुसार, भगदड़ मच जाने की वजह से मीडियाकर्मियों के कैमरे और स्टैंड भी टूट गए. अव्यवस्था के चलते अफरातफरी का माहौल हो गया. इससे राहुल गांधी और अखिलेश यादव भाषण दिए बिना ही चले गए. इसी घटना पर बीबीसी ने 20 मई 2024 को एक स्टोरी प्रकाशित की.

रिपोर्ट में बताया गया कि प्रयागराज में 19 मई को इंडिया गठबंधन की फूलपुर और नैनी शहर में दो संयुक्त रैलियां थीं. फूलपुर में आयोजित रैली में राहुल गांधी और अखिलेश यादव को भाषण दिए बिना ही लौटना पड़ा क्योंकि रैली में मौजूद भीड़ बैरिकेडिंग तोड़कर मंच तक पहुंच गई थी.

रिपोर्ट में सपा नेता दूधनाथ पटेल के हवाले से लिखा गया, "भीड़ बैरिकेड तोड़कर मंच तक पहुंच गई थी. अफरातफरी में माइक का तार भी टूट गया. माइक बंद होने से अव्यवस्था फैल गई."

रिपोर्ट में आगे लिखा गया कि मौजूद सुरक्षाकर्मियों ने भीड़ को मंच तक आने से रोकने की कोशिश की लेकिन भीड़ अनुमान से अधिक थी और सुरक्षा कर्मियों की संख्या कम थी, जिससे भीड़ को काबू करना और भी मुश्किल हो गया. समाजवादी पार्टी के एक्स हैंडल पर इस जनसभा का एक लाइव कवरेज वाला वीडियो भी शेयर किया गया है. इसमें भी घटनाक्रम को देखा जा सकता है.

राहुल गांधी ने भी अपने एक्स अकाउंट से अखिलेश के साथ इस जनसभा का एक वीडियो शेयर किया है. माइक खराब होने के चलते दोनों ने मंच पर ही चर्चा की और इसे रिकॉर्ड कर सोशल मीडिया पर शेयर किया.

न्यूज चैनल आजतक ने भी फूलपुर की इस रैली के बारे में बताया कि कांग्रेस और समाजवादी पार्टी के कार्यकर्ता इतने उत्साहित हो गए कि रैली में भगदड़ मच गई.

यह ख़बर मूल रूप से BOOM द्वारा प्रकाशित की गई थी, और इसे शक्ति कलेक्टिव के अंतर्गत NDTV ने पुनर्प्रकाशित किया है.

NDTV.in पर ताज़ातरीन ख़बरों को ट्रैक करें, व देश के कोने-कोने से और दुनियाभर से न्यूज़ अपडेट पाएं

फॉलो करे:
डार्क मोड/लाइट मोड पर जाएं
Our Offerings: NDTV
  • मध्य प्रदेश
  • राजस्थान
  • इंडिया
  • मराठी
  • 24X7
Choose Your Destination
Previous Article
गर्मी से जलता उत्तर भारत, बूंद-बूंद के लिए तरसी प्यासी धरती, पहाड़ भी धधकने लगे, कब होगी बारिश?
फैक्ट चैक : प्रयागराज में राहुल गांधी और अखिलेश यादव के वापस भागने का दावा गलत
हरियाणा में AAP ने शुरू की विधानसभा चुनाव की तैयारी, 30 जून की रैली में सुनीता केजरीवाल भी होंगी शामिल
Next Article
हरियाणा में AAP ने शुरू की विधानसभा चुनाव की तैयारी, 30 जून की रैली में सुनीता केजरीवाल भी होंगी शामिल
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com
;