विज्ञापन
Story ProgressBack
This Article is From Aug 01, 2022

ED का आरोप 'गलत तरीके से लिए 1 करोड़ रुपये, गवाह को रेप और हत्या की धमकी', संजय राउत का इनकार

ईडी ने अदालत को बताया, "हथियाई गई राशि में से, प्रवीण राउत के खाते में लगभग ₹112 करोड़ मिले और लगभग 1.06 करोड़ की राशि सीधे संजय राउत को प्राप्त हुई."

Read Time: 4 mins
ED का आरोप 'गलत तरीके से लिए 1 करोड़ रुपये, गवाह को रेप और हत्या की धमकी', संजय राउत का इनकार
मुंबई:

प्रवर्तन निदेशालय ने कहा है कि जिस मामले में शिवसेना नेता संजय राउत को गिरफ्तार किया गया है, वह पात्रा चॉल पुनर्विकास परियोजना में ₹1,000 करोड़ का घोटाला है. एजेंसी ने दावा किया है कि राउत और उनके परिवार को ₹1.06 करोड़ की राशि का लाभ हुआ है. जो पहले दावा किए गए 83 लाख से अधिक था. ईडी ने उनपर अलीबाग जमीन सौदे के एक अहम गवाह को रेप और हत्या के मामले में धमकाने का भी आरोप लगाया है.

महिला स्वप्ना पाटकर ने 22 जुलाई को शिकायत दर्ज कराई थी. समाचार एजेंसी पीटीआई की रिपोर्ट के मुताबिक, उसने दावा किया कि बलात्कार और हत्या की धमकी को एक कागज पर टाइप किया गया था, जिसे 15 जुलाई को उसे दिए गए एक समाचार पत्र में डाला गया था.

गौरतलब है कि संजय राउत को रविवार देर रात ईडी ने मनी लॉन्ड्रिंग के आरोप में गिरफ्तार किया था और मुंबई की एक अदालत ने उन्हें चार दिनों के लिए एजेंसी की हिरासत में रखा है. शिवसेना सांसद ने दावा किया है कि उन्हें राजनीतिक प्रतिशोध के तहत फंसाया जा रहा है.

राउत ने संवाददाताओं से कहा, "यह राजनीतिक प्रतिशोध के अलावा और कुछ नहीं है. रविवार की सुबह से आजादी छीन ली गई." यह बताते हुए कि वह एक हृदय रोगी हैं. राउत ने कहा कि उन्हें बाहर जाने की भी अनुमति नहीं है.

आज अदालत में एजेंसी ने दावा किया कि राउत को पूछताछ के लिए तीन बार बुलाया गया था, लेकिन वह केवल एक बार उसके सामने पेश हुए. इस दौरान उन्होंने मुख्य गवाहों से छेड़छाड़ की कोशिश की.

संजय राउत के खिलाफ अपने आरोपों में एजेंसी ने कहा है कि 2010-2014 से पुनर्विकास परियोजना के लिए इकट्ठा धन "राकेश वाधवान और सारंग वाधवान द्वारा छीन लिया गया था और इस तरह परियोजना अधूरी रह गई थी."

ईडी ने अदालत को बताया, "हथियाई गई राशि में से, प्रवीण राउत के खाते में लगभग ₹112 करोड़ मिले और लगभग 1.06 करोड़ की राशि सीधे संजय राउत को प्राप्त हुई." ईडी ने अदालत को बताया कि अलीबाग में इन पैसों से एक संपत्ति खरीदी गई.

एजेंसी ने दावा किया कि गुरु आशीष कंस्ट्रक्शन प्राइवेट लिमिटेड के पूर्व निदेशक प्रवीण राउत संजय राउत के 'फ्रंट मैन' थे. 2010-2011 के दौरान, आरोपी प्रवीण राउत से संजय राउत को हर महीने 2 लाख रुपये ट्रांसफर किए गए. ईडी ने कहा कि प्रवीण राउत ने संजय राउत की विदेश यात्रा के लिए भी पैसा दिया है.

अप्रैल में, ईडी ने संजय राउत की पत्नी वर्षा राउत और उनके दो सहयोगियों की ₹11.15 करोड़ से अधिक की संपत्ति कुर्क की. संलग्न संपत्तियां पालघर, सफले (पालघर में शहर) और पड़घा (ठाणे जिले में) में प्रवीण राउत की जमीनें हैं. ईडी ने कहा था कि संपत्ति में मुंबई के उपनगर दादर में वर्षा राउत का एक फ्लैट और अलीबाग में किहिम समुद्र तट पर आठ भूखंड हैं, जो संयुक्त रूप से वर्षा राउत और संजय राउत के "करीबी सहयोगी" सुजीत पाटकर की पत्नी स्वप्ना पाटकर के पास हैं.

इधर शिवसेना प्रमुख और महाराष्ट्र के पूर्व मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने राउत को "शिवसेना संस्थापक बाल ठाकरे का कट्टर शिवसैनिक" बताते हुए उनका समर्थन किया है. ठाकरे ने कहा, "मुझे संजय राउत पर गर्व है. उसने क्या अपराध किया है? वह एक पत्रकार है, एक शिव सैनिक है, निडर है और वह बोलता है जो उसे मंजूर नहीं है."

कांग्रेस के नेताओं ने भी संजय राउत के समर्थन में बात की है. कांग्रेस के अधीर रंजन चौधरी ने ट्वीट किया, "संजय राउत ने एक ही अपराध किया है कि वह भाजपा की धमकी की राजनीति से नहीं झुके हैं. वह दृढ़ विश्वास और साहस के व्यक्ति हैं. हम संजय राउत के साथ हैं."

NDTV.in पर ताज़ातरीन ख़बरों को ट्रैक करें, व देश के कोने-कोने से और दुनियाभर से न्यूज़ अपडेट पाएं

फॉलो करे:
डार्क मोड/लाइट मोड पर जाएं
Our Offerings: NDTV
  • मध्य प्रदेश
  • राजस्थान
  • इंडिया
  • मराठी
  • 24X7
Choose Your Destination
Previous Article
बेकाबू ऑटो ने लोगों को मारी टक्कर, सीसीटीवी में कैद हुआ हादसा
ED का आरोप 'गलत तरीके से लिए 1 करोड़ रुपये, गवाह को रेप और हत्या की धमकी', संजय राउत का इनकार
किसानों को पता ही नहीं मिट्टी में है कितना 'सोना'
Next Article
किसानों को पता ही नहीं मिट्टी में है कितना 'सोना'
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com
;