दिल्ली में कोरोना ने तोड़ा रिकॉर्ड : 24 घंटे में आए 2700 से भी ज्यादा मामले, 6 की मौत

अगर कोरोना (Corona) के सक्रिय मरीजों की संख्या की बात करें तो दिल्ली में अब कोरोना के 8840 सक्रिय मरीज हैं. सक्रिय मरीजों की यह संख्या बीते छह महीने में सबसे ज्यादा है.

दिल्ली में कोरोना ने तोड़ा रिकॉर्ड : 24 घंटे में आए 2700 से भी ज्यादा मामले, 6 की मौत

नई दिल्ली:

दिल्ली में कोरोना (Corona) एक बार फिर डराने लगा है. गुरुवार को राजधानी में कोरोना (Corona) के कुल 2726 नए मामले दर्ज किए गए हैं. बीते साढ़े छह महीने में यह पहला मौका है जब दिल्ली में इतने मामले आए हों. इससे पहले इसी साल 2 फरवरी को 3028 मामले दर्ज किए गए थे. वहीं, गुरुवार को कोरोना का संक्रमण दर 14.38 फीसदी दर्ज किया गया है. जो कि बुधवार की तुलना में कुछ कम जरूर हुआ है. उधर, अगर कोरोना (Corona) के सक्रिय मरीजों की संख्या की बात करें तो दिल्ली में अब कोरोना के 8840 सक्रिय मरीज हैं. सक्रिय मरीजों की यह संख्या बीते छह महीने में सबसे ज्यादा है. इससे पहले 6 फरवरी को कुल सक्रिय मरीजों की संख्या 8869 दर्ज की गई थी. दिल्ली में बीते 24 घंटे में कोरोना की वजह से कुल 6 मरीजों ने अपनी जान भी गंवाई है. 

देश की राजधानी दिल्‍ली में इस समय आया ओमिक्रॉन (Omicron) के स्‍ट्रेन इसी वर्ष जनवरी में आए बेस स्‍ट्रेन की तुलना में अधिक संक्रामक है और इसके साथ ही मौजूदा समय में वैक्‍सीन की प्रभावशीलता 20 से 30 प्रतिशत तक गिर गई है. कोविड टास्‍क फोर्स के चेयरमैन डॉ. एनके अरोरा ने एनडीटीवी के साथ बातचीत में यह जानकारी दी. गौरतलब है कि दिल्‍ली में इस समय कोविड के नए मामलों की संख्‍या में उछाल आया है और पॉजिटिविटी रेट बढ़ते हुए लगभग 18 फीसदी है. 

एनडीटीवी के साथ विशेष बातचीत में डॉ. अरोड़ा ने कहा, "18 फीसदी का पॉजिटिविटी रेट डराने वाला है लेकिन अस्‍पताल में भर्ती दर और संबंधित मृत्‍यु दर जैसे पैरामीटर्स पर भी ध्‍यान देना जरूरी है. " उन्‍होंने कहा, "ओमिक्रॉन के आने के बाद दुनियाभर में कोरोना के मामलों को लेकर लगभग यही स्थिति है... ओमिक्रॉन बहुत अधिक 'घातक' नहीं रहा है और इसी कारण भारत में हॉस्पिटल में भर्ती दर काफी नीचे है. टेस्‍ट की संख्‍या में कमी-बढ़ोत्‍तरी के साथ पॉजिटिविटी रेट ऊपर-नीचे होता रहता है." एक उदाहरण देते  हुए उन्‍होंने कहा कि अगर परिवार में किसी एक का टेस्‍ट पॉजिटिव आता है और अन्‍य सदस्‍यों को भी समान लक्षण होते हैं तो और टेस्‍ट नहीं किए जाते. उन्‍होंने कहा कि मास्‍क सहित कोविड सुरक्षा उपायों को वापस लागू करने की जरूरत है.   

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


बता दें कि दिल्ली में बीते बुधवार को कोविड-19 के 2,146 नए मामले सामने आए थे और आठ मरीजों की मौत हो गई जबकि संक्रमण दर 17.83 प्रतिशत रही. स्वास्थ्य विभाग की ओर से जारी आंकड़ों में यह जानकारी दी गई थी. राष्ट्रीय राजधानी में 180 दिन के बाद कोविड-19 के कारण इतने मरीजों की मौत हुई थी. इससे पहले 13 फरवरी को दिल्ली में कोविड-19 के कारण 12 मरीजों की मौत हुई थी. स्वास्थ्य विभाग के आंकड़ों के मुताबिक बीते 24 घंटे में दिल्ली में 12,036 नमूनों की कोविड-19 जांच की गयी.