UP: मुजफ्फरनगर में दलितों की जूतों से पिटाई की मुनादी के मामले में SC-ST आयोग ने संज्ञान लिया, गांव का दौरा किया

राष्ट्रीय अनुसूचित जाति एवं अनुसूचित जनजाति आयोग ने मुजफ्फरनगर जिले में गेहूं की फसल काटने से इनकार करने से नाराज पूर्व ग्राम प्रधान द्वारा दलितों (Dalit) की जूतों से पिटाई कराने की मुनादी कराने की घटना पर संज्ञान लेकर गांव का दौरा किया.  

UP: मुजफ्फरनगर में दलितों की जूतों से पिटाई की मुनादी के मामले में SC-ST आयोग ने संज्ञान लिया, गांव का दौरा किया

 मामले पर संज्ञान लेकर राष्ट्रीय अनुसूचित जाति एवं अनुसूचित जनजाति आयोग की सदस्य ने पावटी गांव का दौरा किया.

मुजफ्फरनगर :

राष्ट्रीय अनुसूचित जाति एवं अनुसूचित जनजाति आयोग ने मुजफ्फरनगर जिले में गेहूं की फसल काटने से इनकार करने से नाराज पूर्व ग्राम प्रधान द्वारा दलितों (Dalit) की जूतों से पिटाई कराने की मुनादी कराने की घटना पर संज्ञान लेकर गांव का दौरा किया.  मुजफ्फरनगर (Muzaffarnagar) जिले के चरथावल थाना क्षेत्र के एक गांव में दलितों द्वारा गेहूं की फसल काटने से इनकार करने से नाराज पूर्व ग्राम प्रधान ने नौ मई को मुनादी करा दी कि वे (दलित) उनके खेत में प्रवेश नहीं करेंगे अन्यथा उनकी पचास बार जूतों से पिटाई होगी और पांच हजार रुपये जुर्माना देना होगा. 

पुलिस ने इस मामले में पूर्व ग्राम प्रधान समेत दो लोगों को गिरफ्तार (Arrested) कर विधिक प्रक्रिया पूरी कर जेल भेज दिया था. मामले पर संज्ञान लेकर राष्ट्रीय अनुसूचित जाति एवं अनुसूचित जनजाति आयोग की सदस्य डॉ. अंजू बाला ने सोमवार को पावटी गांव का दौरा किया.  उन्होंने लोगों से मुलाकात की और घटना की जानकारी ली. आयोग की सदस्य के समक्ष कुछ दलितों ने आरोप लगाया कि पूर्व ग्राम प्रधान राजबीर त्यागी ने सात साल पहले अपने खेतों में घास काटने पर छह दलित महिलाओं पर छह-छह हजार रुपये का जुर्माना लगाया और वसूला.  सदस्य ने लिखित शिकायत का सुझाव देते हुए आश्वासन दिया कि अगर वे लोग शिकायत दर्ज कराएंगे तो उन्हें न्याय मिलेगा. 

आयोग की सदस्य ने कहा कि वह आरोपी के खिलाफ प्रशासन की कार्रवाई से संतुष्ट हैं और इसमें और भी कार्रवाई की जरूरत पड़ी तो किया जाएगा. उन्होंने कहा कि आयोग के अध्यक्ष को अपनी तथ्यात्मक रिपोर्ट देंगी. गौरतलब है कि यह घटना नौ मई को चरथावल क्षेत्र के पावटी खुर्द गांव में हुई और सोशल मीडिया पर एक व्यक्ति द्वारा ढोल पीटते और घोषणा करते हुए एक वीडियो वायरल हो गया.  यह व्यक्ति पूर्व प्रधान की ओर से मुनादी कर रहा था. 

पावटी खुर्द के पूर्व ग्राम प्रधान राजबीर त्यागी की ओर से यह घोषणा कराई गई कि जो कोई उनके खेत और ट्यूबवेल में प्रवेश करेगा उसे पचास बार जूतों से पीटा जाएगा और पांच हजार रुपये जुर्माना लिया जाएगा.  राजवीर त्यागी कुख्यात गैंगस्टर विक्की त्यागी के पिता हैं.  विक्रांत त्यागी उर्फ विक्की त्यागी की 2015 में अदालत में पेशी के दौरान हत्या कर दी गई थी.  वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक अभिषेक यादव ने बताया था कि इस तरह की मुनादी का वीडियो सामने आने के बाद पुलिस ने राजबीर त्यागी और कुंवरपाल को गिरफ्तार कर विधिक प्रक्रिया पूरी जेल भेज दिया गया. 

इसे भी पढ़े : उत्तर प्रदेश : मुजफ्फरनगर में दलितों के खेत में प्रवेश पर जूतों से पिटाई की मुनादी कराने के आरोपी गिरफ्तार

UP : मुजफ्फरनगर में चाचा-भतीजा की गोली मारकर हत्या, पेड़ काटने पर हुआ था विवाद

यूक्रेन में फंसी मुजफ्फरनगर की मरियम पहुंचीं दिल्ली, मुश्किल हालातों में कई किलोमीटर पैदल तय किया सफर

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


इसे भी देखें : रायबरेली : दलित छात्र ने मांगी मजदूरी तो मिली मार, गुंडों ने बेल्ट-केबल से पीटकर चटवाए पैर



(इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)