विज्ञापन
Story ProgressBack
This Article is From Aug 09, 2017

भारत छोड़ो आंदोलन की 75 वीं वर्षगांठ पर संसद में बोले जेटली- 1991 के बाद हर सरकार के दौर मे प्रगति हुई

1991 के बाद सरकारें कोई भी रही हो प्रगति की दर बढ़ी है. गरीबी भी कम हुई है और जन-जीवन का स्तर सुधरा है

भारत छोड़ो आंदोलन की 75 वीं वर्षगांठ पर संसद में बोले जेटली- 1991 के बाद हर सरकार के दौर मे प्रगति हुई
फाइल फोटो
नई दिल्ली: वित्त मंत्री अरुण जेटली  ने संसद में कहा है कि इस देश में इस देश की सबसे बड़ी चुनौती गरीबी आज भी है. 1991 के बाद हमने रास्ता बदलने की कोशिश की. इसके बाद बदलने की गति भी तेज रही. 1991 के बाद सरकारें कोई भी रही हो प्रगति की दर बढ़ी है. गरीबी भी कम हुई है और जन-जीवन का स्तर सुधरा है. लेकिन आज भी एक वर्ग ऐसा है जो गरीबी रेखा से नीचे हैं. आज भी बहुत बड़ी आवश्यकता है कि देश के  संसाधन बढ़े और जहां विकास नहीं हो रहा उसके लिए काम करें. जेटली ने भारत के लोकतंत्र की तारीफ करते हुए कहा कि अलग-अलग विचारधाराओं वाली पार्टियां हमारे देश में हाथ मिलाकर देश के विकास के लिए काम करती हैं. 

जेटली की बड़ी बातें
1- भारत छोड़ो आंदोलन के समय महात्मा गांधी समय सहित कई नेता जेल में थे, उस समय इंडियन नेशनल आर्मी भी आजादी के लिए संघर्ष कर रही थी. 
2- 1962 की लड़ाई के बाद हमने सेनाओं की ताकतवर होने की महत्ता को समझी है.
3-उग्र वामपंथ में ऐसे लोग शामिल हैं जिनको चुनावी राजनीति और लोकतंत्र में विश्वास नहीं करते हैं.  
 

NDTV.in पर ताज़ातरीन ख़बरों को ट्रैक करें, व देश के कोने-कोने से और दुनियाभर से न्यूज़ अपडेट पाएं

फॉलो करे:
डार्क मोड/लाइट मोड पर जाएं
Our Offerings: NDTV
  • मध्य प्रदेश
  • राजस्थान
  • इंडिया
  • मराठी
  • 24X7
Choose Your Destination
Previous Article
घने जंगल, उफनती नदी और दुर्गम पहाड़िया पर कर पहुंचाई दवाइयां, जानें कौन हैं तेलंगाना के वो हेल्‍थ ऑफिसर
भारत छोड़ो आंदोलन की 75 वीं वर्षगांठ पर संसद में बोले जेटली- 1991 के बाद हर सरकार के दौर मे प्रगति हुई
डोडा के देस्सा इलाके में दिखे संदिग्ध आतंकी, ड्रोन-हेलीकॉप्टरों के जरिए तलाशी अभियान जारी
Next Article
डोडा के देस्सा इलाके में दिखे संदिग्ध आतंकी, ड्रोन-हेलीकॉप्टरों के जरिए तलाशी अभियान जारी
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com
;