यह ख़बर 01 जुलाई, 2014 को प्रकाशित हुई थी

आपसी भरोसा बढ़ाने के मकसद से सेना प्रमुख की चीन यात्रा

फाइल फोटो

बीजिंग:

सेना प्रमुख बिक्रम सिंह की आज देर रात चीन यात्रा पर रवाना हो रहे हैं। उनकी इस यात्रा में वास्तविक नियंत्रण रेखा का सेना की ओर से उल्लंघन की घटनाओं से निबटने के लिए एक नई सीमा सुरक्षा संधि और रक्षा रिश्ते सुधारने जैसे मुद्दों पर चर्चा की उम्मीद है।

चीन के विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता होंग लेई ने बताया, 'अभी भारत और चीन के आदान-प्रदान और सहयोग विभिन्न स्तर पर हैं। यह दो देशों के लिए बहुत अहम हैं।' लेई ने मीडिया ब्रीफिंग में सिंह की यात्रा पर टिप्पणी करते हुए कहा, 'जिस यात्रा की आपने जिक्र किया वह चीन और भारत के बीच सेना के स्तर पर एक अहम घटना होगी।' चीनी प्रवक्ता ने कहा, 'हम इस यात्रा की पूर्ण सफलता की कामना करते हैं, ताकि दोनों सेनाओं के बीच परस्पर विश्वास बढ़े।'

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


दोनों तरफ से वास्तविक नियंत्रण रेखा के उल्लंघन से उभरने वाले तनाव से निबटने के लिए भारत और चीन ने पिछले साल एक सीमा सुरक्षा सहयोग संधि (बीडीसीए) पर हस्ताक्षर किए थे। अधिकारियों ने बताया कि सिंह की यात्रा का उद्देश्य बीडीसीए में शामिल किए गए अनेक उपायों को जमीनी सतह पर कार्यान्वित करना है।