मोहम्मद जुबैर को कोर्ट ने दिल्ली पुलिस की चार दिन की रिमांड पर भेजा

दिल्ली पुलिस ने सोमवार को उन्हें एक दूसरे केस में पूछताछ के लिए बुलाया था और बाद में एक नए केस में गिरफ्तार कर लिया. पुलिस की ओर से कोर्ट में कहागया कि वो जांच में सहयोग नहीं कर रहे हैं. 

नई दिल्ली:

AltNews के सह संस्थापक मोहम्मद जुबैर (Mohammad Zubair ) को कोर्ट ने दिल्ली पुलिस की चार दिन की रिमांड पर भेज दिया है. जुबैर को 2018 के एक ट्वीट के आधार पर धार्मिक भावनाएं (Religious Sentiment) भड़काने के आरोप में गिरफ्तार किया गया था. उन्हें मंगलवार को पटियाला कोर्ट में पेश किया गया औऱ लंबी बहस के बाद चार दिन की रिमांड पर उन्हें भेजा गया है. दिल्ली पुलिस ने सोमवार को उन्हें एक दूसरे केस में पूछताछ के लिए बुलाया था और बाद में एक नए केस में गिरफ्तार कर लिया. पुलिस की ओर से कोर्ट में कहागया कि वो जांच में सहयोग नहीं कर रहे हैं. माना जा रहा है कि दिल्ली पुलिस (Delhi Police)  मोहम्मद जुबैर को लेकर बेंगलुरु में उनके घर पर जाएगी. यह भी कहा रहा है कि दिल्ली पुलिस उनके लैपटॉप का एक्सेस करना चाहती है.

दिल्ली पुलिस की ओर से यह भी कहा गया कि जुबैर जब कल दिल्ली पुलिस के समक्ष पेश हुए थे, तो अपने फोन का डेटा डिलीट करके आए थे. ये डेटा रिट्र्रीव कराना है. हालांकि बचाव पक्ष का कहना है कि दिल्ली पुलिस की मनगढ़ंत है और इसमें किसी भी प्रकार से धार्मिक भावनाएं आहत करने का कोई मामला नहीं बनता है. 

अल्ट न्यूज के सह संस्थापक मोहम्मद जुबैर को सोमवार गिरफ्तारी के बाद दिल्ली पुलिस ने पटियाला कोर्ट में पेश किया गया. दिल्ली पुलिस ने जुबैर की रिमांड मांगी, जिस पर लंबी बहस चली. कोर्ट में बचाव पक्ष की ओर से कहा गया, जो मोहम्मद जुबैर का ट्वीट है वो 2018 का है उन्होंने एक फ़िल्म का स्क्रीन शॉट्स शेयर किया है,फिर क्यों गिरफ्तार किया. इस पर अभियोजन पक्ष की ओर से कहा, आप जो भी ट्विटर पर शेयर करते हैं आप अपना व्यू न बता के किसी और का व्यू शेयर करते हैं,उस पर आप को इम्युनिटी नहीं है, इसको लेकर कोर्ट के कई आदेश हैं,आज मैं आपके पुराने ट्वीट को मैं रीट्वीट करवा के उसे फिर से आगे बढ़ाया जा सकता है. 

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


सवाल आया कि ये भी आरोप हैं कि एक पुराने केस में मोहम्मद जुबैर को बुलाया गया और बिना नोटिस दिए उन्हें गिरफ्तार कर लिया गया.इस पर दिल्ली पुलिस की ओर से कहा गया कि ये मुद्दा कल कोर्ट में भी उठाया गया था जो सबूत थे और इस आधार पर ही नोटिस दिया गया. दिल्ली पुलिस की ओर से कहा गया जुबैर ने आपत्तिजनक टिप्पणी की थी. ट्वीट की गहराई से जांच के बाद दिल्ली पुलिस ने गिरफ्तार की. जुबैर की ओर से पेश वकील वृंदा ग्रोवर ने कहा, ज़ुबैर  फैक्ट चेकर है. सोशल मीडिया पर झूठ का पर्दाफाश करता है। इसलिए बहुत से लोग नापंसद करते हैं. बेंगलुरु में रहता है. दिल्ली पूछताछ के लिए बुलाया गया. नोटिस किसी और केस के लिए दिया गया था और गिरफ्तारी दूसरी केस में हुई.