विज्ञापन
Story ProgressBack
This Article is From Jul 19, 2017

विदेश सचिव के मुताबिक डोकलाम को लेकर चीन का रवैया असामान्य रूप से आक्रामक

विदेश सचिव एस जयशंकर ने एक संसदीय समिति को भारत-चीन के बीच मौजूदा तनाव की जानकारी दी

विदेश सचिव के मुताबिक डोकलाम को लेकर चीन का रवैया असामान्य रूप से आक्रामक
विदेश सचिव एस जयशंकर ने चीन के साथ जारी तनाव की मौजूदा स्थिति को लेकर एक संसदीय समिति को जानकारी दी.
नई दिल्ली: हालिया डोकलाम विवाद को लेकर चीन का रुख असामान्य रूप से आक्रामक और साफ है. विदेश सचिव एस जयशंकर ने मंगलवार को एक संसदीय समिति को यह जानकारी दी है. विदेश मामलों पर समिति को जानकारी दे रहे जयशंकर ने हालांकि कहा कि भारत तनाव कम करने के लिए राजनयिक माध्यम से चीन से बातचीत कर रहा है.

इस बैठक में मौजूद करीब 20 सदस्यों में से कुछ ने इस बारे में संवाददाताओं को बताया. विदेश सचिव ने समिति को बताया कि सीमा को लेकर भारत और चीन ने अपनी-अपनी स्थिति स्पष्ट कर दी है लेकिन वे उसका गलत अर्थ लगा रहे हैं, जिसे भारत स्पष्ट करने की कोशिश कर रहा है. उन्होंने कहा कि एक एंग्लो-चीनी समझौते के अनुसार वर्ष 1895 से अब तक भारत के रुख में कोई परिवर्तन नहीं आया है.

वीडियो- विदेश सचिव ने विवाद के बारे में संसदीय समिति को बताया


एक सदस्य ने बताया कि ‘‘जयशंकर ने हम लोगों को बताया कि हालिया टकराव को लेकर चीन की आक्रामकता और वाकपटुता असामान्य है लेकिन स्थिति इतनी भी जटिल नहीं है, जैसा कि एक धड़े द्वारा पेश किया जा रहा है. हम उनसे राजनयिक तरीके से बात करना जारी रखेंगे.’’ एक अन्य सदस्य ने बताया कि विदेश सचिव ने ‘युद्ध जैसी स्थिति या विवाद’ जैसे शब्दों का प्रयोग नहीं किया बल्कि डोकलाम की हालिया स्थिति के वर्णन के लिए उन्होंने ‘टकराव’ शब्द का इस्तेमाल किया. दोनों सदस्यों ने नाम जाहिर नहीं करने की शर्त पर यह जानकारी दी क्योंकि यह बैठक गोपनीय थी.

यह भी पढ़ें- चीन के भीतर उठी आवाज, 'भारतीय सैनिकों को तुरंत खदेड़ा जाना चाहिए' : चीनी मीडिया
चीन मान ले कि भारत को महत्व देना जरूरी है : पूर्व अमेरिकी राजनयिक निशा देसाई ने दी सलाह
चीन के मुद्दे पर सरकार को समय देने के मूड में विपक्ष, संसद में फिलहाल नहीं उठाएगा डोकाला मुद्दा
अमेरिका ने कहा, उत्तर और दक्षिण चीन सागर के देश संयम बरतें, उकसाएं नहीं
समंदर में भारत को घेरने के लिए चीन-पाकिस्तान ने बिछाया ये 'जाल', अब क्या करेंगे पीएम नरेंद्र मोदी?
NDTV Exclusive: चीन की दादागिरी को भारत-अमेरिका-जापान मिलकर यूं दे रहे हैं चुनौती

गौरतलब है कि भारतीय सेना ने चीन की सेना को इलाके में सड़क बनाने से रोक दिया, जिसके बाद करीब एक माह से दोनों देशों की सेनाओं के बीच टकराव की स्थिति देखने को मिली है.
(इनपुट भाषा से)

NDTV.in पर ताज़ातरीन ख़बरों को ट्रैक करें, व देश के कोने-कोने से और दुनियाभर से न्यूज़ अपडेट पाएं

फॉलो करे:
डार्क मोड/लाइट मोड पर जाएं
Our Offerings: NDTV
  • मध्य प्रदेश
  • राजस्थान
  • इंडिया
  • मराठी
  • 24X7
Choose Your Destination
Previous Article
सन 2041 तक असम बन जाएगा सबसे बड़ा मुस्लिम बहुल राज्य! हिमंता बिस्वा सरमा ने किया दावा
विदेश सचिव के मुताबिक डोकलाम को लेकर चीन का रवैया असामान्य रूप से आक्रामक
शरद पवार क्या अजित पवार को फिर लेंगे अपनी पार्टी में? चाचा का यह बयान क्या कहता है...
Next Article
शरद पवार क्या अजित पवार को फिर लेंगे अपनी पार्टी में? चाचा का यह बयान क्या कहता है...
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com
;