US-India Defence Ties : राजनाथ सिंह की अमेरिकी रक्षा सचिव से मुलाकात, बोले- मिलिट्री इंगेजमेंट बढ़ाने पर फोकस

अमेरिकी रक्षा मंत्री लॉयड ऑस्टिन अपनी पहली भारत यात्रा पर हैं. उन्होंने शनिवार को रक्षामंत्री राजनाथ सिंह से मुलाकात की. दोनों देशों ने मिलिट्री टू मिलिट्री इंगेजमेंट बढ़ाने पर जोर दिया है.

US-India Defence Ties : राजनाथ सिंह की अमेरिकी रक्षा सचिव से मुलाकात, बोले- मिलिट्री इंगेजमेंट बढ़ाने पर फोकस

राजनाथ सिंह की अमेरिकी समकक्ष लॉयड ऑस्टिन के साथ मुलाकात.

नई दिल्ली:

अमेरिकी रक्षा सचिव लॉयड ऑस्टिन अपनी भारत यात्रा पर आए हुए हैं. शनिवार को उनकी रक्षामंत्री राजनाथ सिंह के साथ मुलाकात हुई. दोनों रक्षा मंत्रियों की ओर से एक संयुक्त बयान जारी कर कहा गया दोनों देश अपने सैन्य संबंधों को आगे बढ़ा रहे हैं. इस बयान में बताया गया कि दोनों देशों की इस मीटिंग में रक्षा सहयोग, उभरते हुए क्षेत्रों में सूचना का आदान-प्रदान और आपसी लॉजिस्टिकल सपोर्ट सहित कई अन्य मुद्दों पर चर्चा हुई.

रक्षामंत्री ने कहा कि 'हमने मिलिट्री-टू-मिलिट्री इंगेजमेंट बढ़ाने पर जोर दिया है.' उन्होंने बताया कि उनकी सेक्रेटरी ऑस्टिन और उनके प्रतिनिधि मंडल के साथ विस्तार से और फलदायक बातचीत हुई. उन्होंने कहा कि 'दोनों देश आपस में वैश्विक रणनीतिक पार्टनरशिप को इसकी पूर्ण क्षमता में ले जाने को लेकर उत्सुक हैं. हम भारत-अमेरिका संबंध को 21वीं सदी की सबसे अहम साझेदारियों में से एक बनाने की उम्मीद करते हैं.'

वहीं, लॉयड ऑस्टिन ने कहा कि 'मैं अपने सहयोगियों व साझेदारों के प्रति हमारी मजबूत प्रतिबद्धता के संबंध में बाइडन-हैरिस प्रशासन का संदेश पहुंचाना चाहता था.'

राजनाथ सिंह और उनके अमेरिकी समकक्ष ऑस्टिन ने द्विपक्षीय रणनीतिक सबंधों को और विस्तार देने, हिंद-प्रशांत क्षेत्र में बदलती स्थिति और आतंकवाद की चुनौती जैसे विषयों पर भी मुख्य रूप से चर्चा की.


बता दें कि ऑस्टिन तीन देशों की यात्रा के कार्यक्रम के तहत जापान और दक्षिण कोरिया की यात्रा के बाद भारत आए हैं. इस यात्रा को अमेरिका के राष्ट्रपति जो बाइडन की क्षेत्र में अपने निकट सहयोगियों एवं साझेदारों के साथ संबंधों को लेकर मजबूत प्रतिबद्धता दर्शाने की कोशिश के तहत देखा जा रहा है.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


इसके पहले ऑस्टिन शनिवार सुबह राष्ट्रीय समर स्मारक गए थे और भारत के शहीदों को श्रद्धांजलि दी थी. वार्ता से पहले उन्हें विज्ञान भवन परिसर में गार्ड ऑफ ऑनर दिया गया.