लॉकडाउन के बीच मध्यप्रदेश के सीहोर में संपन्न हुआ अनोखा विवाह, मंदिर में संविधान की शपथ लेकर हुई शादी

देश में जारी कोरोना संकट के कारण इस बार शादी के मौसम में शादियां काफी कम हो रही है. कई लोगों ने अपने शादी को अगले कुछ महीने के लिए स्थगित कर दिया है.

लॉकडाउन के बीच मध्यप्रदेश के सीहोर में संपन्न हुआ अनोखा विवाह, मंदिर में संविधान की शपथ लेकर हुई शादी

मध्यप्रदेश के सीहोर में संपन्न हुआ अनोखा विवाह

सीहोर:

देश में जारी कोरोना संकट के कारण इस बार शादी के मौसम में शादियां काफी कम हो रही है. कई लोगों ने अपने शादी को अगले कुछ महीने के लिए स्थगित कर दिया है. लेकिन इन सब के बीच कुछ लोग अनोखे ढ़ंग से शादी कर रहे हैं. मध्यप्रदेश के सीहोर स्थिति नदी चौराहा मालवीय बलाई समाज माता मंदिर के सभाकक्ष में गुरुवार को,लॉकडाउन के नियमों और व्यक्तियों की दूरियों (सोशलडिस्टेंस) का पूर्ण पालन करते हुए विवाह संपन्न हुआ. इस विवाह में सबसे अलग बात यह थी कि शादी से पहले लड़के और लड़की को भारतीय संविधान की प्रस्तावना को पढ़कर शपथ दिलवाई गई और वैवाहिक जीवन की सामाजिक जिम्मेदारियों के निर्वहन का वचन लिया गया. 

शादी कार्यक्रम में कोरोनावायरस महामारी के चलते देश मे लागू लॉकडाउन को ध्यान में रखते हुए अनुविभागीय अधिकारी (SDM) सीहोर से अनुमति ली गई थी.  इस कार्यक्रम मे उपस्थित लोगों ने लॉकडाउन के दिशा निर्देशों का पालन करते हुए  बहुत ही सादे कार्यक्रम मे विवाह कराया गया.


इस अनूठी शादी मे मन्दिर समिति के अध्यक्ष रामकिशन मालवीय, ट्रेड यूनियन के जिला अध्यक्ष अनारसिंह मालवीय भारतीय विद्यार्थी मोर्चा के प्रदेश अध्यक्ष राजेश मालवीय के द्वारा वर, वधू एवं उनके साथ आए पारिवारिक सदस्यों को पहले सैनिटाइजर से हाथ धुलाकर मास्क भेंट किये गए उसके उपरांत कुरावर वर धर्मेंद्र मालवीय पिता रमेश चंद मालवीय  वधू आरती मालवीय पिता भागवत सिंह मालवीय थूना ने पहले संविधान निर्माता डॉ बाबासाहेब आंबेडकर के छाया चित्र पर माल्यार्पण किया और वर-वधू ने एक दूसरे को वरमाला पहनाई.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com