CM शिवराज के सरकारी हेलिकॉप्टर में आदिवासियों ने की सवारी, साझा किया अनुभव

मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के सरकारी हेलिकॉप्टर में चार आदिवासियों ने आधे घंटे की सवारी की. हेलिकॉप्टर से यात्रा करने वाले आदिवासियों ने सीएम का आभार जताया.

CM शिवराज के सरकारी हेलिकॉप्टर में आदिवासियों ने की सवारी, साझा किया अनुभव

मध्यप्रदेश सरकार ने आदिवासियों को करवाई हैलीकॉप्टर यात्रा.

अलीराजपुर:

मध्यप्रदेश (Madhya Pradesh) के अलीराजपुर (Aliraj Pur) जिले की जोबट तहसील के चार आदिवासियों के लिए बुधवार का दिन सपने के सच होने जैसा था. इन चार आदिवासयों ने मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान (Shivraj Singh Chauhan) के सरकारी हेलिकॉप्टर में उड़ान भरी. आदिवासियों ने सीएम शिवराज के हेलिकॉप्टर में यात्रा कर उनका आभार जताया. एक अधिकारी ने बताया कि मुख्यमंत्री चौहान ने अपनी जनदर्शन यात्रा के तहत निर्धारित कार्यक्रमों के लिए सड़क मार्ग से यात्रा की. उन्होंने बताया कि आदिवासियों को रणबेहरा से सेजवाड़ा तक मुख्यमंत्री के सरकारी हेलिकॉप्टर में लगभग आधे घंटे की सवारी कराई गई. 

जोबट विधानसभा सीट पर उपचुनाव होने वाले हैं. कांग्रेस की विधायक कलावती भूरिया का निधन होने के कारण यहां उपचुनाव होगा. उपचुनाव से पहले मुख्यमंत्री जनदर्शन यात्रा के कार्यक्रमों में शामिल होने यहां आए थे. अधिकारी ने कहा कि चार आदिवासियों दरियाव सिंह, मंगल सिंह, रिच्चू सिंह बघेल और जोध सिंह को चौहान के बिना हेलिकॉप्टर में करीब आधे घंटे तक यात्रा कराई गई क्योंकि मुख्यमंत्री को निर्धारित कार्यक्रमों के लिए सड़क मार्ग से यात्रा करनी थी.

वहीं, मुख्यमंत्री के हेलिकॉप्टर में यात्रा करने वाले आदिवासियों ने चौहान को उनकी उदारता के लिए धन्यवाद देते हुए कहा कि उनका हेलिकॉप्टर में उड़ने भरने का सपना पूरा हुआ. अपने कार्यक्रमों के दौरान चौहान ने जोबट क्षेत्र में कई विकास परियोजनाओं की घोषणा की. इनमें पांच करोड़ रुपये की अनुमानित लागत वाला एक स्टेडियम शामिल है.


चौहान के आगमन पर स्थानीय आदिवासियों ने उनका पारंपरिक तरीके से स्वागत किया और उनके साथ ढोल की थाप पर नृत्य भी किया.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


- - ये भी पढ़ें - -
पूर्वोत्‍तर के एक राज्‍य में कम नहीं हो रहे कोरोना केस, बीते 24 घंटों में 1502 नए मामले
भारत में पिछले 24 घंटे में नए COVID-19 केसों में 6.8 फीसदी कमी