ट्रैक्‍टर रैली: किसानों के साथ झड़प में 80 पुलिसकर्मी हुए घायल, अस्‍पताल में हो रहा इलाज

कुल मिलाकर 83 पुलिसकर्मी मंगलवार की हिंसा के दौरान घायल हुए हैं. चिल्‍ला बॉर्डर पर ट्रैक्‍टर पलटने से दो किसानों को चोट आई है.

ट्रैक्‍टर रैली: किसानों के साथ झड़प में 80 पुलिसकर्मी हुए घायल, अस्‍पताल में हो रहा इलाज

ट्रैक्‍टर रैली के दौरान भड़की हिंसा में कई पुलिसकर्मी घायल हुए हैं (प्रतीकात्‍मक फोटो)

नई दिल्ली:

Kisan Aandolan: गणतंत्र दिवस पर किसानों की ओर से निकाली गई ट्रैक्‍टर रैली (Tractor Rally) के दौरान भड़की हिंसा में करीब 80 पुलिस के जवान घायल हुए हैं, घायल होने वाले पुलिसकर्मियों में कई की हालत गंभीर बताई गई है. गौरतलब है कि कृषि कानून का विरोध कर रहे किसानों ने मंगलवार को देश की की राजधानी दिल्‍ली में ट्रैक्‍टर रैली निकाली, इस दौरान उनकी कई स्‍थानों पर पुलिस के साथ झड़प हुई. घायल पुलिसकर्मियों को दिल्‍ली के विभिन्‍न अस्‍पतालों में भर्ती कराया गया है. जानकारी के अनुसार, 38 पुलिसकर्मी  LNJP अस्‍पताल में दाखिल कराए गए हैं. इसी तरह सिविल लाइन अस्‍पताल में 11, अरुणा आसफ अली अस्‍पताल में आठ तथा लेडी हार्डिंग्‍स व तीरथ राम शाह अस्‍पतला में चार-चार पुलिस‍कर्मियों को भर्ती कराया गया है. महाराज अग्रसेन, तारक, लाल बहादुर शास्‍त्री अस्‍पताल में भी कुछ घायल पुलिसकर्मियों का इलाज चल रहा है.

Farmer's Protest: ट्रैक्‍टर रैली के दौरान उग्र किसान, जानें कहां-कहां हुई उनकी पुलिस से झड़प...

कुल मिलाकर 83 पुलिसकर्मी मंगलवार की हिंसा के दौरान घायल हुए हैं. चिल्‍ला बॉर्डर पर ट्रैक्‍टर पलटने से दो किसानों को चोट आई है. ट्रैक्‍टर रैली के दौरान आईटीओ के पास डीडीयू मार्ग के पास एक किसान की हादसे में मौत हुई है. पुलिस के अनुसार, यह किसान ट्रैक्टर तेज चला रहा था और ट्रेक्टर पलट गया जिससे उसकी मौत हुई. कुछ किसान वहां धरने पर बैठ गए. उनका कहना है पुलिस ने इस किसान को गोली मारी है. बाद में पुलिस ने फुटेज जारी कर साफ किया कि किसान की मौत ट्रैक्‍टर पलटने के कारण ही हुई. मृतक किसान नवनीत सिंह यूपी के रामपुर जिले डिबदीबा गांव का रहने वाला था.

ट्रैक्टर परेड : ITO पर प्रदर्शनकारी किसान की ट्रैक्टर पलटने से मौत, घटना कैमरे में कैद

गौरतलब है कि ट्रैक्‍टर रैलीके दौरान नांगलोई में किसानों और पुलिस के बीच जोरदार झड़प हुई. किसानों ने बसों और पुलिस वाहन में तोड़फोड़ की. सरकारी वाहनों में भी उन्‍होंने तोड़फोड़ की, लाठियां चलाईं और पुलिस बल पर पथराव किया. हालात को काबू करने के लिए पुलिस को लाठीचार्ज, वाटर कैनन और आंसू गैस का इस्‍तेमाल करना पड़ा.


दिल्ली में हालात बेकाबू, लालकिले पर फहराया किसान संगठन का झंडा

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com