सिर्फ कांग्रेस के लिए ही नहीं बल्कि देश निर्माण के लिए भी मजबूत संगठन की जरूरत : प्रियंका गांधी

लखनऊ में कांग्रेस के प्रदेश मुख्यालय में प्रियंका गांधी ने सिलसिलेवार बैठकों में संगठन की व्यापक समीक्षा के साथ-साथ जमीनी रुझानों एवं चुनावी रणनीति पर मंथन किया

सिर्फ कांग्रेस के लिए ही नहीं बल्कि देश निर्माण के लिए भी मजबूत संगठन की जरूरत : प्रियंका गांधी

कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी (फाइल फोटो).

नई दिल्ली:

उत्तर प्रदेश में अगले वर्ष होने वाले विधानसभा चुनाव की तैयारियों के लिए यहां आईं कांग्रेस की राष्ट्रीय महासचिव और प्रदेश प्रभारी प्रियंका गांधी वाड्रा ने शनिवार को संगठन निर्माण पर जोर देते हुए कहा कि सिर्फ कांग्रेस के लिए ही नहीं वरन राष्ट्र निर्माण के लिए भी एक मजबूत संगठन की जरूरत है. कांग्रेस मुख्यालय से जारी बयान के अनुसार कांग्रेस के प्रदेश मुख्यालय में प्रियंका ने शनिवार को दौरे के तीसरे दिन सिलसिलेवार बैठकों में संगठन की व्यापक समीक्षा के साथ-साथ जमीनी रुझानों एवं चुनावी रणनीति पर मंथन किया. उन्होंने एक-एक पदाधिकारी से रिपोर्ट व फीडबैक प्राप्त किया और पश्चिमी उत्तर प्रदेश, रूहेलखंड एवं मध्य उत्तर प्रदेश के जिलों की ब्लाक तथा न्याय पंचायतवार समीक्षा की. उन्होंने पदाधिकारियों से आगामी रणनीति पर व्यापक विचार विमर्श किया.

प्रियंका गांधी ने कार्यकर्ताओं से कहा कि उत्तर प्रदेश विधानसभा के चुनाव बिल्कुल नजदीक हैं इसलिए कांग्रेस कार्यकर्ताओं को दिन-रात कार्य करने की जरूरत है. टिकट बंटवारे पर उन्होंने कहा कि उम्मीदवारों के नाम तय करने की प्रक्रिया में संगठन के पदाधिकारियों की महत्वपूर्ण भूमिका रहेगी. उन्होंने कहा कि संगठन का काम अब आखिरी चरण में पहुंच चुका है तथा आगामी चुनाव में टिकट बंटवारे में संगठन की महत्वपूर्ण भूमिका रहेगी.

प्रियंका उत्तर प्रदेश के दौरे पर बृहस्पतिवार की शाम को लखनऊ पहुंची थीं. शुक्रवार से उन्होंने पदाधिकारियों के साथ लगातार समीक्षा बैठकें कीं और अब रविवार की सुबह वह कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी के निर्वाचन क्षेत्र रायबरेली जाएंगी. केन्द्र के तीन कृषि कानूनों के खिलाफ किसानों के विरोध के मुद्दे पर शनिवार को कांग्रेस की बैठक में चर्चा हुई.

गौरतलब है कि उत्तर प्रदेश और पड़ोसी राज्यों के हजारों किसान रविवार (पांच सितंबर) को मुजफ्फरनगर में ''किसान महापंचायत'' के लिए इकट्ठा हुए थे. इसका आयोजन संयुक्त किसान मोर्चा (एसकेएम) द्वारा मुजफ्फरनगर के सरकारी इंटर कॉलेज मैदान में केंद्र के तीन कृषि कानूनों के विरोध में किया गया था.

उत्तर प्रदेश कांग्रेस कमेटी के प्रवक्ता डॉ उमा शंकर पाण्डेय ने बताया कि कांग्रेस महासचिव आगामी विधानसभा चुनाव के दृष्टिगत जोनवार पदाधिकारियों से चर्चा कर चुनाव के महत्वपूर्ण बिंदुओं पर पदाधिकारियों की राय से अवगत हुईं एवं विधानसभा चुनाव में सफलता के लिए संगठन निर्माण के अंतिम चरण पर चर्चा की.

उन्होंने बताया कि कांग्रेस महासचिव ने शुक्रवार और शनिवार को चली बैठकों में प्रदेश के आठों जोन के पदाधिकारियों से मुलाकात की तथा जिला एवं शहर अध्यक्ष, प्रदेश सचिव, महासचिव और प्रदेश उपाध्यक्षों से एक-एक करके रिपोर्ट प्राप्त कीं. उन्होंने प्रदेश के 831 ब्लाकों, 2614 वार्डों और 8134 न्याय पंचायतों की रिपोर्ट पर व्यापक विचार विमर्श किया एवं उनकी समीक्षा की. पश्चिमी जोन के अन्तर्गत आने वाले 96 ब्लाकों के 874 न्याय पंचायतों पर चर्चा हुई तथा किसान आंदोलन से जुड़े तमाम मुद्दों पर प्रियंका ने पदाधिकारियों से विचार विमर्श किया. रुहेलखंड जोन के 85 ब्लाकों के 830 न्याय पंचायतों की रिपोर्ट प्राप्त कर गहन समीक्षा की. अंत में पूर्वांचल और अवध जोन की बैठकें सम्पन्न हुई, जिसमें पूर्वांचल के 97 ब्लाकों की 975 न्याय पंचायतों के संगठन पर चर्चा हुई तथा अवध के 133 ब्लाकों और 1330 न्याय पंचायतों पर महासचिव ने रिपोर्ट प्राप्त की.


कांग्रेस ने उत्तर प्रदेश में अगले साल होने वाले विधानसभा चुनाव के मद्देनजर लोगों से संपर्क बढ़ाने के लिए राष्ट्रीय महासचिव और उत्तर प्रदेश मामलों की प्रभारी प्रियंका गांधी वाड्रा के नेतृत्व में गांवों और कस्बों से 12,000 किलोमीटर लंबी यात्रा निकालने का फैसला शुक्रवार को किया था.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


कांग्रेस के अनुसार, पार्टी सदस्यों के साथ प्रियंका की बैठक में "कांग्रेस प्रतिज्ञा यात्रा: हम वचन निभाएंगे' नाम से यात्रा निकालने का निर्णय लिया गया है. गांवों, कस्बों से होकर गुजरने वाली इस यात्रा में 12,000 किलोमीटर की दूरी तय की जाएगी.