कभी थे तंगहाल लेकिन सोशल मीडिया के सहारे इन युवाओं ने शोहरत भी हासिल की और दौलत भी..

एक रिपोर्ट के अनुसार 2021 तक भारत के 70 करोड़ लोगों के पास स्मार्टफोन होगा. कंपनियां इन स्मार्टफोन में मुफ्त ऐप देती हैं, और इसी तरह प्रचार के ज़रिए पैसा कमाती हैं

कभी थे तंगहाल लेकिन सोशल मीडिया के सहारे इन युवाओं ने शोहरत भी हासिल की और दौलत भी..

सोशल मीडिया पर विभिन्‍न ऐप्‍स का इस्‍तेमाल करके युवा करियर में ऊंचाई हासिल कर रहे

खास बातें

  • अपने कंटेंट को डेवलप करके कर रहे ऊंची कमाई
  • मिल रहा है बॉलीवुड हस्तियों के साथ काम करने को
  • इनमें से कई के हैं लाखों की संख्‍या में फॉलोअर
मुंंबई:

स्मार्टफोन की बढ़ोतरी के वजह से अब नए नए ऐप (App) के ज़रिए लोग प्रचार कर पैसा कमाते नज़र आ रहे हैं. अच्छी बात यह है कि इसमें से कई लोग ऐसे हैं जिन्होंने झुग्गियों से अपनी शुरुआत की पर समय की मांग को समझते हुए अपने कंटेंट को डेवलप किया और अब इनको इसी से पैसे मिल रहे हैं. सोशल मीडिया में ऐसे कई ऐप हैं जिसका इस्तेमाल कर मुंबई के युवा बड़े पैमाने में आगे बढ़ते नज़र आ रहे हैं. सोशल मीडिया (Social Media)पर कंटेंट बनाने वाले इन लोगों के लाखों करोड़ों फॉलोअर हैं और कई बॉलीवुड हस्तियों ने भी इनके साथ काम किया है. मायानगरी मुंबई के धारावी में रहने वाले 26 वर्षीय अदनान शेख कुछ साल पहले तक इन्हीं सड़कों पर फल, सिम कार्ड बेचने का काम करते थे लेकिन सोशल मीडिया के वजह से आज इनके लाखों-करोड़ों फॉलोअर हैं.. शुरुआत में सोशल मीडिया पर अलग-अलग तरह के कंटेंट बनाने पर अदनान को लोग जानने लगे और धीरे धीरे इनकी लोकप्रियता बढ़ने लगी. पहले टिक टॉक और अब दूसरे कई ऐप पर इनके कंटेंट को लाखों लोग देखते हैं. कई बॉलीवुड के हस्तियों ने भी इन ऐप्‍स पर अपनी फिल्मों का प्रचार इनके ज़रिए करवाया है. धारावी से शुरुआत करने वाले अदनान ने हाल ही में एक BMW गाड़ी भी खरीदी है.

मोबाइल ऐप के जरिए अब श्रद्धालु कर सकेंगे वैष्णो देवी के लाइव ‘दर्शन'

अपनी कामयाबी को अदनान ने कहा, 'मैं खुद इतना बड़ा सपना नहीं देखता था. मेरे दोस्त के पास क्रूज़ गाड़ी थी, वो मुझे खरीदना था.एक साल पहले मैंने वो खरीदा और अब मैंने एक BMW गाड़ी खरीदी दी है. 25 साल के फैसू की कहानी भी कुछ ऐसी की है. सोशल मीडिया और मोबाइल ऐप्‍स ने 25 वर्षीय फैसू की ज़िंदगी भी बदल दी. बांद्रा इलाके में एक समय फैसू  50 रुपये प्रतिदिन के वेतन पर सेल्समेन  थे. इस दौरान वे सोशल मीडिया के लिए लगातार कंटेंट बनाते रहे. स्मार्टफोन और इंटरनेट के तेज़ी से फैलने का असर यह हुआ कि आज इनके भी सोशल मीडिया पर करोड़ों फॉलोअर हैं. अब फैसू कई ब्रैंड, फिल्मों और गानों को इन्हीं सोशल मीडिया प्लेटफार्म पर प्रमोट करते हैं. इसी में आगे अपना कैरियर और बढ़ाना चाहते हैं.. वे बताते हैं, 'हमने शुरुआत में इसे करियर के हिसाब से नहीं सोचा था पर धीरे धीरे डील्स मिलने लगे. लोग कोलैबोरेशन करने लगे, म्यूजिक वीडियो बनने लगा और अब खुद का प्रोडक्ट भी मैंने लांच किया.. हमें पता चला कि इसके जरिये हम अपना करियर भी बना सकते हैं.' आप जब भी इंस्टाग्राम, फेसबुक या और किसी ऐप पर गाने या छोटे-मज़ेदार वीडियो देखते है और उसे लाइक करते हैं तो उससे ऐड कंपनियों को समझ में आता है कि लोगों को क्या पसंद आ रहा है और कौन लोग हैं जो यह सब कर रहे हैं, जिसके बाद वे इन लोगों के ज़रिए अपने प्रोडक्ट या ब्रैंड का प्रचार करवाते है.

Walnut, AndroMoney, Wallet: ऐप्स जो रखेंगे आपके खर्चों और कमाई का हिसाब

भारत में कम कीमत में स्मार्टफोन और इंटरनेट की मौजूदगी के कारण अब इन ऐप्‍स की मांग बढ़ गई है. जितने ज्यादा लोग एक ऐप पर होते हैं, उतना ज्यादा प्रचार और पैसा उस ऐप पर कमाया जाता है.. एक रिपोर्ट के अनुसार 2021 तक भारत के 70 करोड़ लोगों के पास स्मार्टफोन होगा. कंपनियां इन स्मार्टफोन में मुफ्त ऐप देती हैं, और इसी तरह प्रचार के ज़रिए पैसा कमाती हैं.बैन होने से पहले भारत में टिकटॉक को 50 मिलियन लोगों ने डाऊनलोड किया था.2019 में फेसबुक की भारत में 71 फीसदी की ग्रोथ हुई है. कई भारतीय ऐप भी इसी तरह के कंटेंट बनाकर अपनी लोकप्रियता बढ़ाने की कोशिश करते नज़र आ रहे हैं.


Doosra ऐप से मिलेगा वर्चुअल फोन नंबर, प्राइवेसी को मिलेगी सुरक्षा

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com