बिहार : संदिग्ध जहरीली शराब पीने से दो दिन में 24 की मौत, कई हुए बीमार

गोपालगंज पहुंचे बिहार के मंत्री जनक राम ने संवाददाताओं से कहा, "मैंने उन लोगों के घर का दौरा किया है जिनकी कथित तौर पर नकली शराब पीने से मौत हुई  है. उन्होंने आरोपों का खंडन करते हुए कहा कि यह एनडीए सरकार को बदनाम करने की साजिश है."

बेतिया/गोपालगंज:

शराबबंदी वाले राज्य बिहार के गोपालगंज और पश्चिमी चंपारण जिलों में पिछले दो दिनों में संदिग्ध जहरीली शराब पीने से कम से कम 24 लोगों की मौत हो गई है और कई अन्य बीमार हो गए हैं. पश्चिम चंपारण जिले के मुख्यालय बेतिया के तेलहुआ गांव में गुरुवार को कथित तौर पर शराब पीने से आठ लोगों की मौत हो गई, जबकि गोपालगंज में संदिग्ध नकली शराब पीने की एक अन्य घटना में गुरुवार को 16 लोगों की मौत हो गई, जबकि जिले में अधिकारियों ने छह और मौतों की पुष्टि की है. हालांकि, दोनों जिलों के प्रशासन ने अब तक मौतों के कारणों की पुष्टि नहीं की है.


तेलहुआ शराब त्रासदी, पिछले दस दिनों में उत्तरी बिहार में इस तरह की तीसरी घटना है. गोपालगंज पहुंचे बिहार के कैबिनेट मंत्री जनक राम ने संवाददाताओं से कहा, "मैंने उन लोगों के घर का दौरा किया है जिनकी कथित तौर पर नकली शराब पीने से मौत हुई  है. उन्होंने आरोपों का खंडन करते हुए कहा कि यह एनडीए सरकार को बदनाम करने की साजिश है."

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


गोपालगंज के वरिष्ठ पुलिस अधिकारी आनंद कुमार ने कहा, "पिछले दो दिनों में जिले के मुहम्मदपुर गांव में कुछ लोगों की रहस्यमय परिस्थितियों में मौत हुई है. उनकी मौत के कारण की पुष्टि नहीं की जा सकती है, क्योंकि पोस्टमार्टम रिपोर्ट का इंतजार है. तीन टीमें मामले की जांच कर रही है." स्थानीय पुलिस ने कहा कि कुछ शवों का उनके परिवारों ने अंतिम संस्कार कर दिया है.



(इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)