शोपियां एनकाउंटर : मारे गए दोनों आतंकी हिजबुल के 'फेसबुक मॉडल'

शोपियां एनकाउंटर : मारे गए दोनों आतंकी हिजबुल के 'फेसबुक मॉडल'

फाइल फोटो

नई दिल्ली:

जम्मू-कश्मीर के पुलवामा जिले के शोपियां एनकाउंटर में मारे गए दो आतंकियों के बारे पता चला है कि ये दोनों आतंकी हिजबुल मुजाहिदीन के उस ग्रुप से ताल्लुक रखते हैं जिन्होंने कुछ महीने पहले ही अपनी तस्वीरें सेना की वर्दी में एके-47 के साथ फेसबुक पर डाली थी। ये फोटो सोशल नेटवर्किंग साइट्स पर काफी वायरल हो गई थी और इसका इस्‍तेमाल आतंकवाद का महिमामंडन कर ज्‍यादा लोगों को आतंकी संगठन के साथ जोड़ने के लिए हो रहा था।

इस ग्रुप में 11 सदस्य हैं और इनका मुखिया बुरहान वानी है। ये सभी कश्मीर के रहने वाले हैं। इन सभी आतंकियों ने कुछ महीने पहले फौजी यूनिफार्म और हाथों में एके-47 के साथ अपनी तस्वीर फेसबुक पर डाली थी। सेना की मानें तो पिछले कुछ दिनों में सुरक्षाबलों से हुए एनकाउंटर में इन 11 में से चार आतंकी मारे जा चुके हैं।

शोपियां के एक गांव में गुरुवार को हुए एनकाउंटर में जो आतंकी मारे गए उनकी पहचान निसार अहमद पंडित और वसीम मल्ला के तौर पर हुई है। दोनों कश्मीर के रहने वाले हैं। निसार अहमद पंडित पुलवामा का रहने वाला हैं और पहले जम्मू-कश्मीर पुलिस का एसपीओ (स्पेशल पुलिस ऑफिसर) था और एक मंत्री की सुरक्षा में तैनात था। 2015 के मार्च महीने में वो पुलिस की 02 एके-47 लेकर फरार हो गया था। इसके बाद हिजबुल मुजाहिदीन से जुड़ गया था। वसीम शोपियां का रहने वाला है और कई आतंकी वारदातों में शामिल रहा है। उसने 2015 में तीन निहत्थे पुलिसवालों की हत्या कर दी थी।

सेना ने सीआरपीएफ और जम्मू कश्मीर पुलिस के साथ मिलकर दोनों आतंकियों को शोपियां के एक गांव में ढेर कर दिया। पुलिस ने दोनों के कब्जे से 02 एके-47 बरामद की हैं। इन दोनों के अलावा फेसबुक फोटो में दिख रहे दो और आतंकियों को सुरक्षाबलों ने हाल ही में मार गिराया है। इन दोनों की पहचान अफाक भट्ट और आदिल खांडे के रूप में हुई है।

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


यही वजह है कि अब इस (फेसबुक) फोटो के अलावा एक और फोटो वायरल हो रही है जिसपर लिखा गया है कि ‘बुरहान का साथ-मौत का आगाज: अगला कौन'। हालांकि इस फोटो में 06 आतंकियों पर क्रास लगा हुआ है लेकिन सेना के मुताबिक इनमें से अभी तक 4 ही मारे गए हैं। सेना का कहना है कि आतंकवाद को महिमामंडित करने वाले इन आतंकियों को किसी भी किमत पर नहीं बख्शा जाएगा। इनके पूरे ग्रुप के खिलाफ कारवाई जारी रहेगी और जल्द ही बचे हुए आतंकियों को मार गिराया जाएगा।