कांग्रेस सांसद शशि थरूर बोले, भगवा रंग तो गौरव का प्रतीक है

कांग्रेस के लोकसभा सांसद शशि थरूर ने शनिवार को कहा कि भारतीय क्रिकेट टीम ने अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद (आईसीसी) के नियमों के आलोक में विश्व कप के एक मैच के लिए केसरिया रंग चुना. 

कांग्रेस सांसद शशि थरूर बोले, भगवा रंग तो गौरव का प्रतीक है

शशि थरूर ने कहा कि यह (केसरिया) गौरवाशाली भारतीय रंग है.

नई दिल्ली :

कांग्रेस के लोकसभा सांसद शशि थरूर ने शनिवार को कहा कि भारतीय क्रिकेट टीम ने अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद (आईसीसी) के नियमों के आलोक में विश्व कप के एक मैच के लिए केसरिया रंग चुना. इसके साथ ही उन्होंने कहा कि यह (केसरिया) गौरवाशाली भारतीय रंग है. थरूर ने कहा कि आईसीसी के एक नए नियम में कहा गया है कि जब दो टीमों की जर्सी एक ही रंग की होती है, तो मेजबान देश की टीम को अपने ड्रेस का रंग बदलने की जरूरत नहीं है. उन्होंने कहा कि हालांकि दूसरी टीम को अपनी ड्रेस बदलनी होती है, लिहाजा भारत ने अपनी लिये केसरिया और नीले रंग की ड्रेस चुनी. उन्होंने कहा, 'इसलिए मैंने थोड़ा नीली रुमाली जेब के साथ केसरिया जैकेट पहनी थी, जो कि इंग्लैंड के खिलाफ मैच में भारतीय टीम के समर्थन में पहनी गई थी.'  


महबूबा मुफ्ती ने बताया क्यों हारी टीम इंडिया तो उमर अबदुल्ला ने जताई आशंका

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


दरअसल, इंग्लैंड के खिलाफ मैच के दौरान भारतीय टीम ने नीले और नारंगी रंग की ड्रेस पहनी थी, जिसकी काफी आलोचना हुई थी. कई राजनीतिक दलों ने टीम के भगवाकरण का आरोप लगाया था. भारत और इंग्लैंड दोनों ही टीमों की ड्रेस का रंग नीला होने के कारण भारतीय टीम को ड्रेस का रंग बदलना पड़ा था. हालांकि इस मैच में भारत की हार के बाद जम्मू-कश्मीर की पूर्व मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती ने इसके लिए टीम इंडिया की नई जर्सी को दोष दे डाला था. उन्होंने ट्विटर पर कहा कि उन्हें अंधविश्वासी कहो, लेकिन वह मानती हैं कि जर्सी की वजह से भारत का विजय रथ रुक गया है. इसके पहले भी उन्होंने ट्वीट किया कि पाकिस्तान क्रिकेट फैन भारत की जीत की चाह रहे हैं..चलो कम से कम क्रिकेट के ही बहाने, कुछ समय के लिए दोनों देश एक साथ हैं. (इनपुट-भाषा से भी)