यह ख़बर 10 जून, 2012 को प्रकाशित हुई थी

राजकोट : संजय जोशी के समर्थन में फिर लगाए गए पोस्टर

खास बातें

  • राजकोट में बीजेपी की प्रदेश कार्यकारिणी की दो दिवसीय बैठक के पहले दिन ही रात को कई जगहों पर संजय जोशी के समर्थन में पोस्टर लगाए गए। बैठक के दौरान नरेंद्र मोदी भी राजकोट में ही रुके हुए हैं।
राजकोट / कोलकाता / गुड़गांव:

गुजरात के राजकोट में बीजेपी की प्रदेश कार्यकारिणी की दो दिवसीय बैठक के पहले दिन ही रात को शहर की कई जगहों पर संजय जोशी के समर्थन में पोस्टर लगाए गए हैं।

दिलचस्प बात यह है कि दो दिन की इस बैठक के दौरान मुख्यमंत्री नरेंद्र मोदी भी राजकोट में ही रुके हुए हैं। मोदी के होने के बावजूद संजय जोशी के समर्थन वाले पोस्टर लग जाने से बीजेपी में हड़कंप मच गया है।

एक तरफ तो बैठक चल रही है और दूसरी ओर रात को पार्टी के कार्यकर्ता इन पोस्टरों को निकालने में लगे हैं। इससे पहले दिल्ली और अहमदाबाद में भी इसी तरह के पोस्टर लगाए गए थे। आज राजकोट में कार्यकारिणी की बैठक के दूसरे दिन पोस्टर के इस मुद्दे की उठने की उम्मीद है।

उधर, विश्व हिन्दू परिषद (विहिप) ने जहां खुले तौर पर संजय जोशी की बीजेपी में वापसी की मांग की, वहीं बीजेपी के पूर्व अध्यक्ष व वरिष्ठ नेता राजनाथ सिंह ने संकेतों में उन्हें पार्टी में वापस लाए जाने की वकालत की।

विहिप के अंतरराष्ट्रीय कार्याध्यक्ष प्रवीण तोगड़िया ने शनिवार को कोलकाता में कहा कि बीजेपी को चाहिए कि संजय जोशी को पार्टी में वापस लेने की कोशिश करे। तोगड़िया ने संवाददाताओं से कहा, यह दुर्भाग्यपूर्ण है कि उनके जैसे एक समर्पित नेता ने पार्टी छोड़ी है। बीजेपी के लिए यह एक बड़ा नुकसान है। तोगड़िया ने आगे कहा, उनके जैसा दृढ़ एवं समर्पित नेता ढूंढ पाना कठिन है। मैं समझता हूं कि पार्टी को उन्हें वापस लाने के प्रयास करने चाहिए।

वहीं, राजनाथ सिंह ने गुड़गांव में कहा कि पार्टी ने यदि सत्ता की लालच में सिद्धांतों से समझौता किया, तो उसे इसका खामियाजा भुगतना पड़ेगा। राजनाथ ने कहा, हमारी राजनीति सिद्धांतों पर आधारित होनी चाहिए। किसी भी कीमत पर सत्ता पा लेना गैर सैद्धांतिक राजनीति है।

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


(कुछ अंश एजेंसी से भी)