राहुल गांधी ने कृषि कानूनों पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को घेरते हुए याद दिलाए पुराने वादे

दिल्ली की सीमाओं पर राज्यों के किसान पिछले एक महीने से अधिक समय से प्रदर्शन कर रहे हैं. वे केंद्र सरकार से तीन नए कृषि कानूनों को वापस लेने और न्यूनतम समर्थन मूल्य (एमएसपी) की गारंटी देने की मांग कर रहे हैं.

राहुल गांधी ने कृषि कानूनों पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को घेरते हुए याद दिलाए पुराने वादे

राहुल गांधी ने कहा, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर देश के किसान यकीन नहीं करते

नई दिल्ली:

कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने कृषि कानूनों को लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर निशाना साधा है. राहुल ने बुधवार को कहा कि ‘असत्याग्रह' के लंबे इतिहास के कारण उन पर किसान विश्वास नहीं करते. उन्होंने ट्विटर पर एक ऑनलाइन सर्वेक्षण के लिए एक सवाल भी पोस्ट किया. इसमें चार विकल्प भी सुझाए गए हैं. राहुल गांधी ने कहा, ‘प्रधानमंत्री कृषि कानूनों को निरस्त करने से इनकार कर रहे क्योंकि 1. वह किसान विरोधी हैं 2. उनको पूंजीपति चलाते हैं 3. अहंकारी हैं या फिर इनमें सभी (विकल्प) सही हैं.'


कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष ने आरोप लगाया कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर देश के किसान यकीन नहीं करते. उन्होंने प्रधानमंत्री के पहले के बयानों का उल्लेख किया. राहुल गांधी ने ट्वीट किया, ‘हर बैंक खाते में 15 लाख रुपये और हर साल दो करोड़ नौकरियां. 50 दिन दीजिए, नहीं तो.... हम कोरोना वायरस के खिलाफ 21 दिनों में युद्ध जीतेंगे. न तो कोई हमारी सीमा में आया है और न किसी चौकी पर कब्जा किया है.'

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


गौरतलब है कि दिल्ली की सीमाओं पर राज्यों के किसान पिछले एक महीने से अधिक समय से प्रदर्शन कर रहे हैं. वे केंद्र सरकार से तीन नए कृषि कानूनों को वापस लेने और न्यूनतम समर्थन मूल्य (एमएसपी) की गारंटी देने की मांग कर रहे हैं. गतिरोध को समाप्त करने के लिये केंद्र और किसान संगठनों के बीच बुधवार को छठे दौर की वार्ता चल रही है. इससे पहले की पांच दौर की वार्ता में गतिरोध खत्म करने में सफलता नहीं मिल पाई थी. केंद्र सरकार जहां इन नए कृषि कानूनों को बड़े सुधार के तौर पर पेश कर रही है, वहीं किसानों को आशंका है कि इससे मंडी और एमएसपी की व्यवस्था समाप्त हो जाएगी.