अमेरिकी उपराष्ट्रपति कमला हैरिस की टिप्पणी को लेकर राहुल गांधी ने प्रधानमंत्री मोदी पर साधा निशाना

प्रधानमंत्री मोदी अमेरिका के दौरे पर हैं और उन्होंने शुक्रवार को हैरिस के साथ चर्चा की थी और राष्ट्रपति जो बाइडन से भी मुलाकात की थी.

अमेरिकी उपराष्ट्रपति कमला हैरिस की टिप्पणी को लेकर राहुल गांधी ने प्रधानमंत्री मोदी पर साधा निशाना

नई दिल्ली:

कांग्रेस नेता राहुल गांधी (Rahul Gandhi) ने शनिवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर कटाक्ष करते हुए पूछा कि क्या वह लोकतंत्र और संस्थानों की रक्षा के बारे में अमेरिकी उपराष्ट्रपति कमला हैरिस द्वारा की गई टिप्पणी को समझते हैं. उन्होंने कमला हैरिस की टिप्पणी साझा करते हुए एक इंस्टाग्राम पोस्ट में पूछा, “क्या उन्हें समझ आया.” हैरिस ने प्रधानमंत्री मोदी के साथ मीडिया को संयुक्त रूप से संबोधित करते हुए कहा, “यह जरूरी है कि हम अपने-अपने देशों और दुनिया भर में लोकतांत्रिक सिद्धांतों और संस्थानों की रक्षा करें और अपने-अपने देश में लोकतंत्र को मजबूत करने के लिए निश्चित ही प्रयास करें. जाहिर तौर पर लोकतंत्र की रक्षा करना हमारे देशों के नागरिकों के सर्वोत्तम हित में है.”

अमेरिका से हजारों साल पुरानी 157 अमूल्य भारतीय कलाकृतियां लाएंगे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी

प्रधानमंत्री मोदी अमेरिका के दौरे पर हैं और उन्होंने शुक्रवार को हैरिस के साथ चर्चा की थी और राष्ट्रपति जो बाइडन से भी मुलाकात की थी. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी संयुक्त राष्ट्र महासभा (UNGA) के 76वें सत्र को संबोधित कर रहे हैं. अपने संबोधन के दौरान पीएम मोदी ने कहा कि पिछले डेढ़ वर्ष से पूरा विश्व,100 साल में आई सबसे बड़ी महामारी का सामना कर रहा है. ऐसी भयंकर महामारी में जीवन गंवाने वाले सभी लोगों को मैं श्रद्धांजलि देता हूं और परिवारों के साथ अपनी संवेदनाएं व्यक्त करता हूं. 


UN में बोले PM मोदी : हमारी विविधता, हमारे सशक्त लोकतंत्र की पहचान

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


पीएम मोदी ने कहा कि मैं उस देश का प्रतिनिधित्व कर रहा हूं जिसे mother of democracy का गौरव हासिल है. लोकतंत्र की हमारी हजारों वर्षों की महान परंपरा ने इस 15 अगस्त को भारत ने अपनी आजादी के 75वें वर्ष में प्रवेश में प्रवेश किया. हमारी विविधता, हमारे सशक्त लोकतंत्र की पहचान है. एक ऐसा देश जिसमें दर्जनों भाषाएं हैं, सैकड़ों बोलियां हैं, अलग-अलग रहन-सहन, खानपान हैं. ये Vibrant Democracy का बेहतरीन उदाहरण है.



(इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)