डिटेंशन सेंटर पर PM मोदी के दावे को लेकर राहुल गांधी का निशाना- RSS के प्रधानमंत्री भारत माता से झूठ बोलते हैं

देश में 'हिरासत केंद्र' नहीं होने से जुड़े प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के कथित बयान को लेकर कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने गुरुवार को उन पर निशाना साधते हुए आरोप लगाया कि 'आरएसएस के प्रधानमंत्री' भारत माता से झूठ बोलते हैं.

डिटेंशन सेंटर पर PM मोदी के दावे को लेकर राहुल गांधी का निशाना- RSS के प्रधानमंत्री भारत माता से झूठ बोलते हैं

कांग्रेस नेता राहुल गांधी (फाइल फोटो)

खास बातें

  • PM मोदी के दावे को लेकर राहुल गांधी का निशाना
  • 'RSS के प्रधानमंत्री भारत माता से झूठ बोलते हैं'
  • डिटेंशन सेंटर को लेकर राहुल ने कसा तंज
नई दिल्ली:

देश में 'हिरासत केंद्र' नहीं होने से जुड़े प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के कथित बयान को लेकर कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने गुरुवार को उन पर निशाना साधते हुए आरोप लगाया कि 'आरएसएस के प्रधानमंत्री' भारत माता से झूठ बोलते हैं. असम में डिटेंशन सेंटर से जुड़ी एक खबर शेयर करते हुए गांधी ने ट्वीट किया, 'आरएसएस के प्रधानमंत्री भारत माता से झूठ बोलते हैं.' दरअसल, पिछले दिनों प्रधानमंत्री मोदी ने दिल्ली के रामलीला मैदान में एक रैली में कहा था कि देश में ‘हिरासत केंद्र' को लेकर फैलाई जा रही अफवाहें सरासर झूठ हैं. कांग्रेस नेता ने जो खबर शेयर की है उसके मुताबिक असम में हिरासत केंद्र मौजूद है.

दिल्ली यूनिवर्सिटी ने एडमिशन को स्टूडेंट फ्रेंडली बनाने के लिए मांगे सुझाव

बता दें, उस रैली को संबोधित करते हुए प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने रविवार को विपक्ष पर ‘बांटो और राज करो' के आधार पर लोगों के बीच डर फैलाने और संशोधित नागरिकता कानून (सीएए) को लेकर हिंसा को बढ़ावा देने का आरोप लगाया. उन्होंने व्यापक प्रदर्शन के बीच इस विषय से जुड़ी चिंताओं को दूर करने की कोशिश करते हुए कहा कि इस कानून का और ‘एनआरसी' का भारतीय मुसलमानों से कोई लेना देना नहीं है. इस संशोधित नागरिकता कानून का पुरजोर बचाव करते हुए प्रधानमंत्री ने एक विशाल रैली को संबोधित करते हुए कहा कि यह कानून पड़ोसी देशों (पाकिस्तान, अफगानिस्तान और बांग्लादेश) में धार्मिक आधार पर प्रताड़ित हुए अल्पसंख्यकों को सुरक्षा देने के लिए है तथा यह किसी व्यक्ति के अधिकारों को नहीं छीनेगा। उन्होंने लोगों से शांति की अपील भी की.

14 महीने की बच्ची के माता-पिता जेल में, CAA के खिलाफ प्रदर्शन के दौरान हुए थे गिरफ्तार

प्रधानमंत्री ने कांग्रेस और उसके सहयोगियों तथा ‘अर्बन नक्सलियों' पर आरोप लगाया था कि वे अफवाह फैला रहे हैं कि मुस्लिमों को ‘डिटेंशन सेंटर' में भेज दिया जाएगा. उन्होंने कहा कि इस कानून का भारतीय नागरिकों से कोई लेना देना नहीं है और इसे पारित करने के लिए लोगों से संसद और सांसदों का आभार जताने को कहा. उन्होंने स्पष्ट किया कि इस विवादास्पद मुद्दे (एनआरसी) पर न तो उनकी सरकार ने, ना ही कैबिनेट या संसद ने चर्चा की है और इस बात का जिक्र किया कि यह शीर्ष न्यायालय के आदेश के बाद अब तक सिर्फ असम में कराया गया है. प्रधानमंत्री ने कहा कि एनआरसी के बारे में झूठ फैलाया जा रहा है.


पीएम नरेंद्र मोदी ने चश्मा लगाकर देखा Surya Grahan, बोले- 'सूरज बादल में छिप गया था...'

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


उन्होंने प्रदर्शनों का जिक्र करते हुए कहा कि उन्हें प्रदर्शनकारियों के हाथों में पत्थर देख कर दुख हुआ, लेकिन उनमें से कुछ के हाथों में तिरंगा देख कर उन्हें राहत भी मिली. पीएम मोदी ने चुनावी राज्य दिल्ली में अनधिकृत कॉलोनियों के बाशिंदों को मालिकाना हक देने के केंद्र के फैसले के लिए इस धन्यवाद रैली का इस्तेमाल सीएए को लेकर हो रही आलोचना का उत्तर देने के लिए भी किया. उन्होंने प्रदर्शन के दौरान हिंसक घटनाओं की निंदा की और पुलिस की सराहना की तथा अल्पसंख्यकों के खिलाफ भेदभाव को लेकर पाकिस्तान की आलोचना की.