राहुल गांधी ने पीएम मोदी से पूछा, 'हमारे जवानों को बिना हथियारों के किसने भेजा?'

राहुल गांधी ने ट्विटर पर जारी किए गए अपने वीडियो के जरिए प्रधानमंत्री मोदी से दो सवाल किए.

राहुल गांधी ने पीएम मोदी से पूछा, 'हमारे जवानों को बिना हथियारों के किसने भेजा?'

पूर्वी लद्दाख की गालवान घाटी में भारतीय और चीनी सैनिकों के बीच हुई झड़प के बाद से राहुल गांधी लगातार सरकार से सवाल पूछ रहे हैं.

नई दिल्ली:

कांग्रेस पार्टी के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने आज एक बार फिर चीन के मुद्दे पर केंद्र सरकार पर निशाना साधा. राहुल गांधी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से पूछा कि हमारे जवानों को बिना हथियार के किसने भेजा और क्यों भेजा? राहुल गांधी ने ट्विटर पर जारी किए गए अपने वीडियो के जरिए प्रधानमंत्री मोदी से दो सवाल किए. पहले सवाल में राहुल गांधी ने प्रधानमंत्री से ये स्पष्ट करने को लिए कहा कि चीन ने भारत की जमीन पर कब्जा किया है या नहीं. राहुल गांधी ने सैटालाइट तस्वीरों और सेना के कुछ पूर्व अधिकारों के बयानों का हवाला देत हुए कहा कि चीन ने भारत की जमीन पर कब्जा कर लिया है. राहुल गांधी ने अपने संदेश में प्रधानमंत्री से कहा कि वह घबराए नहीं बिना डर के देश को सच बता दें पूरा देश आपके साथ है हम सब मिलकर चीन को बाहर खदेड़ देंगे. 

ट्विटर के जरिए जारी किए गए अपने वीडियो संदेश में राहुल गांधी ने लिखा, 'प्रधानमंत्री जी देश आपसे जानना चाहता है......हिदुस्तान के वीर सपूतों को मेरा नमन, पूरे देश मिलकर एक साथ, एक होकर सेना के साथ और सरकार के साथ खड़ा है.  मगर एक बहुत जरूरी सवाल उठा है. कुछ दिन पहले हमारे पीएम ने कहा था कि हिंदुस्तान की एक इंच जमीन किसी ने नहीं ली है. कोई हिंदुस्तान के अंदर नहीं आया है. मगर सुनने को मिल रहा है, लोग कह रहे हैं, सैटालाइट फोटो में दिखाई दे रहा है, लद्दाख की जनता कह रही है, आर्मी रिटार्यड जनरल कह रहे है, चाइना ने हमारी जमीन छीनी है, एक जगह नहीं बल्कि तीन जगह. चाइना ने हमारी जमीन छीनी है. प्रधानमंत्री जी आपको सच बोलना ही पड़ेगा.....

.......देश को सच बताना ही पड़ेगा. घबराने की कोई जरूरत नहीं है, अगर आप कहेंगे कि जमीन नहीं गई है और सचमुच में जमीन गई है तो चाइना का फायदा होगा. हमें मिलकर इनसे लड़ना है, इनको उठाकर वापस फेंकना है, निकालना है. तो आपको सच बोलना पड़ेगा बिना डरे, बिना घबराए बोलिए कि हां चाइना ने जमीन ली है और हम कार्रवाई करने जा रहे हैं, पूरा देश आपके साथ खड़ा है......आखिरी सवाल हमारे जो ये शहीद है उनको बिना हथियार किसने भेजा और क्यों भेजा?'

इससे पहले आज कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने भी केंद्र सरकार से सवाल पूछा कि अगर चीन ने हमला नहीं किया है तो हमारे 20 जवानों की जान कैसे गई? बता दें कि 5 जून की रात को पूर्वी लद्दाख में लाइन ऑफ एक्चुअल के पास स्थित गलवान घाटी में भारत और चीन के जवानों में हिंसक झड़प हो गई थी, जिसमें 20 भारतीय जवानों ने अपनी जान गंवा दी थी. इसमें भारतीय सेना के सूत्रों के अनुसार, चीनी सेना के 43 सैनिकों के हताहत होने की खबर आई थी, वहीं एक चीनी कर्नल मारा गया था. इस घटना से दोनों देशों के बीच में तनाव बहुत बढ़ गया है, जिसे दोनों ही देश बातचीत करके सुलझाने में लगे हुए हैं. 


Video:गलवान घाटी की नई सैटेलाइट तस्वीरों में दिखा चीनी सैनिकों का बड़ा जमावड़ा

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com