पीएम मोदी ने ट्वीट कर दी राष्ट्रीय विज्ञान दिवस की शुभकामनाएं, जानें कब और कैसे हुई इसकी शुरुआत

पीएम नरेंद्र मोदी ने वैज्ञानिकों और विज्ञान में रुचि रखने वाले लोगों को ट्वीट कर राष्ट्रीय विज्ञान दिवस (National Science Day) की शुभकामनाएं दीं और साथ ही विज्ञान की शक्ति का लाभ मानव प्रगति के लिए उठाने की प्रतिबद्धता की पुष्टि करने का आह्वान किया.

पीएम मोदी ने ट्वीट कर दी राष्ट्रीय विज्ञान दिवस की शुभकामनाएं, जानें कब और कैसे हुई इसकी शुरुआत

राष्ट्रीय विज्ञान दिवस पीएम ने दी शुभकामनाएं

नई दिल्ली:

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) ने वैज्ञानिकों और विज्ञान में रुचि रखने वाले लोगों को सोमवार को राष्ट्रीय विज्ञान दिवस (National Science Day) की शुभकामनाएं दीं. इस मौके पर पीएम (PM) ने विज्ञान की शक्ति का लाभ मानव प्रगति के लिए उठाने की प्रतिबद्धता की पुष्टि करने का आह्वान किया. यह दिन ‘रमन प्रभाव' की खोज के उपलक्ष्य में मनाया जाता है, जिसके लिए भारतीय भौतिक विज्ञानी सी. वी. रमन (CV Raman) को नोबेल पुरस्कार से नवाजा गया था.

सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म Twitter पर पीएम मोदी (PM Modi) ने ट्वीट करते हुए लिखा, ‘‘ सभी वैज्ञानिकों और विज्ञान में रुचि रखने वाले सभी लोगों को राष्ट्रीय विज्ञान दिवस की शुभकामनाएं. आइए, हम अपनी सामूहिक वैज्ञानिक जिम्मेदारी को पूरा करने और विज्ञान की शक्ति का लाभ मानव प्रगति के लिए उठाने के प्रति अपनी प्रतिबद्धता की पुष्टि करें.'' प्रधानमंत्री ने रविवार को ‘मन की बात' (Man Ki Baat) कार्यक्रम की एक ‘क्लिप' भी साझा की, जिसमें उन्हें राष्ट्रीय विज्ञान दिवस के बारे में बात करते सुना जा सकता है.

पीएम मोदी का ट्वीट-

ये भी पढ़ें: फैंसी और महंगे चाकू के चक्कर में दोस्त ने मारा चाकू, इलाज के दौरान हुई मौत

इसी के साथ पीएम ने सभी परिवारों से अपने बच्चों में वैज्ञानिक सोच विकसित करने के प्रयास करने की अपील की है. आपको बता दें कि भारत (India) के सबसे प्रतिष्ठित वैज्ञानिकों में से एक और नोबेल पुरस्कार विजेता (Nobel Prize Winner) सर चंद्रशेखर वेंकट रमन को सीवी रमन के नाम से ज्यादा जाना जाता है. सीवी रमन का जन्म 7 नवंबर, 1888 को हुआ था और निधन 1970 में हुआ था. इनके पिता चंद्रशेखर अय्यर मैथ्स और फिजिक्स के लेक्चरर थे.

जानें क्यों और कब से मनाया जाता है राष्ट्रीय विज्ञान दिवस

राष्ट्रीय विज्ञान दिवस का मकसद विज्ञान की अहमियत को दर्शाने और इसके उपयोग के बारे में लोगों के बीच जागरूकता पैदा करना है. साल 1986 में राष्ट्रीय विज्ञान और तकनीकी संचार परिषद (NCSTC) ने भारत सरकार से आग्रह किया था कि 28 फरवरी को राष्ट्रीय विज्ञान दिवस के रूप में घोषित किया जाए. जिसके बाद सरकार ने उनके आग्रह को स्वीकार लिया और उस दिन को राष्ट्रीय विज्ञान दिवस घोषित किया.

ये भी देखें: यूक्रेन पर मंडराने लगा परमाणु हमले का खतरा, रूस के राष्ट्रपति पुतिन ने परमाणु डिटरेंस फोर्स को हाई अलर्ट पर रखा

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com