पीएम नरेंद्र मोदी भुज के सुपर स्पेशियलिटी हॉस्पिटल को करेंगे राष्ट्र को समर्पित, सस्ता इलाज मिलेगा

इससे पहले पीएम मोदी ने गुरुवार को दिल्ली स्थित प्रधानमंत्री संग्रहालय का  उद्घाटन किया था. पीएम नरेंद्र मोदी ने कहा है कि यह हम भारतीयों के लिए गर्व की बात है कि हमारे ज्‍यादातर प्रधानमंत्री बेहद साधारण परिवारों से आते हैं.

पीएम नरेंद्र मोदी भुज के सुपर स्पेशियलिटी हॉस्पिटल को करेंगे राष्ट्र को समर्पित, सस्ता इलाज मिलेगा

पीएम मोदी भुज के सुपरस्पेशियलिटी हॉस्पिटल को करेंगे राष्ट्र को समर्पित

नई दिल्ली:

पीएम नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) आज भुज स्थित केके सुपर स्पेशलिटी अस्पताल को वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए देश को समर्पित करेंगे. अस्पताल का निर्माण श्री कची लेवा पटेल समाज ने करवाया है.  प्रधानमंत्री कार्यालय के अनुसार- यह कच्छ का पहला धर्मार्थ 200 बिस्तरों वाला सुपर स्पेशियलिटी अस्पताल है. इस क्षेत्र के लोगों कम फीस में चिकित्सा सुपरस्पेशिलिटी सेवाओं को उपलब्ध करवाएगा.

इससे पहले पीएम मोदी ने गुरुवार को दिल्ली स्थित प्रधानमंत्री संग्रहालय का  उद्घाटन किया था. पीएम नरेंद्र मोदी ने कहा है कि यह हम भारतीयों के लिए गर्व की बात है कि हमारे ज्‍यादातर प्रधानमंत्री बेहद साधारण परिवारों से आते हैं. पीएम मोदी ने यह विचार गुरुवार को अब तक के 14 प्रधानमंत्रियों को समर्पित नवनिर्मित प्रधानमंत्री संग्रहालय (Pradhanmantri Sangrahalaya) का उद्घाटन करने के बाद व्‍यक्‍त किए. पीएम ने अपने संबोधन की शुरुआत संविधान निर्माता बाबा साहब अंबेडकर को श्रद्धासुमन अर्पित करके की जिनकी जयंती आज देश मना रहा है. पीएम ने कहा कि संविधान निर्माता बाबा साहब ने हमारी लोकतांत्रित प्रक्रिया की बुनियाद रखी. उन्‍होंने कहा कि भारत ने आज जो ऊंचाई हासिल की है, उसमें आजाद भारत की हर सरकार ने योगदान दिया है.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


अपने संबोधन में उन्होंने कहा कि भारतवासियों के लिए बहुत गौरव की बात है कि देश के ज्यादातर प्रधानमंत्री बहुत ही साधारण परिवार से रहे हैं. और सुदूर देहात, एकदम गरीब परिवार, किसान परिवार से आकर भी प्रधानमंत्री पद पर पहुंचना भारतीय लोकतंत्र की महान परंपराओं के प्रति विश्वास को दृढ़ करता है.उन्होंने कहा, ‘‘यह देश के युवाओं को भी विश्वास देता है कि भारत की लोकतांत्रिक व्यवस्था में सामान्य परिवार में जन्म लेने वाला व्यक्ति भी शीर्षतम पदों पर पहुंच सकता है.''पीएम ने कहा कि देश आज जिस ऊंचाई पर है वहां तक उसे पहुंचाने में स्वतंत्र भारत के बाद बनी प्रत्येक सरकार का योगदान है. देश के सभी प्रधानमंत्री ने अपने समय की अलग-अलग चुनौतियों को पार करते हुए देश को आगे ले जाने की कोशिश की और सभी के व्यक्तित्व, कृतित्व और नेतृत्व के अलग अलग आयाम रहे हैं.