हर तरफ पानी ही पानी, चेन्‍नई IT कॉरिडोर के पास फंसे लोगों की मदद के लिए बुलाने पड़े ट्रक

अब इन लोगों की मदद के लिए थालामबुर और सेमांचेरी में ट्रक किराए से लिए गए हैं. आईटी प्रोफेशनल बारानी की हाल ही में घुटने की सर्जरी हुई है लेकिन काम के लिए उन्‍हें भी एक ट्रक पर चढ़ना पड़ा. जिस सोसाइटी में वे रहते हैं, वहां लोगों को ट्रक पर चढ़ने के लिए सीढ़ी की व्‍यवस्‍था की गई है.

हर तरफ पानी ही पानी, चेन्‍नई IT कॉरिडोर के पास फंसे लोगों की मदद के लिए बुलाने पड़े ट्रक

चक्रवाती तूफान के कारण बाढ़ के से हालत के बीच ट्रक पर चढ़ते लोग

चेन्‍नई:

चक्रवाती तूफान बावुरी और निवार (Cyclone Buveri and Cyclone Nivar) के कारण पैदा बाढ़ जैसे हालात के चलते चेन्‍नई के आईटी कॉरिडोर (Chennai's IT Corridor)के पास लगभग 5 हजार लोग पिछले सप्‍ताह से फंसे हुए हैं. बेहद कम समय के अंतराल में तमिलनाडु में आए इन तूफानों ने राज्‍य में तबाही के काफी 'निशान' छोड़े हैं. कुछ समुदायों ने अब इन लोगों की मदद के लिए थालामबुर और सेमांचेरी में ट्रक किराए से लिए हैं. आईटी प्रोफेशनल बारानी की हाल ही में घुटने की सर्जरी हुई है लेकिन काम के लिए उन्‍हें भी एक ट्रक पर चढ़ना पड़ा. जिस सोसाइटी में वे रहते हैं, वहां लोगों को ट्रक पर चढ़ने के लिए सीढ़ी की व्‍यवस्‍था की गई है.

चक्रवाती तूफान निवार: चेन्नई से सटे इलाके के लिए फिर एक बुरा सपना, सीएम पलानीस्वामी ने दिया दखल

बारानी ने NDTV को बताया, 'मुझे डरा हुआ हूं कि कहीं मुझे दूसरी सर्जरी से न गुजरना पड़े. यह बेहद मुश्किलभरा है, केवल काम के लिए नहीं, किराना खरीदने के लिए भी ऐसा ही करना पड़ता है. अभी भी घुटनों तक गहरा पानी है, कहीं-कहीं तो यह कमर तक है.' ट्रक की छत से यह पूरा एरिया बड़े समुद्र जैसा नजर आता है और यहां वाहन लहरों के बीच अपने लिए रास्‍ता बना रहे हैं.

 पिछले दो सप्‍ताह में आए दो चक्रवाती तूफानों के कारण हुई भारी बारिश ने शहर को तरबतर कर दिया है. हर तरफ पानी ही पानी है. बाढ़ के कारण घर जलमग्‍न हो गए और कारें-दोपहिया वाहन बह गए. नालियों से जल की निकासी नहीं होने के कारण समस्‍या और बढ़ गई है. करीब पांच हजार लोग इससे प्रभावित हुए हैं. एक अन्‍य आईटी प्रोफेशनल प्रभाकरन इस बात से खासे खफा है कि जलसैलाब लगभग हर साल समस्‍या बनता जा रहा है, उनका क्षेत्र, चेंगलपट्टू जिले में आता है. उन्‍हांने कहा, 'हम टैक्‍स के रूप में काफी राशि देते हैं, हर किसी के पास आधार कार्ड, वोटर आईटी है. हम रहवासी के तौर पर केवल आधारभूत सुविधाएं चाहते है. यकीन करना मुश्किल हैं कि यही आईटी कॉरिडोर की वास्‍तविकता है.'

युवा दंपती सदाशिवम को अपने चार माह के बच्‍चे को मेडिकल टेस्‍ट के लिए ले जाना था लेकिन वे नहीं समझ पा रहे कि किस तरह से जाएं. बच्‍चे की मां एस गौरी कहती हैं, 'हम बच्‍चे के साथ ट्रक पर नहीं चढ़ सकते. क्‍या करें समझ नहीं आ रहा. हम पानी निकालने के लिए प्रशासन की मदद चाहते हैं.'


निवार ने मचाया कोहराम, 3 लोगों की मौत

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com