"पाक नए निचले स्तर पर गिरा", अफगान राजदूत की बेटी के अपहरण पर भारत ने कहा

विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता अरिंदम बागची ने इस घटना में भारत का नाम घसीटे जाने पर पाकिस्तान के गृह मंत्री शेख राशिद पर भी प्रहार किया.

विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता अरिंदम बागची ने संवाददाता सम्मेलन में कहा, ‘‘यह अत्यंत चौंकाने वाली घटना है.’’ (प्रतीकात्मक तस्वीर)

नई दिल्ली:

भारत ने इस्लामाबाद में अफगानिस्तान के राजदूत की बेटी के अपहरण को बृहस्पतिवार को ‘‘अत्यंत चौंकाने वाली'' घटना करार दिया और कहा कि पीड़िता के बयानों से पाकिस्तान का इनकार करना ‘‘बहुत ही शर्मनाक'' है.  विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता अरिंदम बागची ने इस घटना में भारत का नाम घसीटे जाने पर पाकिस्तान के गृह मंत्री शेख राशिद पर भी प्रहार किया. उल्लेखनीय है कि बीते शुक्रवार को अज्ञात लोगों ने इस्लामाबाद में अफगान राजदूत नजीबुल्ला अलीखिल की 26 वर्षीय बेटी सिलसिला अलीखिल का अपहरण कर लिया था और कई घंटों तक उसे बंधक बनाकर रखा था. यह रेखांकित करते हुए कि यह पाकिस्तान और अफगानिस्तान से जुड़ा मामला है, विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता अरिंदम बागची ने संवाददाता सम्मेलन में कहा, ‘‘यह अत्यंत चौंकाने वाली घटना है.''

तालिबान का दावा- अफगानिस्तान के 85 प्रतिशत हिस्से पर हमारा कब्जा

उन्होंने कहा, ‘‘चूंकि पाकिस्तान के गृह मंत्री ने इसमें भारत का नाम लिया है, इसलिए मैं केवल यह कहना चाहूंगा कि उनके मापदंडों के हिसाब से भी, पीड़िता के बयानों से पाकिस्तान का इनकार करना बहुत ही शर्मनाक है.'' बागची घटना के संबंध में एक सवाल का जवाब दे रहे थे. उन्होंने कहा, ‘‘जहां तक पाकिस्तान में भारतीय उच्चायोग और हमारे कर्मियों की सुरक्षा का सवाल है, मैं विशिष्ट सुरक्षा संबंधी उपायों में नहीं जाना चाहूंगा.'' वहीं, पाकिस्तान ने अफगानिस्तान के राजदूत की बेटी के इस्लामाबाद में अपहरण को लेकर भारत द्वारा की गई टिप्पणी को खारिज कर दिया है.

पाकिस्तानी विदेश कार्यालय ने एक बयान में कहा, ‘‘पाकिस्तान, भारत की अवांछित टिप्पणी की निंदा करता है. इस विषय पर भारत का कोई अधिकार नहीं बनता है. '' विदेश कार्यालय ने पाकिस्तान के खिलाफ दुष्प्रचार करने से भारत को दूर रहने को कहा. पाकिस्तान के गृह मंत्री शेख रशीद ने मंगलवार को पुलिस के इस दावे को दोहराया था कि अलीखिल का अपहरण नहीं हुआ था. शेख ने अलीखिल से आग्रह किया कि जांच में शामिल हों. अहमद ने इस घटना को भारत की खुफिया एजेंसी से जोड़ने का भी प्रयास किया. घटना के दो दिन बाद, अफगानिस्तान सरकार ने अपने कर्मियों की सुरक्षा चिंताओं के चलते इस्लामाबाद से अपने राजदूत और वरिष्ठ राजनयिकों को वापस बुला लिया था. 


अफगानिस्तान ने पाकिस्तान में राजदूत की बेटी के अपहरण के बाद राजदूत को वापस बुलाया

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


अफगानिस्तान के विदेश मंत्रालय ने बुधवार को इस पर गहरी चिंता जताते हुए घटना के बारे में पाकिस्तान के गृह मंत्री के बयान को ‘‘गैर पेशेवर टिप्पणी'' करार दिया था. इसने कहा, ‘‘विदेश मंत्रालय इस्लामाबाद में हमारे राजदूत की बेटी के अपहरण के सिलसिले में पाकिस्तान के गृह मंत्री द्वारा दिए गए गैरे पेशेवर बयानों पर एक बार फिर गहरी चिंता व्यक्त करता है.''



(इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)